Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

अपनी डपली अपना राग.. इमरती को आइटम बताने के विरोध में भाजपा के मौन धरने के दौरान मीडिया को वकतव्य देने से नहीं चूके भाजपाई.. इधर ओवर ब्रिज की स्ट्रीट लाईट रोशन कराने कांग्रेसियों ने मशाल के बाद मोमबत्तियां जलाकर ज्ञापन सौंपा..

 इमरती को आइटम बताने के विरोध में भाजपा का धरना

दमोह। दो अलग अलग मुद्दों को लेकर भाजपा तथा कांग्रेस नेताओं द्वारा नगर के अलग अलग क्षेत्रों में धरना देकर नागरिकों को अपनी सक्रियता का सबूत देने की कोशिश की। डबरा में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा मंत्री इमरती देवी को आईटम बताए जाने के विरोध में भाजपा के प्रदेश व्यापी धरने के दौरान दमोह में भी मौन धरना दिया गया। लेकिन इस दौरान कुछ मीडियाकर्मियों को अपने बीच पाकर भाजपा के नेता मौन तोड़कर बयानबाजी करने से नहीं चूके। इधर सागर नाका ओवरब्रिज की महिनों से बंद पड़ी स्ट्रीट लाईट को फिर से रोशन कराने कांग्रेसियों ने मशाल जुलूस के बाद मोमबत्तियां जलाकर प्रदर्शन करते हुए धरना दिया। 
अंबेडकर चोक पर सोमवार को आयोजित भाजपा के मौन धरना के दौरान मीडिया को दिए बयान में भाजपा जिलाध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी का कहना था कि इसत रह के आपत्तिजनक बयान से पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की महिला विरोधी, दलित विरोधी तथा कांग्रेस की सामंतवादी सोच उजागर होती है। वहीं जिला महामंत्री रमन खत्री का कहना था कि यह नारीशक्ति का अपमान है, जनता इसका कांग्रेस को जल्द ही चुनाव में जबाव देगी। जब तक कमलनाथ मांफी नही मांगते तब तक उन्हें दमोह मे घुसने नही दिया जावेगा। भाजपा के अनुसूचित जाति मोर्चा के जिलाध्यक्ष बी.डी.बाबरा ने कमलनाथ के बयान की निंदा करते हुए इस दलित महिला विरोधी बताते हुए कहा कि इससे कांग्रेस का चाल, चरित्र और चेहरा फिर से उजागर हो गया है। 

 भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष प्रतिभा तिवारी ने कमल नाथ की टिप्पणी को ओछी मानसिकता की प्रतीक बताते हुए अपने शब्द वापस लेंने ओर प्रदेश की हर बेटी से माफी मांगने को कहा है। भाजपा युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष प्रमोद विश्वकर्मा ने कमलनाथ की टिप्पणी को उनकी महिलाओं और दलितों के प्रति उनकी मानसिकता को दर्शाने तथा अपमान करने वाला बताया। 

भाजपा के मौन धरना में पूर्व नपाध्यक्ष मालती असाटी, अनिल मिश्रा, कपिल सोनी, देवी सिंह नंदरई, डाॅ.केदार नाथ शर्मा, सतीश तिवारी, पवन तिवारी, संतोष रोहित, संजय सेन मोन्टी रैकवार, अभिलाष हजारी, देवेन्द्र सिंह, अजय सिंह, वर्षा रैकवार, बबली विश्वकर्मा, कुसुम खरे, विनीता जड़िया, रितु पांडे, आरती राय,रेखा अहिरवाल, अनुज वाजपेयी, रीतेश सोनी, विवेक अग्रवाल, नीलेश सिंघई, अरूण सोनी, राघवेन्द्र सिंह परिहार, विशाल शिबहरे, उत्तमचन्द्र इंडिया, डाॅ.वीर सिंह, पप्पू हलगज, मनीष असाटी, विकास ठाकुर, रिंकू गोस्वामी, सोनू ठाकुर, संदीप जैन, विक्की सेन, वृजेन्द अहिरवाल, पन्नालाल लखेरा, इन्द्रजीत अरोरा, भीम पटेल, दीपचन्द्र किशनगंज, संजय गौतम, ठा.अखलेश सिंह, पवन सिंह चंदेल, दीपेन्द्र राजपूत, बबलू चक्रवर्ती, गोविन्द राय, आशीष राय, मोहन पटेल, राजेश कोरी, विजय पटेल, निखिल सिंह ठाकुर, छोटू दुबे, अशोक भारती, देवेन्द्र चैधरी, आशीष शर्मा, राजेन्द्र राज, सुबौध राही, देवेन्द्र सिंह, संजय रोहितास, रामेश्वर चैधरी, सिकंदर खरारे, हरिश्चंद्र पटेल, पंकज सेन, घनश्याम सींग,मोहन सींग,महेश कुमार रैकवार, नारायण सोनी, महेन्द्र राय, राज कुमार सोनी,गोविन्द तोमर, नरेश पटेल आदिं की मौजूदगी रही। 

ओवरब्रिज की स्ट्रीट लाईट रोशन कराने कांग्रेस का धरना 

सरदार बल्लभ भाई पटेल की नाम से निर्मित सागर नाका ओवर ब्रिज की बंद पड़ी लाइट को चालू कराने के लिए जिला किसान कांग्रेस कमेटी के बैनर तले धरना देने के बाद मोमवत्ती जलाकर प्रदर्शन करने के बाद तहसीलदार को कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौपा गया। जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय टंडन, कार्यवाहक जिला अध्यक्ष राजेश तिवारी ने बताया कि करोड़ों की लागत से निर्मित इस ब्रिज के उदघाटन के कुछ समय बाद से लाइट बंद है। जिससे शाम ढलते ही यहां पर अंधकार के साम्राज्य के साथ शराबी तत्वों की सक्रियता बढ़ जाती है। किसान कांग्रेस के जिलाध्यक्ष नितिन मिश्रा, शहर अध्यक्ष पप्पू कुशवाहा, सेवादल जिला अध्यक्ष वीरेंद्र ठाकुर ने बताया कि पूर्व में मशाल जलाकर प्रदर्शन करते हुए जिला प्रशासन को ज्ञापन सौपा गया था। लेकिन इसके बाद भी ओवरब्रिज को फिर से रोशन करने आवश्यक कार्यवाही करना जरूरी नहीं समझा गया।

ओवरब्रिज पर धरना प्रदर्शन के दौरान युवक कांग्रेस अध्यक्ष अभिषेक डिम्हा, विधायक प्रतिनिधि पवन गुप्ता, पिछड़ावर्ग प्रदेश उपाध्यक्ष धर्मवीर राय, ने कहा कि नवरात्रि का पर्व प्रारंभ हो गया है और कई माताएं बहने निकलती है कई लोग सुबह घूमने भी आते हैं ऐसे में कभी भी कोई घटना घटित हो सकती हैं। बाद में धरना स्थल पर पहुंची तहसीलदार बबीता राठौर को इन सारी समस्याओं से अवगत करा कर कार्रवाई की मांग की गई तथा कल तक का समय लाइट चालू कराने हेतु दिया गया। लाइट चालू ना होने की स्थिति में पुनः आंदोलन की चेतावनी दी गई। इस दौरान जिला उपाध्यक्ष लालचंद राय उपाध्यक्ष योगेश पटेल महामंत्री के के अग्रवाल राजा रोतेला वीरेंद्र सोनी गौरव राय नीलेश राय उमा शंकर चैबे राजकुमार कछवाहा शशि राज रजनी ठाकुर मार्तंड सिंह धन सिंह राजपूत विनोद पटेल रूप सिंह चैधरी गोविंद अहिरवाल पुरुषोत्तम पटेल अरुण दुबे महेंद्र पटेल धनराज पेंटर जल्ला पटेल मनाई राकेश पटेल सहित स्थानीय नागरिकों की उपस्थिति रही।

 यहां उल्लेखनीय है कि पंचायत क्षेत्र तथा नगर पालिका क्षेत्र के चक्कर में ओवरब्रिज का बिजली बिल जमा नहीं कराए जाने से ओवर ब्रिज की स्ट्रीट का लाईटे कनेक्शन लंबे समय से डिसकनेक्ट है। नगरपालिका के प्रशासक का दायित्व कलेक्टर के पास होने तथा उनके अंडर में जिला पंचायत से लेकर नगरपालिका अधिकारी तक के होेने के बाद भी ब्रिज के बिजली बिल की छोटी सी समस्या का समाधान करके विपक्षी कांग्रेसियों को बार बार आंदोलन प्रदर्शन का मौका क्यों दिया जा रहा है यह बात समझ से परे है। वहीं पूर्व मंत्री जयंत मलैया के प्रयासों से भाजपा की पूर्व सरकार में निर्मित इस ओवर ब्रिज का अंधकार भाजपाईयों को क्यों नजर नहीं आ रहा तथा उनके द्वारा यहां का बिजली कनेक्शन जुड़वाने के लिए क्यों प्रयास नहीं किए जा रहे यह बात भी समझ के परे है..

Post a comment

0 Comments