Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

साथ जीने का मौका नहीं मिला तो साथ मरकर दुनिया से विदा हो गए.. प्रेमी युगल ने एक ही रस्सी से फांसी लगाकर जान दी.. प्रेमिका का विवाह दूसरी जगह तय होने से हताश प्रेमी जोड़े का शव फांसी पर झूलता मिला.. बमीठा पुलिस जांच में जुटी

 प्रेमी युगल ने एक ही रस्सी से फांसी लगाकर जान दी
छतरपुर। साथ जीने मरने की कसमें खाकर सात जन्मो तक साथ निभाने का संकल्प ले चुके प्रेमी जोड़े को जब यह महसूस हुआ कि शायद परिजन उन्हें साथ जीते नहीं देख सकेंगे तो उन्होंने साथ में मौत को गले लगा लिया। बमीठा थाना अंतर्गत शनिवार को आम के पेड़ से फांसी के फंदे पर झूलते युवक-युवती के शव मिलने की खबर से सनसनी के हालात निर्मित हो गए घटना की जानकारी पुलिस को दिए जाने के साथ मृतकों की पहचान स्थानीय युवक युवती के तौर हुई। पुलिस ने पंचनामा कार्यवाही करते हुए शवों को पोस्टमार्टम के लिए राजनगर भेज दिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार हरपुरा निवासी सुषमा की शादी जखरोंन हीरापुर निवासी देवेन्द्र के साथ 11 फरवरी को होनी थी। परिवार में शादी की सभी तैयारियां चल रही थी लेकिन सुषमा के दिमाग में कुछ और ही चल रहा था। शनिवार को फांसी के फंदे पर झूलते मिले शव की शिनाख्त सुषमा के तौर पर की गई वही मृतक युवक की पहचान नीरज पाल के तौर पर हुई। बताया जा रहा है कि इन दोनों के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था तथा दोनों शादी करना चाहते थे। 
साथ जीने मरने का संकल्प ले चुके प्रेमी जोड़े को जब यह लगा कि परिजन उनकी शादी को तैयार नहीं हैं तथा प्रेमिका का विवाह दूसरी जगह जा कर दिया गया है उन्होंने यह आत्मघाती कदम उठाने में देर नहीं की। इस दुखद घटनाक्रम के बाद गांव में गमगीन माहौल बना हुआ है तथा सभी लोग साथ जीने मरने का संकल्प लेने वाले प्रेमी युगल की चर्चा करते नजर आ रहे हैं।

Post a comment

0 Comments