Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

युवाओं की प्रेरणास्पद पहल.. आग से तबाह गरीब मजदूर के आशियाने को फिर से बसाने युवाओं ने की सेवाभावी पहल.. किसी ने बर्तन गृहस्थी का सामान दिया तो किसी ने अनाज, चादर, कपड़ों का किया इंतजाम.. मदद पाकर परिजनों की आंखों से आंसू छलके..

आग से जल गया था घर गृहस्‍थी का सारा सामान
दमोह। हटा के युवाओं ने एक बार फिर सेवा भावना की मिसाल कायम करते हुए मानवता सर्वोपरि की बात कों साबित करने की कोशिश की है। दरअसल हटा पटेरा मार्ग पर बोरीखुर्द गांव में गरीब मजदूर हरिगोविन्‍द कुशवाहा के घर में शनिवार की रात अचानक भड़की आग से घर के साथ गृहस्थी का सारा सामान भी जलकर खाक हो गया था। यहां तक कि ओड़ने बिछाने से लेकर पहनने के कपडे भी नही बचे थे, इस परिवार का मुखिया हरिगोविन्‍द मजदूरी करने हरियाणा गया है, परिवार के पांच सदस्‍यों में बडा बेटा बाजार में चाय की होटल में कार्य करता था। लेकिन जब से लाक डाउन लगा तो होटल बंद होने के कारण उसे कोई काम भी नहीं मिल रहा था। 
   आग से तहस नहस हुए गरीब परिवार के हालात की जानकारी लगने पर हटा नगर के युवाओं के साथ सेवा भावी संगठनों से गरीब की गृहस्थी को फिर से बसाने की कोशिश शुरू कर दी है। जैन युवा मिलन हटा शाखा ने इस परिवार के लिए दाल चांवल एवं कपडा की व्‍यवस्‍था की, चंडी जी मंदिर से खाना के पैकेट भी इस परिवार तक पहुंच रहे है, बीएसडब्‍लू गु्रप के भगतराम पटैल ने एक बोरी गेंहू देने की बात करते हुए कहा कि इसके घर बनाने के लिए ग्रुप के श्‍यामलाल, बद्री सहित अन्‍य सदस्‍य श्रमदान भी करेगें, आसपास रहने वालों ने बांस बल्‍ली की यथा संभव पूर्ति की बात कही है। 
आमजन से हल्‍की सी पहल पर इस परिवार के लिए नीलेश राय द्वारा दैनिक उपयोगी बर्तन, नीलेश सराफ के द्वारा दो गद्दा, दो चादर, दरी, हसनी हुसैनी समिति द्वारा एक माह का राशन, बाहुबली जैन द्वारा दाल, जानू खान, शकील बजाज एवं बबलू राय द्वारा घर निर्माण के लिए नगद राशि एवं अन्‍य लोगों द्वारा किराना सामग्री आदि की व्‍यवस्‍था की गई है। 
इस टूटते परिवार को सम्‍हालने के लिए हर वर्ग के लोग आगे आ रहे है, उसका घर बनकर पुनः सामान्‍य हो जाये इसके लिए प्रयास किया जा रहा है। यह परिवार मजूदर परिवार से है, इतना सक्षम नहीं कि वह मूलभूत आवश्‍यक वस्‍तुओं को भी तत्‍काल ले सके, सरकारी मदद कब, किस रूप में मिलेगीं इसका भी भरोसा नहीं है, परिवार अपने आप को अलग थलग न माने, न ही यह परिवार टूटे इसकी मदद में सभी जन आगे आये, यह प्रयास सभी के द्वारा किये जाने की जरूरत है
यह परिवार मजूदर परिवार से है, इतना सक्षम नहीं कि वह मूलभूत आवश्‍यक वस्‍तुओं को भी तत्‍काल ले सके, सरकारी मदद कब, किस रूप में मिलेगीं इसका भी भरोसा नहीं है, परिवार अपने आप को अलग थलग न माने, न ही यह परिवार टूटे इसकी मदद में सभी जन आगे आये,  घर का बडा लडका विशाल कुशवाहा 14 वर्ष ने बताया कि अभी तो वह कपडा भी पडौसी से मांगकर पहने हुए है। सोमवार की शाम नगर के युवाओं ने पीडित परिवार के घर पहुंचकर एकत्र की गई सामग्री प्रदान की एवं समय समय पर हर संभव सहयोग देने की बात कही। इस अवसर पर उपस्थित गांववासियों ने भी सहयोग देने की बात कही। इस परिवार का मोबाइल नंबर 7746957912 है। यदि आप भी कोई मदद इस परिवार तक भेजने के भाव रखते है तो जरूर संर्पक करें। हटा से संजय जैन की रिपोर्ट  

Post a comment

0 Comments