Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

मप्र में लॉक डाउन के बीच शिवराज केबिनेट का विस्तार.. राज्यपाल ने नरोत्तम मिश्रा, तुलसी सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, कमल पटेल और मीना सिंह को शपथ दिलाई.. मुख्यमंत्री ने दो दो संभागों का प्रभार सौंपा..

मप्र में  28 दिन बाद शिवराज केबिनेट का विस्तार.. 
भोपाल। मध्य प्रदेश केे मुख्यमंत्री के तौर पर 28 दिन पहले चौथी बार शपथ लेने वाले श्री शिवराज सिंह चौहान के प्रथम मंत्रिमंडल विस्तार में पांच मंत्रियों को कैबिनेट मैं जगह मिली है। मंगलवार दोपहर प्रदेश के राज्यपाल महामहिम श्री लालजी टंडन ने श्री नरोत्तम मिश्रा, तुलसी सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, कमल पटेल और मीना सिंह को राजभवन में आयोजित कार्यक्रम में पद तथा गोपनीयता की शपथ दिलाई।
शिवराज कैबिनेट मैं शामिल किए गए पांच मंत्रियों में शामिल नरोत्तम मिश्रा, कमल पटेल और मीना सिंह जहां पूर्व में भी  शिवराज कैबिनेट में मंत्री रह चुकी हैं। वही तुलसी सिलावट तथा गोविंद सिंह राजपूत पिछली कमल नाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री थे। सिंधिया समर्थक करीब दो दर्जन विधायकों द्वारा कांग्रेस तथा विधायक पद से इस्तीफा देने के बाद प्रदेश में कमलनाथ सरकार गिर गई थी। उसके बाद 23 मार्च को शिवराज सिंह चौहान ने पुनः मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। 
आज 21 अप्रैल को हुए शिवराज कैबिनेट के पहले विस्तार में मात्र पांच मंत्रियों को शपथ दिलाई गई है। जिनमें  श्री नरोत्तम मिश्रा  कमल पटेल  उर्मिला सिंह के अलावा सिंधिया समर्थक तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह शामिल हैं। माना जा रहा है निरंतर प्रदेश में बढ़ रहे हैं कोविड-19 के संक्रमण से कैसे निपटा जाए और इन परिस्थितियों में कैसे बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं जुटाई जाए इसे ध्यान में रखकर शिवराज कैबिनेट का तात्कालिक विस्तार करते हुए अनुभवी नेताओं को शपथ दिलाई गई है जिसका लाभ प्रदेश से कोरोना के सफाई के लिए किया जा सके।
*मंत्रियों को सौपे गए संभागों के प्रभार* 
1-नरोत्तम मिश्रा भोपाल और उज्जैन
2-तुलसी सिलावट इंदौर और सागर
3-कमल पटेल जबलपुर और नर्मदा पुरम
4--गोविंद सिंह राजपूत जबलपुर और ग्वालियर
5--मीना सिंह रीवा और शहडोल
यह रहेगी जवाबदेही-
- डिविजनल कमिश्नर, आईजी एसपी कलेक्टर स्वास्थ्य विभाग के साथ स्थानीय स्तर पर कोआर्डिनेशन
- जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद और बैठ के
- जनता से फीडबैक लेना
- अधिकारियों को समय समय पर निर्देशित करना
- जहां जहां निर्माण कार्य शुरू होंगे और खासकर कृषि से संबंधित काम पर फोकस करना।

Post a comment

0 Comments