Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

10 हजार के इनामी फरार जेल बंदी.. एटीएम ब्लास्ट लूट के आरोपी देवेंद्र पटेल पर.. 12 वे दिन पुलिस ने फिर कसा शिकंजा.. 11 अगस्त के तड़के जिला अस्पताल से कोरोना के इलाज के दौरान संदिग्ध हालातों में हुआ था फरार..

 एटीएम ब्लास्ट लूट का आरोपी फिर पुलिस के शिकंजे में
दमोह। पांच जिलों में एटीएम ब्लास्ट कांड में संलग्न रहकर लाखों रुपए की लूट में भागीदार रहे देहात थाने के खजरी क्षेत्र निवासी मास्टरमाइंड देवेंद्र पटेल को पुलिस की स्पेशल टीम ने नरसिंहगढ़ क्षेत्र से हिरासत में लेने में सफलता हासिल की है। जिस तरह से संदिग्ध हालातों में देवेंद्र जिला अस्पताल कोविड-19 सेंटर से फरार हुआ था उसी तरह के संदिग्ध हालातों में आज उसकी गिरफ्तारी भी चर्चा का विषय बनती नजर आ रही है। 
दमोह पुलिस ने करीब महीने भर पूर्व एटीएम ब्लास्ट करने वाले गिरोह को बमुश्किल पकड़ने में सफलता हासिल की थी। जिसके बाद पुलिस द्वारा आरोपियों को रिमांड पर लेने के बाद हटा जेल भेज दिया गया था। जहां एटीएम ब्लास्ट के मास्टरमाइंड देवेंद्र पटेल की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल स्थित कोविड-19 सेंटर में भर्ती कराया गया था। वही इसके संपर्क में आए पुलिस अधिकारियों को भी होम क्वॉरेंटाइन कर जांच सैंपल इन की गई थी। 
11 अगस्त के तड़के जेल पुलिस को सोते हुए चकमा देकर जिला अस्पताल कोविड-19 सेंटर से संदिग्ध हालात में देवेंद्र पटेल फरार हो गया था जिसके बाद हड़कंप भरे हालात बने रहे थे वही उसकी गिरफ्तारी पर एसपी हेमंत चौहान द्वारा ₹10000 के इनाम की घोषणा भी कर दी गई थी इधर अस्पताल से फरार होने के बाद वहां पहुंचे हटा के सहायक जेलर केके कोरी उन हालातों का हवाला दिया था जिनसे इसके भागने की स्थिति साफ होती नजर आई थी।
करीब 12 दिनों तक जिला अस्पताल से भागने के बाद फरार रहे देवेंद्र पटेल के अचानक 23 अगस्त की दोपहर नरसिंहगढ़ में पकड़े जाने की खबर सोशल मीडिया पर वायरल होते ही लोगों के बीच उसकी गिरफ्तारी को लेकर उत्सुकता का माहौल बनते देर नहीं लगी। लेकिन उसकी गिरफ्तारी को लेकर शाम तक पुलिस के किसी भी वरिष्ठ अधिकारी का अधिकृत बयान सामने नहीं आया था।
 वहीं सूत्रों का कहना था एसपी द्वारा गठित स्पेशल टीम द्वारा उसे नरसिंहगढ़ के बाजार मुहल्ला में मुखबिर की सूचना पर बाइक से घूमते हुए पकड़ने में सफलता हासिल की गई है तथा उसकी गिरफ्तारी में  पटेरा थाना प्रभारी एवं साइबर सेल का विशेष योगदान बताया जा रहा है। किन हालातों में कैसे देवेंद्र पर पुलिस ने अपना शिकंजा कसा इसकी अधिकृत जानकारी की अपडेट के साथ जल्द मिलते हैं। पिक्चर अभी बाकी है.. नरसिंहगढ़ से शैलेश श्रीवास्तव के साथ अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments