Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

तेंदूखेड़ा की सेलवाड़ा बीट में शिकारियों का दुस्साहस.. प्लांटेशन के तार में करंट फैलाकर भालू को मौत के घाट उतारा.. रीछ के चारों पैर के पंजों को काटकर ले जाने वाले अपराधियों का.. डॉग स्काट भी नही लगा पाया सुराग..

 तेंदूखेड़ा की सेलवाड़ा बीट में शिकारियों का दुस्साहस.. 

दमोह। जिला मुख्यालय से करीब 60 किमी दूर तेंदूखेड़ा की सेलवाड़ा बीट में शिकारियों के दुस्साहस की घटना सामने आई है। यहाँ के सिलपुरा मार्ग पर वन विभाग के चार साल पुराने प्लांटेशन के तार में फंसकर गिरे एक भालू का शव पड़े होने की जानकारी सोमवार शाम सामने आई थी। जिसके बाद मंगलवार को वन विभाग के अधिकारियों की टीम ने मौके पर पहुच कर जांच की।

जांच के दौरान प्रथम दृष्टया मामला प्लांटेशन के तार में करंट फैलाकर पहले भालू को मौत के घाट उतारने और फिर उसके चारों पंजों को काट कर शिकारी ले गए। उल्लेखनीय है कि भालू के खुर यानि नाखून काफी कीमती माने जाते हैं।  तथा इसी चक्कर में उसका करंट लगाकर शिकार की आने की संभावना जताई जा रही है।

आज घटनास्थल पर पहुंचने वालो में  उप वन मंडल अधिकारी अमित चैहान रेंजर सतीश पाराशर के अलावा वन विभाग की टीम तथा सागर से आया डॉग स्कॉट शामिल रहा। घटनास्थल के निरीक्षण के बाद डॉग स्काट काफी दूर-दूर तक चारों तरफ गया उसके बाद भी वह शिकारियों का कोई सुराग नहीं लगा सका। पूरे मामले को लेकर हालांकि वन विभाग के अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं तथा फिलहाल जांच की बात कर रहे हैं

 लेकिन ग्रामीणों तथा स्थानीय निवासियों की माने तो मामला तारों में करंट फैलाकर शिकार का ही है क्योंकि क्षेत्र की विद्युत लाइन से भी छेड़छाड़ के सबूत सामने आए हैं। देखना होगा इस गंभीर शिकार मामले के सामने आने के बाद वन विभाग के अधिकारी गंभीरता दिखाते हुए जांच को आगे बढ़ा कर शिकारियों पर शिकंजा कस पाते है अथवा नहीं। विशाल रजक की रिपोर्ट

Post a Comment

0 Comments