Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

कोतवाली से चंद कदम की दूरी पर.. नायब तहसीलदार बंगले पर चोरों का धावा.. सूने घर से उड़ाई हजारों की नगदी.. लाकर में रखा लाखो का सोना बचा.. बीजेपी आफिस के बाजू में चोरी.. पुलिस गश्त को चुनौती से कम नही.. पुलिस जांच में जुटी..

बीजेपी आफिस के बाजू में चोरी.. चुनौती से कम नही..
दमोह। मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के रहते यदि चोर बीजेपी आफिस के बाजू में धावा बोलकर नायब तहसीलदार के सूने आवास में घुसकर हजारों की नगदी पर हाथ साफ कर दें तो यह पुलिस के लिए चोरों की खुली चुनौती जैसी बात कही जा सकती है। वह भी उस हालात में जब पुलिस कोतवाली की दूरी यहां से चंद कदम की हो तथा चौराहे पर सीसीटीवी कैमरे  भी लगे हुए हो।
दमोह सिटी पुलिस कोतवाली के नजदीक तथा जिला भाजपा कार्यालय के बाजू में स्थित नायब तहसीलदार विजय साहू के सूने शासकीय आवास में घुसकर चोरों द्वारा हजारों रुपए की नकदी पर हाथ साफ कर दिए जाने का घटनाक्रम सामने आया है। दरअसल नायब तहसील दार विजय साहू 5 दिन की छुट्टी पर अपने ग्रह नगर छिंदवाड़ा गए हुए थे। सोमवार को वह दमोह वापस लौटकर अपने शासकीय आवास पर पहुंचे तो दरवाजे के ताले टूटे देख कर वह भौचक्के रह गए। 
अंदर जाने पर उन्हें अलमारी का भी ताला टूटा हुआ तथा सामान बिखरा हुआ मिला। लेकिन अलमारी के गुप्त लाकर के सुरक्षित रहने से उसमे रखे लाखों रुपए के सोने के जेवरात चोरी होने से बच गए। चोरी की घटना की जानकारी कोतवाली पुलिस को दिए जाने के बाद मौके पर पहुचे एएसआई बीआर पटेल व पुलिस टीम ने जांच शरू कर दी है। चोरो के बंगले के बाहर लगे मैन गेट को फांदकर परिसर में पहुंचने तथा दरवाजे का ताला तोड़कर अंदर दाखिल होने और इसके बाद अलमारी का ताला तोड़ने और वारदात को अंजाम देने की संभावना जताई जा रही। 
चोरों को गुप्त लाकर नजर नहीं आने से सोने चांदी के जेवरात तो बच गए लेकिन पर्स लिफाफा गुल्लक आदि में रखें 11000 से अधिक रुपए की नगदी चोरों के हाथ लग गई। जिसे लेकर वह चलते बने। इनकी टुच्चयाई का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वह बच्चो की गुल्लक फोड़कर उसमे रखे 10 रूपए वाले सिक्के भी ले जाने से नहीं चूंके।
 सिटी कोतवाली पास में होने तथा सीसीटीवी कैमरे सामने लगे होने के बाद भी चोरों द्वारा नायब तहसीलदार के बंगले में घुसकर चोरी करना जहां पुलिस के लिए चुनौती देने जैसी बात कही जा सकती है वही पुलिस हॉस्पिटल के बाहर रखे टपरों के आसपास देर रात शराबियों की महफिल सजने और शराब खोरी होने तथा पुलिस का इस ओर ध्यान नहीं जाना भी यहां पर चोरी चकारी की घटनाओं को बढ़ावा देने वाली बात कही जा रही है।

Post a comment

1 Comments

  1. अटल भाई साहब क्रिमिनल चोर टुच्चा ही होते उनकी भावनाएं नहीं होती

    ReplyDelete