Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

अगस्त के नौवें दिन भी कोरोना का कहर जारी.. 23 नए संक्रमित मिलने से प्रशासन व्यवस्थाओं में जुटा.. टोटल केस हुए 340, अभी 361 रिपोर्ट आना शेष.. कलेक्टर ने की सभी से सावधानी, संयम, सहयोग की अपील.. 12 वार्ड कंटेनमेंट क्षेत्र बफर जोन मुक्त..

23 नए संक्रमित मिलने से टोटल केस हुए 340..
दमोह। देश दुनिया मे कोरोना संक्रमण काल के चलते  मप्र के अन्य नगरों की तरह दमोह जिले में भी नए संक्रमित मरीजों के मिलने का दौर जारी है। वहीं प्रशासन तंत्र कोविड-19 मरीजों के उपचार तथा संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए व्यवस्था इंतजामों को प्राथमिकता से करने में जुटा हुआ है। 9 अगस्त रविवार को दमोह जिले में 23 नए मरीज मिले हैं जिन को मिलाकर टोटल केसों की संख्या 340 तक पहुंच गई है। वहीं 361 रिपोर्ट आना अभी बाकी है। जबकि 184 मरीज ठीक हो चुके है।
दमोह जिले में आज जो 23 पॉजिटिव केस सामने आए हैं, इसमें मेल 17 तथा फीमेल 06 मरीज हैं। फीमेल मरीज 16, 18, 19, 25, 45 और 56 वर्ष। मेल मरीज 13, 14, 15, 18, 18, 18, 22, 22, 28, 28, 30, 30, 37, 49, 50, 60 और 61 वर्ष के हैं। नए मरीज तेंदूखेड़ा देवरीखेड़ा से 01, तेंदूखेड़ा पतलोनी से 01, नवोदय वार्ड हटा से 01, देवडोगरा से 01, मेहगुआ से 01, दमोह से 01, तेंदूखेड़ा से 02, बनवार जबेरा से 01, वार्ड नं 14 हिंडोरिया से 01, वार्ड नं 03 हिंडोरिया से 01, वार्ड नं 08 हिंडोरिया से 01, वार्ड नं 06 हिंडोरिया से 01, फुटेरा वार्ड नं 03 दमोह से 01, वसुंधरा नगर दमोह से 01, वार्ड नं 45 महादेव नगर दमोह से 01, बंसा पथरिया से 01, सतुआ पथरिया से 01, असाटी वार्ड नं 01 से 01, सिविल वार्ड नं 07 दमोह से 01, आजाद वार्ड हटा से 02 के निवासी बताए गए हैं। 
कलेक्टर ने की सावधानी, संयम, सहयोग की अपील 
दमोह कलेक्टर श्री तरुण राठी ने जिलेवासियों से अपील की है कि कोरोना जैसे संक्रमण से बचाव कि जरुरत है। कोरोना को हराने के लिए हमे सावधानी, संयम और सहयोग का पालन अनिवार्य रूप से करना चाहिए। घर से बाहर निकलते वक्त सावधानी बरतने की जरूरत है,घर से बाहर निकलने पर मास्क, गमछा, फेस कवर आदि से मुँह और नाक को ढँककर रखें। नियमित रूप से हाथों को धोएं, सेनिटाइज करें साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करें। खुद पर संयम रखें - वृद्धजन, बच्चे या किसी भी तरह कि गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्ति बिना आवश्यक कारणों से घर के बाहर ना निकलें। जो यात्राएं जरुरी नहीं हैं उन्हें कुछ समय के लिए टाल दें।  बिना मेडिकल इमरजेंसी  के घर से बाहर ना निकलें। शासन-प्रशासन का सहयोग करें, कोरोना से घबराएं नहीं। किसी भी प्रकार के लक्षण आने पर तुरंत स्वास्थ्य विभाग एवं जिला प्रशासन को सूचित करें। समय पर कोरोना संक्रमण की पहचान एवं उपचार से कोरोना संक्रमित मरीज को स्वस्थ करने की सम्भावना बढ़ जाती है, साथ ही सही समय में जाँच हो जाने से सम्बंधित व्यक्ति को आइसोलेट किया जाकर संक्रमण फैलने का ख़तरा भी कम किया जा सकता है। कलेक्टर ने जिले के नागरिकों से अनुरोध किया है कि कोरोना मुक्त दमोह बनाने मे प्रशासन का पूर्ण सहयोग करें।
कलेक्टर की अध्यक्षता में प्रतिदिन 5 बजे होगी बैठक
दमोह। कोविड-19 के सम्बध में प्रतिदिन समीक्षा बैठक जिला कलेक्टर श्री तरूण राठी की अध्यक्षता में आयोजित होगी। यह बैठक प्रतिदिन शाम 5बजे जिला कार्यालय सभाकक्ष में होगी। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री हेमंत चैहान, एडिशनल कलेक्टर आनंद कोपरिहा और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सिविल सर्जन, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास मौजूद रहेंगे।
 नगर के 12 वार्ड कंटेनमेंट क्षेत्र, बफर जोन मुक्त..
दमोह। दमोह नगर के मागंज वार्ड नंबर 6 जगजीवनराम वार्ड -16, सिविल वार्ड नंबर- 4 जागृति स्कूल के पास, सिविल वार्ड नंबर 4 पारस जैन मंदिर, सिविल वार्ड नंबर 4, सिविल वार्ड नंबर 6 नेमी नगर, सिविल वार्ड नंबर नंबर 8 टंडन बगीचा डिग्री कॉलेज के बाजू से, जटाशंकर कॉलोनी बजरिया वार्ड 6, जबलपुर नाका पॉलिटेक्निक कॉलेज के सामने, महावीर वार्ड न. 22 पुराने थाने के पास, असाटी वार्ड नंबर एक विशाल मेगा मार्ट के पीछे, मागंज वार्ड न.4 मलैया मील के पास, मागंज वार्ड-6 फ्लाईओवर के नीचे के कंटेनमेंट जोन में अंतिम मरीज पाये जाने से 14 दिन पूर्ण हो जाने तथा क्षेत्र में कोई भी कोविड-19 का नवीन प्रकरण नहीं पाये जाने पर कलेक्टर तरूण राठी ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी दमोह से प्राप्त प्रतिवेदन के आधार पर नगर सम्बन्धित क्षेत्र बफर जोन घोषित करने संबंधी आदेश को निरस्त करते हुये उक्त क्षेत्र को कंटेनमेंट क्षेत्र, बफर जोन से मुक्त घोषित कर दिया है। ज्ञातव्य हो कि इन वार्डो में कोविड-19 पॉजीटिव केस मिलने से पॉजीटिव केस के घर को ईपिसेंटर घोषित करते हुये चिन्हित क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया व इससे लगे 100 मीटर परिधि के क्षेत्र को बफर जोन घोषित किया गथा था।

Post a comment

0 Comments