Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

खाद्य सुरक्षा, राजस्व एवं स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम.. कोविड केयर सेंटर्स में प्रदाय होने वाले भोजन निर्माण स्थल पहुची.. जांच में चौकाने वाले खुलासे.. सामग्री गुणवत्तायुक्त लेकिन सफाई, भंडारण, पैकिंग स्पेस की कमी उजागर

खाद्य सुरक्षा प्रशासन टीम ने भोजन निर्माण स्थल का जायजा लिया..
दमोह। कलेक्टर के निर्देश पर खाद्य सुरक्षा प्रशासन विभाग, राजस्व विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम द्वारा कोविड केयर सेंटर्स में प्रदाय किये जाने वाले भोजन के निर्माण स्थल के औचक निरीक्षण में अनेक चोकाने वाले खुलासे हुए है। केमिकल टेस्ट में सभी खाद्य पदार्थ तो गुणवत्तायुक्त पाए गए लेकिन भोजन निर्माण स्थल पर पर्याप्त साफ सफाई की कमी, उचित वेंटिलेशन की कमी, कंजेस्टेड निर्माण स्थल, पर्याप्त वर्किंग स्पेस की कमी एवं खाद्य सामग्री एवं तैयार भोजन का उचित भंडारण एवं पैकिंग की कमी जैसी अनेक खामियां पाई गई है।
 दमोह शहर के पॉलीटेक्निक कॉलेज एवं विवेकानंद नगर स्थित कोविड केअर सेंटर्स एवं बिलवारी मोहल्ला स्थित भोजन निर्माण स्थल पर संयुक्त जांच दल शनिवार को जांच करने पहुचा। इस दौरान भोजन तैयार करने में इस्तेमाल होने वाले कच्चे खाद्य पदार्थों एवं तैयार भोजन की गुणवत्ता की जांच मैजिक बॉक्स केमिकल टेस्टिंग किट से करने के बाद खाद्य सुरक्षा के नियमों का पालन करने के भोजन निर्माण कार्य एवं वितरण करने वाली संस्था को दिशानिर्देशों के साथ धारा 32 के अंतर्गत सुधार सूचना पत्र जारी किया गया है।
उपरोक्त जांच निरीक्षण कार्यवाही की जानकारी देते हुए खाद्य सुरक्षा अधिकारी राकेश अहिरवार ने बताया कि कलेक्टर तरुण राठी एवं डी ओ खाद्य सुरक्षा डॉ तुलसा ठाकुर के निर्देश पर खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 के तहत खाद्य सुरक्षा अधिकारी, राकेश अहिरवाल ने नायब तहसीलदार विजय साहू एवं डॉ मिताली हैरिसन के साथ संयुक्त कार्यवाही करते हुए दमोह शहर में कोविड केअर सेंटर्स में प्रदाय किये जाने वाले भोजन की गुणवत्ता जांच हेतु भोजन निर्माण स्थल का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण की कार्यवाही मीरा फाउंडेशन के बिलवारी मोहल्ला स्थित भोजन निर्माण स्थल पर की गई। निरीक्षण में भोजन निर्माण स्थल पर पर्याप्त साफ सफाई की कमी,उचित वेंटिलेशन की कमी, कंजेस्टेड निर्माण स्थल,पर्याप्त वर्किंग स्पेस की कमी एवं खाद्य सामग्री एवं तैयार भोजन का उचित भंडारण एवं पैकिंग की कमी आदि की प्रमुख कमियां पाई गई है।
इसी तारतम्य में फोस्कोरिस एप्प के माध्यम से उक्त भोजन निर्माण स्थल का निरीक्षण किया गया। ऑनलाइन निरीक्षण में मीरा फाउंडेशन के भोजन निर्माण स्थल को 68 में से 47  अंक प्राप्त हुए हैं जोकि अनुचित अनुपालन /नॉन कंप्लायंस की श्रेणी में आता है। मौके पर संग्रहित कच्चे खाद्य पदार्थों के स्टॉक की जांच की गई एवं इन पर अंकित लेबलिंग  डिटेल्स/प्रावधानों का अवलोकन किया गया है। मौके पर मैजिक बॉक्स केमिकल फ़ूड टेस्टिंग किट की सहायता से सभी मसाले, खाद्य तेल, दूध एवं दुग्ध पदार्थ, आटा, चावल, दाल, नमक, पोहा, नमकीन, चायपत्ती एवं तैयार भोजन में खीर, पनीर की सब्जी,तैयार दाल, रोटी, सलाद आदि की जांच की गई। उक्त केमिकल टेस्ट में सभी खाद्य पदार्थ गुणवत्तायुक्त पाए गए हैं।
मौके पर मीरा फाउंडेशन के संचालक को खाद्य सुरक्षा के विभिन्न नियमों का परिपालन करने के दिशा निर्देश दिए गए हैं एवं भोजन निर्माण स्थल में कीट नियंत्रण की व्यवस्था एवं कार्यरत कर्मचारियों का मेडिकल परीक्षण आवश्यक रूप से करवाने के निर्देश दिए गए हैं  एवं संचालक को अपने परिसर से केवल उच्च गुणवत्तापूर्ण भोजन का निर्माण करके  उचित तरीके से स्वच्छ पैकिंग में कोविड केअर सेंटर्स में ईलाजरत मरीजों एवं उनके परिजनों को उपलब्ध कराने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। खाद्य सुरक्षा प्रशासन विभाग,राजस्व विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग की यह संयुक्त कार्यवाही कलेक्टर दमोह के निर्देशानुसार सतत जारी रहेगी।

Post a comment

0 Comments