Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

अक्टूबर के 29 वे दिन टोटल कोविड-19 केस.. इक्कीस सौ से दो कदम दूर.. कोरोना से मौत का आंकड़ा पांच दर्जन के पार.. अभी 276 रिपोर्ट आना शेष.. कलेक्टर ने कहां खतरा टला नहीं, बचाव हेतु और अधिक सर्तकता जरूरी..

 टोटल कोविड-19 केस.. इक्कीस सौ से दो कदम दूर.. 

दमोह। जिले में कोरोना का संक्रमण कम होने के बाद क्षेत्र विशेष में अटैक करता नजर आ रहा है। खासकर जिन इलाकों में नए संक्रमित मरीज मिल रहे हैं वहां इक्का-दुक्का नए मरीजों के मिलने का दौर जारी है। अक्टूबर के 29 वे दिन सात नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं जिन को मिलाकर टोटल कोविड-19 के 2098 हो गए हैं। नए मरीजों में दमोह के सिविल वार्ड 7 तथा हटा नवोदय वार्ड से दो दो नए केस मिले हैं वही वैशाली नगर इमलाई तथा वार्ड 5 से एक एक नया के सामने आया है।

 इधर कोरोना की जंग जीतने वालों का आंकड़ा भी बढ़ता ही जा रहा है। आज 12 मरीजों के स्वस्थ्य होने से ठीक होने वाले मरीजों की टोटल संख्या 1886 हो गई है। लेकिन दुखद बात यह भी है की कोरोना संक्रमण से मौत की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है आज के मेडिकल हेल्थ बुलेटिन के अनुसार मृतक संख्या 61 तक पहुंच गई है। जबकि अभी 276 मरीजों की सैंपल रिपोर्ट आना बाकी है। आज के मेडिकल हेल्थ बुलेटिन के अनुसार जिले से अभी तक भेजे गए प्रकरणों की संख्या 31252 है। प्राप्त रिपोर्ट 30976 है।पॉजिटिव रिपोर्ट 2098 है। स्वस्थ होने वाले 1886 है। मौत 61 है..

अभी कोरोना संक्रमण से सावधान रहने की आवश्यकता

दमोह। कलेक्टर श्री तरूण राठी ने जिले के निवासियों से अपील की है कि कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु इस समय लोगों को और अधिक सावधान रहने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कोविड-19 संकमण के प्रकरण लगातार पाये जा रहे है। कोरोना वायरस संकमण के खतरे के बीच त्योहार इत्यादि आने के कारण लोगों में मिलना -जुलना और एकत्रित होना आरंभ हो गया है। शीत ऋतु भी आने को है, जिसके कारण वातावरण का तापमान कम हो जाता है और यह वायरस प्रसार के लिए उपयुक्त होता है। ऐसे में व्यवहार परिवर्तन की आवश्यकता को देखते हुए जिले में विभिन्न विभागों के सहयोग से कोविड-19 अनुकूल व्यवहार परिवर्तन हेतु सघन अभियान चलाया जा रहा है।  


कोरोना संक्रमण रोकने के लिये ये व्यवहार करें.. दूर से अभिवादन करें, ना किसी से हाथ मिलाएं ना गले मिलें। आपस में 2 गज की दूरी जरूर रखें। घर से बाहर निकलने पर हमेशा मास्क पहनें। बार-बार अपनी आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें। खाँसते और छींकते समय अपने मुंह तथा नाक को ढंक कर रखें, श्वसन संबंधी शिष्टाचार का पालन करें। बार-बार साबुन तथा पानी अथवा अल्कोहल युक्त सेनिटाईजर से हाथों को साफ करें। सार्वजनिक स्थानों पर ना थूके, तंबाकू, गुटका, खैनी, पान आदि खाकर यहां-वहां तथा सार्वजनिक स्थानों पर ना थूकें। बार-बार छुए जाने वाली सतहों को नियमित रूप से विसंक्रमित करें। अनावश्यक यात्रा से बचें। कोरोना को लेकर किसी से भेदभाव ना करें। अनावश्यक भीड़-भाड़ इकट्ठा ना होने दें तथा भीड़-भाड़ वाली जगह जाने से बचें। अफवाहों पर ध्यान नहीं दिया जायें। सोशल मीडिया पर किसी भी अपुष्ट जानकारी को प्रसारित ना करें। सूचना के भरोसेमंद स्त्रोतों से ही जानकारी लें। आपस में सभी एक दूसरे को मनोवैज्ञानिक रूप से सहयोग प्रदान करने का आग्रह किया है।

Post a comment

0 Comments