Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

नए कृषि कानूनों के विरोध में बंद का नहीं दिखा कोई खास असर.. बंद कराने की कोशिश दिन चढ़ने के साथ कमजोर पड़ती गई.. कांग्रेस नेताओं ने राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौपा.. आम आदमी पार्टी ने पैदल मार्च कर विरोध जताया..

 कृषि कानूनों के विरोध में बंद का नहीं रहा कोई खास असर

दमोह। कृषि कानूनों के विरोध में देशव्यापी बंद का मध्य प्रदेश के अन्य शहरों की तरह दमोह जिले में कोई खास असर देखने को नहीं मिला इसकी एक वजह भारतीय किसान संघ द्वारा बंद से खुद को दूर रखना तथा कांग्रेस का बंद के समर्थन में सामने आना कहा जा सकता है। बंद के बाद कांग्रेस नेता ओं ने राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपते हुए सभी छोटे-बड़े व्यापारियों का आभार प्रकट किया वहीं आम आदमी पार्टी ने पैदल मार्च कर विरोध किया..

नए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली के चारों तरफ आंदोलनरत किसानों के समर्थन में आयोजित भारत बंद के तहत दमोह जिला मुख्यालय पर सुबह से दुकानों के खुलने के पहले ही कांग्रेस के अनेक नेता सक्रिय हो गए थे तथा उनके द्वारा नगर के प्रमुख मार्गो और बाजार क्षेत्रों में दुकानें बंद रखने की अपील की जा रही थी लेकिन जैसे-जैसे सूरज चढ़ रहा था वैसे वैसे दुकानों के साथ बाजारों के खुलने का सिलसिला भी बढ़ता जा रहा था वहीं पुलिस की जगह-जगह मौजूदगी जबरजस्ती नाकाम कर रही थी। वही बाजार क्षेत्र में अधिकांश दुकानदारों का भाजपा समर्थक व्यापारी संगठनों से जुड़े होने की वजह से भी कांग्रेस के बंद को वैसा जन समर्थन नहीं मिल सका जिसकी उनको उम्मीद थी। 

इस दौरान खास बात यह रही थी बंद कराने वाले नेताओं में दमोह से विधानसभा उपचुनाव के दौरान कांग्रेस टिकट की दावेदारी करने वाले नेताओं और उनके समर्थकों की संख्या ही अधिक नजर आई। मंगलवार बाजार बंद का दिन होने के बावजूद बाजार आम मंगलवार की तुलना में अधिक खुला नजर आया। इसकी एक वजह कहीं ना कहीं शहरी क्षेत्र में कांग्रेस की तुलना में भाजपा का असर ज्यादा होना कहा जा सकता है। इसी तरह के हालात जिले के कस्बाई इलाकों हटा, पथरिया, जबेरा, तेंदूखेड़ा, बटियागढ़, पटेरा आदि में भी देखने को मिले।

कांग्रेस नेताओं ने राष्ट्रपति के नाम सौपा ज्ञापन

कांग्रेस की ओर से बंद के समर्थन में सड़क पर सक्रिय नजर आए नेताओं में जिला कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष रतनचंद जैन, नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष मनु मिश्रा, तेजीराम रोहित सतीष जैन, किसान कांग्रेस के अध्यक्ष नितिन मिश्रा, नपा में नेता प्रतिप़क्ष रहे रासू चैहान, सेवादल अध्यक्ष वीरेंद्र ठाकुर, ललित नायक लालचंद राय सुदामा दुबे पूर्व पार्षद आशीष पटेल, विक्रम ठाकुर, राजा रौतेला, पप्पू कसोटया, रमश राठौर, हेमराज भूपेन्द्र अजमानी, प्रफुल्ल श्रीवास्तव, दिनेश रैकवार, शुभम तिवारी, पवन गुप्ता, राजा राय, अजय जाटव, बसंत कुशवाहा, जीशान पठान, कमला निषाद, गीता लोधी, जया ठाकुर शानू जुनेजा विजय रैकवार आदि प्रमख रहे। बाद में महामहिम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपते हुए सभी छोटे-बड़े व्यापारियों का आभार प्रकट किया गया। 

आम आदमी पार्टी ने पैदल मार्च कर विरोध जताया..

आम आदमी पार्टी द्वारा किसानों के समर्थन में नेहरू पार्क से एक पैदल मार्च निकाला गया जो अंबेडकर प्रतिमा पर माल्र्यापण के बाद घंटाघर पहुंचा। जहां गांधी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और अपना विरोध प्रदर्शन किया। इस अवसर पर आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष सुनील राय,ं संगठन मंत्री चंद्रमोहन गुरू, राहुल श्रीवास्तव, मिर्जा वेग, वीरेन्द्र रैकवार, लोकेश रजक, रवि पटेल, कामता चक्रवर्ती, संदीप चक्रवर्ती, कैलाश पटैल, जगदीेश पटैल, सौरभ खटीक, सलमान पठान, आशिफ, सोनू, मोनू, मीडिया प्रभारी नरेन्द्र अठया के साथ बडी संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं व सदस्यों की उपस्थिति रही। 

Post a comment

0 Comments