Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

जबलपुर लोकायुक्त ने रिश्वतखोर मेडिकल ऑफिसर पर शिकंजा कसा.. नर्स के ट्रांसफर के बदले में उसके पति से.. 11000 रुपये की रिश्वत लेते हुए.. सरकारी अस्पताल के अंदर रंगे हाथों पकड़कर की कार्रवाई ..

11000 रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा..
जबलपुर। एक बार फिर लोकायुक्त ने रिश्वतखोरी के दंश पर शिकंजा कसते हुए एक मेडिकल ऑफिसर को 11000 रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा है। रिश्वत की रकम एक नर्स के ट्रांसफर के बदले में उसके पति से ली जा रही थी।
लोकायुक्त डीएसपी जेपी वर्मा ने बताया कि जबलपुर के बिलपुरा कॉलोनी रांची निवासी दीपक ठाकुर ने आवेदन दिया था कि शासकीय अस्पताल रांझी जबलपुर में पदस्थ मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर शैलेंद्र दीवान के द्वारा उनकी पत्नी संगीता गोटिया जो प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कनवारा सब सेंटर जोबी कला कटनी में नर्स के पद पर पदस्थ हैं के जबलपुर स्थानतरण कराने के एवज 12500 रुपये में रिश्वत की मांग की जा रही है। उपरोक्त शिकायत पर लोकायुक्त टीम ने अपना जाल बिछाते हुए 3 मार्च को शासकीय अस्पताल रांची में रांची में 11000 रुपये की रिश्वत लेते हुए रिश्वतखोर मेडिकल ऑफिसर शैलेंद्र दीवान को रंगे हाथों दबोच ने में देरी नहीं की। 

आरोपी डॉक्टर के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत कार्यवाही की गई है वहीं आरोपी को पकड़ने की कार्यवाही में उप पुलिस अधीक्षक जेपी वर्मा, निरीक्षक ऑस्कर किंडो, आरक्षक शरद पांडे, अमित गावड़े, दिनेश दुबे, विजय बिष्ट और राकेश विश्वकर्मा शामिल रहे।

Post a comment

0 Comments