Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

पथरिया में पेयजल सप्लाई लाइन को क्षतिग्रस्त करके.. चोरी के पानी से ईट भट्टा संचालन का पर्दाफाश.. नगरपालिका के कतिपय कर्मचारियों जनप्रतिनिधियों की मिलीभगत से बरसों से पानी चोरी कराए जाने की आशंका की भी होगी जांच.. !

 चोरी के पानी से ईट भट्टा संचालन करने का पर्दाफाश..!
दमोह। जिले के पथरिया नगर पंचायत क्षेत्र में पेयजल सप्लाई लाइन को क्षतिग्रस्त करके पानी चोरी करते हुए ईट भट्टा संचालित करने तथा खेत में बनी तलैया को पानी संग्रहण हेतु उपयोग किए जाने के साथ छुपा के रखे गए  नगरपालिका के चार पाइपों को बरामद किए जाने का चोकाने वाला घटनाक्रम सामने आया है। जिसके पीछे वार्ड नो के पार्षद प्रतिनिधि की भूमिका पर सवाल उठाए जाने के साथ आरोप लगाए जा रहे हैं। पूरे मामले को जांच में लेते हुए दोषियों के खिलाफ जल्द एफआईआर दर्ज किए जाने की बात कही जा रही है।
पथरिया नगर के विभिन्न वार्डों में जल संकट के हालात किसी से छिपी नहीं है। ग्रीष्म की तपन के साथ जल संकट के गहराने तथा अनेक वार्डो में टैंकरों के जरिए पहुचने वाला पानी नाकाफी साबित होता रहा है। इधर नगर पालिका परिषद के कतिपय जनप्रतिनिधियो, कर्मचारियों की मिलीभगत से वार्ड नंबर 9 में पेयजल सप्लाई लाइन को छतिग्रस्त करके भारी मात्रा में पानी चोरी किए जाने का कार्य वर्षों से संचालित होता रहा है। लोगों के घरों में पेयजल पहुंचने के पहले ही अधिकांश पानी ईट भट्टे चलाने वाले ठेकेदार के खेत में इकट्ठा होता रहता था।
बांसा कला इंटक बेल से आई पेयजल सप्लाई लाइन के पानी के लीकेज को ठीक करने के लिए अनेक बार कार्य कराए जाने के बावजूद पानी चोरी का दौर लगातार जारी था वही नगर पालिका संचालन का जिम्मा अब प्रशासक के पास पहुंच जाने पर इस मामले को गंभीरता से लेते हुए आज  जब जांच कार्यवाही की गई तो वार्ड नंबर 9 निवासी ठेकेदार पार्षद पति बब्बू पटेल के खेत नुमा तालाब तथा ईट भट्टे ने पानी चोरी की कारगुजारी को उजागर करके रख दिया।
मामले की गंभीरता को देखते हुए मौके पर पहुंचे पथरिया तहसीलदार आलोक जैन ने पुलिस बल को बुलाकर जहां जांच कार्रवाई करने को कहा। वहीं नगरपालिका के कर्मचारियों से तत्काल क्षतिग्रस्त पाइप लाइन को सुधार कार्य कराया गया। इस दौरान मौके पर गुस्से में छिपे नगरपालिका के चार बड़े पाइप की बरामद किए गए हैं। देखना होगा मामले में जांच के बाद कार्यवाही का आज संबंधित के ऊपर गिरती है अथवा राजनीतिक संरक्षण के दम पर आरोपी पार्षद पति को बचाने कराने का प्रयास सफल हो पाता है। पथरिया से रोहित सेन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments