Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

एटीएम ब्लास्ट कर लाखो के नोट लूट कांड का खुलासा.. आरोपी दमोह पन्ना, कटनी जबलपुर जिले में दे चुके थे सात बारदातों को अंजाम.. मास्टर माईंड निकला सिविल इंजीनियर.. साढ़े 25 लाख के असली, साढ़े तीन लाख के नकली नोट बरामद..

एटीएम ब्लास्ट कर लाखो के नोट लूट कांड का पर्दाफाश
दमोह पन्ना जिले पिछले 4 माह में एसबीआई के तीन एटीएम को ब्लास्ट करके लाखों की रकम लूट कर ले जाने वाले गिरोह का आखिरकार पर्दाफाश हो गया है। इस गिरोह के द्वारा इसके पूर्व कटनी जबलपुर जिले में भी उसी तरह की 4 वारदातों को अंजाम दिया जा चुका था इस तरह एटीएम ब्लास्ट कर लूट की 7 वारदातों को अंजाम दे चुके देहात थाना के खजरी निवासी गिरोह के 6 सदस्यों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। इन वारदातों का सरगना जहां सिविल इंजीनियर रहा है वहीं आरोपियों के पास से पुलिस ने साढ़े 25 लाख से अधिक की नगदी, साढ़े तीन लाख के नकली नोट, 02 देशी पिस्टल, 08 जिन्दा राउन्ड, घटना में प्रयुक्त तीन मोटर साईकिल, 02 मोबाईल, डेटोनेटर जिलेटिन राड, लेपटाप, कलर प्रिंटर जब्त किया गया है। 
 सागर संभाग के आईजी अनिल शर्मा ने दमोह पुलिस कंट्रोल रूम में रविवार दोपहर प्रेस कॉन्फ्रेंस में एटीएम ब्लास्ट से जुड़े घटनाक्रम का पर्दाफाश करते हुए मीडिया को जानकारी दी। इस दौरान सागर तथा छतरपुर रेंज के डीआईजी, दमोह SP हेमंत चैहान तथा पन्ना SP मयंक अवस्थी सहित अन्य पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी रही। पुलिस टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद दमोह देहात थाना के खजरी ग्राम निवासी देवेन्द्र पटेल, जागे उर्फ ​​जागेश्वर पटेल, छोटू उर्फ ​​बिल्लश पटेल, जयराम पटेल, राकेश पटेल एवं परम लोधी को गिरफ्तार किया है। एक आरोपी देवेन्द्र उर्फ ​​बलीराम पटेल सिविल इंजीनियर डिग्री धारक है और पूर्व में यूपीएससी जैसी बड़ी परीक्षा दे चुका है और निरंतर क्राईम कर जैसे टी.व्ही पर कार्यक्रम देखने नई- नई पद्धति से अपराध करने की विधि तलाशता था। इसके कब्जे से तीन लाख पचार हजार रूपय के नकली नोट व नकली नोट बनाने की सामग्री जप्त की गई। 
 दमोह पन्ना, कटनी जबलपुर जिले में 7 बारदात..
आरोपीयो द्वारा बताया गया कि पूर्व में कारित घटना जो आरोपी द्वारा की गई: 1. नुनसर जिला जबलपुर घटना दिनांक 6.6.2019, 2. बहोरीबंद जिला कटनी घटना दिनांक 25.10.2019, 3. बाकल कटनी घटना दिनांक 24.11 2019, 4. मझौली जिला जबलपुर घटना दिनांक 22.1.2020, 5. देवदोगरा जिला दमोह घटना दिनांक 6.3.2020, 6. हिनौताकला जिला दमोह घटना दिनांक 17.5.2020, 7. सिमरिया जिला पन्ना घटना दिनांक 19.7.2020 एटीएम, ब्लास्ट कर रुपया लूट / चोरी कराया गया। तरीका - ए - वरदात: - 
आरोपीगण देखते थे कि कैश वेन किस ओर एटीएम में कैश डालने जा रहा है जिसका रेकी आरोपी करते थे। व अनुमान के आधार पर इस ए.टी.एम. मशीन में कैश डाला जाएगा। रात्रि में गार्ड के आने के पूर्व एटीएम कक्ष में प्रवेश कर कैश ट्रे के पास जिलेटिन राड व डेटोनेटर लगा देते थे। बाद में मोटर साईकिल की बैटरी से विस्फोट कर एटीएम मशीन को चालू कर देते थे। बाद में कैश लेकर फरार हो जाते थे। और आपस - बराबर  - बराबर रुपया बांट लेते थे।  
4 महीने में तीन एटीएम ब्लास्ट करके लाखों की लूट..
दमोह जिले के पटेरा थाना अंतर्गत देवडोंगरा ग्राम में एसबीआई के एटीएम में ब्लास्ट करके लाखो की रकम लूट लिए जाने का पहला मामला 6 मार्च 2020 को लगभग रात्रि 9.00 बजे से 9.40 बजे के मध्य सामने आया था। दूसरा मामला दमोह जिले के थाना गैसाबाद के ग्राम हिनौताकला में 17 मई 2020 की रात्रि 09.05 बजे एसबीआई बैंक के एटीएम में विस्फोट कर लाखो की लूट को अंजाम दिया गया था। इसके दो महीने बाद 19 जुुुलाई 2020 की रात सिमरिया जिला पन्ना क्षेत्रान्तर्गत अज्ञात व्यक्तियों द्वारा एसबीआई के एटीएम में बलास्ट का लगभग 23 लाख रूपये लूट कर ले गये थे। 
उपरोक्त घटनाक्रमों को गंभीरता से लेते हुए सागर आईजी अनिल शर्मा द्वारा अज्ञात आरोपियो की पतरसी पर 30-30 हजार रूपये का इनाम उदघोषित कर एस.आई.टी. का गठन डीआईजी छतरपुर विवेक राज छतरपुर के नेतृत्व में किया गया था। जिसके सदस्य पुलिस अधीक्षक पन्ना मयंक अवस्थी थे। इधर डीआईजी सागर जोन आर.एस. डेहरिया द्वारा लगातार एपिसोड की समीक्षा कर पतरसी हेतु निदेर्शित किया जा रहा था। एसआईटी द्वारा समम्लित प्रयासों के साथ कार्य कर अलग-अलग  स्थानों पर दविश देकेेर आरोपीयो को गिरफ्तार किया गया है।  
पुलिस अधीक्षक दमोह श्री हेमंत चौहान द्वारा गठित एस.आई.टी. लगातार घटना की पतरसी कर रही थी एसआईटी, दमोह को एटी.एम. ब्लास्ट के संदिग्ध व्यक्ति की सूचना प्राप्त हुई। जिस पर से एएसपी शिवकुमार सिंह द्वारा टीम गठित की गई। जिसमें थाना प्रभारी दमोह देहात संधीर चौधरी, थाना प्रभारी हटा राजेश बंजारे, थाना प्रभारी नोहटा सत्येन्द्र सिंह राजपूत, सिमरिया पुलिस उप अधीक्षक (परिवीक्षाधीन) अभिषेक गौतम, सुधीर बेगी थाना प्रभारी तेंदूखेड़ा, थाना प्रभारी पटेरा उप निरीक्षक अभिषेक चौबे, थाना प्रभारी गैसाबाद उप निरीक्षक संदीप दीक्षित की टीम द्वारा अलग अलग स्थानो पर दबिश दी गई। 
 अच्छा कार्य करने वाले अधिकारी / कर्मचारी - मयंक अवस्थी एसपी पन्ना, शिवकुमार एएसपी दमोह, रक्षपाल सिंह यादव एसडीओपी पवई, अभिषेक गौतम परवीक्षा डीएसपी, अरविंद कुजर टीआई अजयगढ़, दमोह देहात टीआई संधीर चौधरी, हटा टीआई राजेश बंजारे, सिद्धार्थ शर्मा  थाना प्रभारी बृजपुर  अभिषेक पांडे  चौकी प्रभारी सिविल लाइन पन्ना, उप निरीक्षक सुधीर वेगी, सत्येन्द्र राजपूत, अभिषेक चौबे, संदीप दीक्षित, सिमरिया थाना प्रभारी अभिषेक चौबे, उप निरीक्षक ऋषभ सिंह ठाकुर  सविता रजक, विकास चौहान, मनोज यादव, साइबर सेल से आरक्षक राकेश अठ्या, सौरभ टंडन, अजित दुवे, राजेश गौर, नीरज रैकवार पन्ना, मनीष गंधर्व सागर, सैनिक राकेश दुवे प्रमुख रहे।
बड़े खुलासे के बावजूद कुछ जबाव अभी अनुतरित
 इतने बड़े सात घटनाक्रमों में लूटी गई रकम के मुकाबले आरोपियों के पास से काफी कम रकम मिलना तथा नकली नोट बनाने की सामग्री जप्त होना अनेक सवालों को जन्म दे रही है। जिनमे सबसे अहम सवाल यही है कि आखिर लूट की लाखों की रकम कहां खपाई गई तथा लाखों के असली नोट लूटने वाले नकली नोट छापने मैं भी क्यों लिप्त रहे ? वही इस अहम मामले के खुलासे के ठीक पहले देहात थाना प्रभारी संधीर चैधरी को दमोह एसपी ने देहात थाने से हटाकर तेंदूखेड़ा में क्यों अटैच किया? यह ऐसे सवाल है जिनके जबाव फिलहाल उनुत्तरित है तथा उम्मीद की जा रही है कि जल्द इनके जबाव भी सामने आ सकेंगे..

Post a comment

0 Comments