Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

केन नदी में नहाने गए पांच बच्चों में से चार की जल समाधि.. एक दूसरे को बचाने के प्रयास में बहते चले गए चारो बच्चों के.. डूबने की सूचना पांचवे बच्चें ने परिजनो व पुलिस को दी.. लापता चारो बच्चों की तलाश हेतु घण्टो जारी रहा रेस्क्यू..

 केन नदी में नहाने गए 5 में से चार बच्चों की जल समाधि
छतरपुर। इस साल मानसून की दस्तक के पूर्व बारिश का एक दौर हो जाने से नदी नालों में पर्याप्त जल राशि नजर आने लगी है। वही उमस भरी गर्मी के बीच में नदी, नालो, तालाबों में नहाने के लिए जाने वालों का तांता लगा रहता है। ऐसे ही कुछ हालात के बीच छतरपुर जिले के लवकुश नगर अनु विभाग अंतर्गत दुखद घटनाक्रम सामने आया है। यहां केन नदी में नहाने के लिए गए 4 बच्चों की डूबने से जल समाधि हो जाने के बाद बच्चों की तलाश हेतु देर तक मशक्कत का दौर चलता रहा।
प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार 15 जून को बंसिया थाना अंतर्गत नेहरा गांव में नदी में नहाने गए 5 बच्चों में से चार की नदी में डूब जाने से जल समाधि हो गई वही पांचवे बच्चे के नदी में नहीं उतरने की वजह से बच्चों के डूब जाने का घटनाक्रम का पता परिजनों तथा पुलिस को लग सका। और इसके बाद नदी में डूबे चारों बच्चों की तलाश हेतु स्थानीय थाना पुलिस की मौजूदगी में गोताखोरों द्वारा रेस्क्यू शुरू किया गया जो देर तक जारी रहा।
घटनाक्रम की जानकारी लगते ही मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी भूपेंद्र अहिरवार ने बताया कि बच्चों की तलाश हेतु तत्काल ही रेस्क्यू शुरू करा दिया गया था। वही डूबने वाले बच्चो के नाम बूंदा, बाली एवं दुर्जन की उम्र करीब 15 वर्ष बताई जा रही है। जबकि चिल्लू की उम्र 12 वर्ष बताई गई है। मौके पर मौजूद पांचवे बच्चे प्रेम सिंह 7 वर्ष ने बताया कि इन चार बच्चों को  नहाने के लिए नदी में उतरते समय डूबने की घटना को उसने अपनी आंखों से देखा है। एक बच्चे के गहराई में चले जाने के बाद फिसलते हुए बहने व डूबने के बाद अन्य बच्चे भी एक दूसरे को बचाने के प्रयास में डूबते बहते चले गए। जिसके बाद पांचवे बच्चे ने दौड़ कर गांव वालों को इसकी सूचना दी। लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। इस दुखद  घटनाक्रम से पूरे गांव में शोक की लहर छाई हुई है वही पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है।

Post a comment

0 Comments