Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

घर से खेलने निकले तीन मासूम बच्चों का देर रात तक नहीं लगा कोई सुराग.. आसपास नजर आने पर 9630106639 नंबर या पुलिस को सूचना देने की अपील.. इधर महिला सहकर्मियों से व्हाट्सएप पर अश्लील सेट करने वाला बीसीएम प्रभारी सस्पेंड..

 तीन मासूम बच्चों का देर रात तक नहीं लगा कोई सुराग..

दमोह। नगर के जबलपुर नाका क्षेत्र निवासी हरि मिश्रा के बेटे हर्ष मिश्रा के साथ उसके मित्र अनुज भट्ट एवं नारायण मिश्रा के शनिवार शाम से अचानक लापता हो जाने की खबर सोशल मीडिया पर फोटो सहित वायरल होते ही हड़कंप के हालात बने हुए है। 12/13 साल उम्र के यह तीनों बच्चे आपस में दोस्त होने के साथ घर से खेलने के लिए निकले थे लेकिन इनकी वापस नहीं आने पर जबलपुर नाका चौकी में गुमशुदगी की सूचना दर्ज कराई गई है।

लोगों ने इस जानकारी को तत्काल सोशल मीडिया पर बच्चों की फोटो के साथ शेयर करने में देर नहीं की लेकिन देर रात तक तीनों मासूम बच्चों का कोई सुराग नहीं लग सका था वही इस दौरान यह आशंका भी जताई जा रही है कि यह बच्चे पुराना आईफोन लेने दिल्ली के कबाड़ी बाजार जाने के लिए ट्रेन से तो नहीं निकल गए। बच्चों के बारे में कोई भी जानकारी सूचना मिलने पर दमोह के पुलिस कंट्रोल रूम पुलिस कोतवाली या एडवोकेट महेश मिश्रा या हरि मिश्रा के मोबाइल नंबर 9630106639 पर सूचना देने की अपील की गई है।

 सहकर्मी महिलाओं से अश्लील चैट करने वाले बीसीएम प्रभारी को सीएमएचओ ने तत्काल प्रभाव से सस्पेंड किया..
दमोह। हटा क्षेत्र में पदस्थ एक एमपीडब्ल्यू तथा वीसीएम प्रभारी द्वारा  महिला सहकर्मियों के साथ व्हाट्सएप पर अश्लील चैट किये जाने का मामला सामने आने के बाद वह कर्मचारी को त्वरित प्रभाव से सस्पेंड कर दिए जाने की जानकारी सामने आई है। तदसन्दर्भ में दमोह की मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी दमोह द्वारा जारी आदेश दिनांक 28 जनवरी 2021 में विकास खंड हटा अंतर्गत व्हाट्सएप एच बी एच एस एन डी ग्रुप हटा में कार्यस्थल दौरान यौन उत्पीड़न संबंधी शिकायत संज्ञान में आने पर प्रथम दृष्टया ज्ञात हुआ कि ग्रुप पर अश्लील टिप्पणी मोबाइल नंबर 900 9692099 के द्वारा की गई।
 ट्रूकॉलर एप के द्वारा उपयोगकर्ता की पुष्टि सत्य प्रकाश अहिरवार एमपीडब्ल्यू एवं बीसीएम प्रभारी हटा के नाम से होना संज्ञान में आया है। लैंगिक उत्पीड़न अधिनियम 2013 के परिपेक्ष में त्वरित प्रभाव से महिला की गरिमा एवं निजता को ध्यान में रखते हुए कड़ी अनुशासनात्मक कार्यवाही के तहत श्री सत्य प्रकाश अहिरवार को निलंबित कर दिया गया है।

Post a Comment

0 Comments