Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

जल में रहकर मगरमच्छ से बैर नहीं लेकिन बाहर निकले तो खैर नही.. गुलाबी ठंड में गुनगुनी धूप का आनंद लेते विशालकाय मगरमच्छ की.. पूंछ खींचकर खिलबाड़ की वीडियो वायरल.. वन अमले ने मगर मच्छ को नदी में छोड़ा..

 मगरमच्छ की पूंछ खींचकर खिलबाड़ की वीडियो वायरल

दमोह। :जल में रहकर मगरमच्छ से बैर नहीं" की कहावत तो आपने सुनी होगी लेकिन हम आपको पानी से बाहर निकलने पर "मगरमच्छ की खैर नहीं" रहने के नजारे को दिखाने जा रहे है।  वीडियो यह तस्वीरें तारादेही वन परीक्षेत्र अंतर्गत समनापुर गोपालपुर नर्सरी इलाके की है जहां गोहदर नदी से निकला एक विशालकाय मगरमच्छ खुलेेे मैदान में "अजगर सांप की तरह" पड़ा गुनगुनी धूप का आनंद ले रहा था..

 मगरमच्छ के मैदान में पड़े होने की खबर "जंगल की आग" की तरह आसपास के ग्रामीण इलाकों में फैलते देर नहीं लगी और देखते ही देखते सैकड़ों की संख्या में बच्चों ग्रामीणों सहित तमाशाईयों की भीड़ यहां एकत्रित हो गई। मगरमच्छ को शांत पड़ा देखकर बच्चों के साथ ग्रामीणों ने उससे पूछ तरफ से पकड़कर खींचते हुए परेशान करना शुरू कर दिया। मगरमच्छ के साथ इस तरह की खिलवाड़ का यह दौर देर तक चलता रहा बाद में जब भीड़ अधिक हो गई और मगरमच्छ को लगा कि यहां पर उसकी खैर नहीं है तो उसने अपने पैरों के बल पर वहां से "नौ दो ग्यारह" होना शुरू कर दिया। 

लेकिन तब भी ग्रामीणों की भीड़ ने मगरमच्छ का पीछा नहीं छोड़ा। बाद में वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची तथा उसने 11 फुट लंबे विशाल मगरमच्छ को करीब घंटे भर की मशक्कत के बाद काबू में किया तथा बमनादेही नदी में ले जाकर छोड़ दिया। मामले में ग्रामीणों का कहना था कि गोहदर नदी का जलस्तर कम हो जाने तथा वहां पुल निर्माण होने की वजह से मौजूद मगरमच्छ बाहर आकर विचरण करने लगे हैं।
 ठंड शुरू हो जाने की वजह से जलीय जीव जंतु पानी से बाहर निकल कर गुनगुनी धूप का आनंद लेने भी बाहर आने लगे हैं माना जा रहा है कि यह मगरमच्छ भी धूप स्नान करने के लिए नदी से निकल कर मैदान में आया था लेकिन लोगों ने उसे इतना परेशान किया उसे वापस नदी की ओर रुख करना पड़ा। विशाल रजक की रिपोर्ट..

Post a comment

0 Comments