Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

एटीएम मशीन एवं नेट बैंकिंग एकाउंट हैक करके.. लाखों की हेराफेरी करने वाले दो मुन्ना भाइयो पर पुलिस का शिकंजा.. इधर 2 माह पूर्व एटीएम में धमाका करके.. लाखों की रकम उड़ाने वालो का पता लगाना पुलिस के लिए अभी भी बना हुआ है चुनौती..

 लाखों की हेराफेरी करने वाले दो आरोपी गिरफ्तार
दमोह। ऑनलाइन फ्रॉड गिरी करके लोगों के खातों से नेट बैंकिंग के जरिए रुपयों की हेराफेरी करने तथा एटीएम मशीन को हैक करके रुपए पार करने में महारत रखने वाले दो जालसाज यानि मुन्ना भाइयों को पुलिस में आखिरकार गिरफ्त में लेने में सफलता हासिल की है इनके द्वारा करीब 10 लाख रुपए की हेरा फेरी किए जाने की जानकारी सामने आई है। वहीं पुलिस ने इनके कब्जे से दो बाइक और 5 मोबाइल सहित कुछ अन्य सामग्री बरामद करने में सफलता हासिल की है।
 पुलिस कंट्रोल रूम में बुधवार दोपहर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी हेमंत चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि नेट बैंकिंग अकाउंट के जरिए ऑन लाइन चीटिंग किए जाने की लगातार शिकायत सामने आ रही थी वही 7 तथा 8 मई को देहात थाने में प्रकाश पटेल एवं क्रांति अहिरवार द्वारा कराई गई शिकायत पर आईटी एक्ट की विभिन्न धाराओं एवं 420, 417 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर के जांच में लिया गया था। प्रकरणों की गंभीरता को देखते हुए एसपी ने एडिशनल एसपी विवेक लाल के नेतृत्व में टीम गठित की थी। जिसमें कोतवाली टीआई एचआर पांडे परीक्षा दिन बीएसपी प्रिया सिंधी आर आई रविकांत शुक्ला को जिम्मेदारी सौंपी गई थी।
उपरोक्त टीम द्वारा आवेदकों के खातों मैं की गई फ्रॉड गिरी की जांच के दौरान लेनदेन की जानकारी के आधार पर संदेही हटरी गांव निवासी अनिकेत शर्मा को पकड़कर पूछताछ की गई। जिस पर उसने एसबीआई सागर नाका शाखा के दो दर्जन से अधिक खाताधारकों के नेट बैंकिंग अकाउंट हैक करके राशि रोजर पै गेटवे के माध्यम से करीब 3 लाख रुपए का फ्रॉड करके गोल्ड खरीदी किए जाने की बात स्वीकार की। इसी तरह SBI  अभाना के आधा दर्जन से अधिक खाताधारकों के अकाउंट हैक करके भी रुपए निकाले जाने की बात स्वीकार की। आरोपी अनिकेत शर्मा ने अपने दोस्त सागर नाका निवासी सत्यम शर्मा के साथ मिलकर करीब 1 साल में अनेक एटीएम मशीन हैक करके लाखो रुपए निकालने की बात स्वीकार की है।
एसपी हेमंत चौहान ने बताया कि इस तरह करीब 9 से 10 लाख रुपए हेराफेरी करके निकाले जाने की जानकारी सामने आई है यदि सही समय पर उपरोक्त आरोपियों को पुलिस द्वारा नहीं पकड़ा जाता तो बैंक प्रबंधन एवं जनमानस को और भी अधिक आर्थिक नुकसान होता। आरोपियों के कब्जे से फ्राड की रकम से खरीदी गई  दो यामाहा मोटरसाइकिल, 5 मोबाइल 1 ईयर वर्ल्ड बरामद किया गया है परंतु सोने का फिलहाल पता नहीं लग सका है। वही इनके कब्जे से चार एटीएम कार्ड 6 बैंक पासबुक बरामद की है। 
मामले के पर्दाफाश में उपनिरीक्षक सरस्वती, राघवेंद्र खमेंरिया, हवलदार राकेश पाठक, साइबर सेल से सिपाही राकेश अठ्या, सौरभ टण्डन, अजीत दुबे तथा कुलदीप ठाकुर, सूर्यकांत पांडे, लखन भारती, केतन जैन और सलमान की उल्लेखनीय भूमिका रही है। एसपी ने पूरी टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।
एटीएम में ब्लास्ट कर लाखों की लूट का दो माह बाद भी नहीं लगा सुराग..

दमोह जिला मुख्यालय से करीब 25 किलोमीटर दूर पटेरा थाना अंतर्गत देवडोंगरा गांव में भारतीय स्टेट बैंक के एटीएम को 6 मार्च 2020की रात बारूद से विस्फोट करके उड़ाकर लाखों रुपए की नकदी को लूट कर ले जाने का सनसनीखेज घटनाक्रम सामने आया था इस वारदात को उस समय अंजाम दिया गया था जब जिले भर की पुलिस पथरिया में आयोजित बुंदेली मेला महोत्सव में डांसर सपना चौधरी के प्रोग्राम की व्यवस्थाएं बनाने में व्यस्त थी। 
फिल्मी स्टाइल में हुई लाखों रुपए की लूट के मामले में पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया था। वही दमोह एसपी हेमंत चौहान के अलावा सागर आईजी एवं डीआईजी ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर जायजा लेते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु निर्देश दिए थे। लेकिन अभी तक इन आरोपियों की गिरफ्तारी तो दूर पतासाजी भी नहीं हो पाना पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ है। 
अब जबकि एटीएम हेकिंग से जुड़े फ्राडगिरी के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। ऐसे में अब उम्मीद की जा रही है कि पुलिस जल्द ही देवडोंगरा एटीएम में धमाका करके लाखों की रकम लूटने वालों का भी पता लगाने में सफलता हासिल करेंगी।

Post a comment

0 Comments