Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

लॉक डाउन में पत्रकारिता की आड़ में नशीली दवाओं की तस्करी.. एक चैनल के नाम पर मीडिया की धौंस दिखाने वाले तीन फर्जी पत्रकार गिरफ्तार.. यूपी बॉर्डर पर छतरपुर की नोगांव थाना पुलिस की कार्यवाही से हड़कंप..

लॉक डाउन में कार से जारी थी नशीली दवाओं की तस्करी
छतरपुर। संपूर्ण बुंदेलखंड में इन दिनों मिलते-जुलते नाम वाले न्यूज़ चैनल तथा वेब पोर्टल की भरमार है। वही मोटी रकम लेकर कार्ड आईडी जारी करके किसी को भी पत्रकार बना देने का धंधा फल फूल रहा है। वही तथा कथित लोग फर्जी कार्डों की दम पर अपने वाहनों में प्रेस लिखकर पुलिस और अधिकारियों को गुमराह करके काले कारनामों को अंजाम देने से नही चूक रहे है। खासकर कोरोना संक्रमण के लाक डाउन के दौरान फर्जी प्रेस गिरी का या धंधा धड़ल्ले से चल रहा है।
छतरपुर जिले की नौगांव थाना पुलिस ने मीडिया की आड़ में नशे के सौदागर 3 फर्जी पत्रकारो को गिरफ्तार करते हुए इनकी कार को भी जप्त किया है। पुलिस द्वारा की गई इस कार्यवाही को यह लोग पत्रकार बता कर उंगलियां ना उठा सके इसके लिए कार्यवाही के पूर्व सागर आईजी अनिल शर्मा और छतरपुर एसपी कुमार सौरभ के संज्ञान में मामला लाकर मार्गदर्शन भी प्राप्त किया गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार  नोगांव थाना पुलिस को  मुखबिर से सूचना मिली थी कि यूपी बॉर्डर से एक सफेद कलर की कार में नशीली दवाओं की अनेक दिनों से लगातार तस्करी की जा रही है। जो देखने के तौर पर तो कफ सिरप जैसी है लेकिन लॉक डाउन के दौरान शराब दुकान बंद होने की वजह से  इनका उपयोग नशे के तौर पर किया जा रहा है। जिसके बाद पुलिस ने नोगाव थाना के पिपरी रिपटा पर यूपी से आ रही MP 16 CB 2618 मारुति शिफ्ट डिजायर कार को रोक कर जब तलाशी ली  तो बड़ी संख्या में नशीली दवाओं की सिरप बरामद हुए।
इस दौरान आरोपी राममूर्ति यादव, सुनील रैकवार, इरफान अजीजुद्दीन ने अपने आपको लाइव इंडिया 24×7 चैनल का पत्रकार बताकर तथा कार्ड दिखाकर जांच कर रहे पुलिस कर्मियों को पत्रकारिता की धौंस दिखाने की भी कोशिश की। जिस पर उनके कार्ड वरिष्ठ अधिकारियों को व्हाट्सएप करते हुए मार्गदर्शन लेकर कार्यवाही करते हुए ड्रग इंस्पेक्टर को बुलाकर नशीली दवाओं की जांच कराई जा रही है। जनसंपर्क विभाग के कार्यालय में भी इनके कार्डों का पंजीयन नहीं मिलने से भी यह साफ हो गया है कि पत्रकारिता के कार्डों की दम पर इस तरह के गलत कार्य किए जा रहे थे।
 मामले में नौगांव थाना पुलिस द्वारा 390 पीस सिरप  जिस की कीमत 46 हजार रुपए बताई जा रही है  को  जब्त करते हुए धारा 188 के अलावा 51B आपदा प्रबंधन अधिनियम,  8/2 एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्यवाही की है । पुलिस द्वारा प्रेस लिखी गाड़ियों और तथाकथित चैनलों के मीडिया कार्ड के नाम पर धौंस दिखाने वालों को पकड़कर की गई कार्रवाई से जहां फर्जी पत्रकारों में हड़कंप का माहौल बना हुआ है वही स्थानीय मीडिया कर्मियों ने इस तरह की जांच मुहिम सभी टोला नाको और जिले की सीमा में आने वाले प्रेस लिखे वाहनों पर लगातार जारी रखने की एसपी से अपेक्षा की है वही सक्रिय मीडिया कर्मियों से इस तरह की जांच में सहयोग की अपील की गई है। छतरपुर से मनोज सोनी की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments