Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

अगस्त के 28 वे दिन 13 नए केस मिलने से टोटल कोविड केस 604.. अभी 606 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष.. इधर झोलाछाप डॉक्टर पर कार्रवाई की गाज.. शहर के विभिन्न क्षेत्रों में 9 क्लीनिक किए गए सील.. कारवाई की भनक लगते ही अनेक झोलाछाप क्लीनिक बंद करके फरार हुए..

 टोटल कोविड केस 604.. 606 की रिपोर्ट शेष.. 
दमोह। अगस्त के अंतिम दिनों में कोरोनावायरस का संचरण लगातार अपना असर दिखा रहा है 28 अगस्त को 13 नए मरीज मिलने से अभी तक के टोटल कोविड-19 केसों की संख्या 604 तक पहुंच गई है जबकि अभी 606 रिपोर्ट आना बाकी है। 
आज जो 13 नए मरीज मिले हैं उनमें 5 केस हटा से एक पथरिया तथा एक पटेरा से है। वहीं शहरी क्षेत्र के 6 मरीजों में पुराना बाजार से दो, नया बाजार से एक, बजरिया एक, सिविल 4 एवं सुरेका कालोनी से एक-एक मरीज मिला है। इधर 4 मरीजों के स्वस्थ होने की जानकारी सामने आई है। वही  स्वास्थ्य बुलेटिन में अभी तक स्वस्थ होकर घर पहुंचे मरीजों की संख्या 445 दर्शाई जा रही है। जबकि कोरोना वायरस से मृत लोगों की संख्या 13 बताई जा रही है।
झोलाछाप डॉक्टरों की क्लीनिक पर बड़ी कार्रवाई..
दमोह जिले में सर्दी खांसी बुखार की दवाई बिना एमबीबीएस डॉक्टर के पर्चे पर नहीं दिए जाने के कलेक्टर तरुण राठी के निर्देशों के बाद आज शहर में करीब दर्जनभर झोलाछाप डॉक्टरों की क्लीनिक पर पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों की टीम ने पहुंचकर छापामार कार्यवाही की तथा शहर के विभिन्न क्षेत्रों में संचालित झोलाछाप डॉक्टरों की 9 क्लीनिक को सील कर दिया गया है। हालांकि इसके बाद भी कुछ झोला छाप डॉक्टर बच गए हैं। जो प्रशासनिक कार्रवाई की भनक लगते ही अपनी क्लीनिक में ताले डालकर गायब होकर कार्रवाई से बचने में फिलहाल सफल रहे।
28 अगस्त की शाम तहसीलदार श्रीमति बबीता राठौर एवं जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केके अठ्या एवं थाना प्रभारी दमोह कोतवाली के नेतृत्व में छापामार दल ने दमोह शहरी क्षेत्र में चल रहे अवैध झोलाछाप डाॅक्टरों के क्लीनिक पर छापामार कार्यवाही की एव उन पर मप्र उपचारगृह तथा रूजोपचार संबंधी स्थापनाए रजिस्टी करण तथा अनुज्ञापन अधिनियम 1973 के अंतरर्गत कार्यवाही करते हुये क्लीनिक सील किये गये ।

सील किये क्लीनिक में डाॅ तरूण श्रीवास्तव,जिला आयुष अस्पताल के पास, सुरेश बुधवानी तीन गुल्ली, राजेन्द्र संगतानी हल्लू डाॅक्टर तीन गुल्ली]  ईसराइल खान गौपुरा, नईम खान, रशीद खान तीन गुल्ली] डाॅ.मजीद खान मांगज वार्ड लोको, डाॅ.पटेरिया लोको, डाॅ विनय रैकवार के क्लीनिक शामिल है। 

Post a comment

1 Comments

  1. प्रशासन MBBS डाक्टर की पूर्ति नही कर पा रहा जिले मे कयी पद खाली है खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में जहां का मोरचा झोला छाप डाक्टर ही सम्भाले हुए हैं क्योंकि कयी स्वास्थ्य केन्द्र ऐसे है जहाँ का चार्ज MPWसम्भाले हुये हैं लोगों की मजबूरी है झोला छाप डाक्टर से ईलाज करना ,,

    ReplyDelete