Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

हादसा या हत्या.. दमोह सागर स्टेट हाइवे पर हिरण का शव मिला.. गर्भवती हिरणी को इलाज के लिए भेजा गया.. सूचना मिलते ही कुमेरिया गांव पहुची 100 डायल टीम ने तत्काल फारेस्ट डिपो पहुचाया.. लेकिन तब तक थम चुकी थी हिरन की सांसे..

 गर्भवती हिरणी घायल, हिरण का शव मिलने से सनसनी..
दमोह। दमोह सागर स्टेट हाइवे पर स्थित गांव कुमेरिया में हिरण के बेसुध पड़े होने की खबर मिलने से सनसनी के हालात बनते देर नही लगी। सूचना मिलते ही कुछ देर बाद मौके पर हंड्रेड डायल टीम पहुंची तथा लोगों से जानकारी लेकर हिरण का चेकअप किया गया लेकिन तब तक उसकी सांसें थम चुकी थी। इधर पास में ही एक गर्भवती हिरणी भी पढ़ी हुई मिली है। जिसेे इलाज के लिए भेजा गया है।
हिरणीकी हालत देखकर अंदाजा लगाया जा सकता था कि वह गर्भवती मादा हिरण थी। तथा उसके साथ उसके गर्भ में शिशु भी पल रहा था। इधर जिस हिरण की मौत हुई है वह हिरणी का जीवन साथी नजर आ रहा था। जिसकी  मौत के साथ  हिरणी की सांसे भी थमने की कगार पर पहुच चुकी थी। यह दोनों किसी हादसे का शिकार हुये अथवा किसी शिकारी ने इनको इस मुकाम तक पहुचाया ? यह जांच का विषय है। 
वही प्रथम दृष्टया मामला एक्सीडेंट का भी बताया जा रहा है। मादा घायल हिरण के शव को डायल 100 में रख कर फॉरेस्ट डिपो में लाकर के लिए छोड़ने वाली टीम में हंड्रेड डायल 315 विक्रम राठौर, पायलट कैलाश जाट की विशेष भूमिका बताई जा रही है। वही इस घटनाक्रम से  ग्रामीण जन  काफी दुखी नजर आए ।अभिषेक जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments