Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सागर जबलपुर स्टेट हाईवे पर वन क्षेत्र में जरा बच के.. मुरैना से उपचुनाव ड्यूटी से जबलपुर लौट रही पुलिसकर्मियों से भरी बस अनियंत्रित होकर दुर्घटना ग्रस्त.. महुली से झापन के बीच 25 KM में 53 स्पीड ब्रेकर बन रहे हादसों की वजह..

 पुलिसकर्मियों से भरी बस अनियंत्रित होकर दुर्घटनाग्रस्त..

दमोह। सागर रहली पाटन जबलपुर स्टेट हाईवे 14 के निर्माण के बाद शॉर्टकट मार्ग से जहां भारी छोटे वाहनों का आवागमन तेजी से बढ़ा है वही मुहली से झापन बेरियल के बीच वन क्षेत्र के चलते जहां चौड़ीकरण की इजाजत नहीं दी गई वही 25 किमी के इस वन क्षेत्र में वाहनों की गति पर विराम लगाने 53 स्पीड ब्रेकर बना दिए गए हैं जो हादसों की वजह बन रहे हैं।

बुधवार सुबह इस इलाके में मुरैना से उप चुनाव ड्यूटी करके जबलपुर लौट रहे पुलिसकर्मियों से भरी तिवारी कंपनी की बस MP 20 CA 1665 अचानक एक ब्रेकर पर उछलने के बाद अनियंत्रित होकर पेड़ों से टकराते हुए सड़क से उतरकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। ड्राइवर ने सूझबूझ दिखाते हुए बस को जैसे तैसे रोक कर बस में सवार सभी पुलिसकर्मियों को सुरक्षित बचा लिया वही वह स्वयं घायल हो गया। यदि यह दुर्घटना रात के वक्त हुई होती तो बड़ी जन हानि भी हो सकती थी।
 घटना की जानकारी लगने पर तेन्दूखेड़ा थाना प्रभारी संधीर चोधरी और इमलिया चौकी प्रभारी अभिषेक पटेल पुलिस टीम के मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। वही 108 की मदद से तेन्दूखेड़ा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाए गए ड्राइवर घनश्याम ने बताया है कि वह रात को 12 बजे मुरैना से जबलपुर के लिए निकला था। सुबह साढ़े 9 बजे करीब गति अवरोधक पर बस की राड टूटने से यह हादसा हो गया। 
उल्लेखनीय है कि महुली से झापन नाका व्यारमा नदी तक 25 किमी के सफर में 53 गति अवरोधक बनाए गए है वही सड़क के दोनों और की पटरियां काफी नीची हो गई है। जिससे आए दिन वाहन चालक दुर्घटनाओं के शिकार होते रहते हैं फिर भी निर्माण एजेंसी सड़क के हालात सुधारने ध्यान नहीं दे रही है। विशाल रजक की रिपोर्ट

Post a comment

1 Comments

  1. यही हाल दमोह शहर में है हर घर के सामने ब्रेकर बन रहे जबकि ब्रेकर बनाने के लिये पुलिस अधीक्षक से अनुमति लेनी होती है,,पूरे जिले में मन मर्जी काम चल रहा,,

    ReplyDelete