Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

अर्जुन निर्माण के हाईवा की टक्कर से स्कूली छात्र की मौत के बाद गुस्साई भीड़ ने हाइवा में आग लगाई.. जिला अस्पताल पहुचे विधायक राहुल सिंह के आरोपों से भरपूर बयान बाजी से राजनीति गरमाई..

छात्र की मौत के बाद भीड़ ने हाइवा में आग लगाई-
दमोह बालाकोट सड़क का निर्माण कार्य कराने वाली अर्जुन निर्माण कंपनी के तेज रफ्तार हाईवा की चपेट में आने से मासूम स्कूली छात्र की मौत के बाद गुस्साए लोगो द्वारा हाईवा के अगले हिस्से में आग लगा देने का घटनाक्रम सामने आया है। वही मासूम बच्चे का शव जिला अस्पताल पहुंचने के बाद कांग्रेस नेताओं तथा विधायक राहुल सिंह द्वारा लगाए गए आरोपो के बाद मामले में राजनैतिक रंग भी चढ़ता नजर आया।
जिला अस्पताल पहुंचे विधायक राहुल सिंह ने इस घटना के बाद पूर्व मंत्री जयंत मलैया को भी जहां रेत माफिया के साथ खींचने का प्रयास किया वही उनके बेटे सिद्धार्थ मलैया की अगुवाई वाली अर्जुन निर्माण कंपनी के डंपर के चालक पर शराब के नशे में लापरवाही से ड्राइविंग करने और मासूम की जान ले लेने के आरोप लगाए। इस दौरान वह पिछले कुछ दिनों से रेत को लेकर चल रही राजनीतिक बयान बाजी का उल्लेख करते हुए कहने से भी नहीं चूके की अब साफ हो गया है की रेत माफिया को संरक्षण देने वाले और हाईवे के मालिक ठेकेदार कौन लोग है।
उल्लेखनीय है कि दमोह बालाकोट रोड पर बुधवार दोपहर चौरई गांव के समीप अर्जुन निर्माण के सड़क निर्माण कार्य में लगे हाइवा क्रमांक एमपी 34 एच 0157 की चपेट में आने से करीब 7 वर्ष मासूम छात्र आदित्य लोधी की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई थी जिसके बाद गुस्साए लोगों ने हाईवा के अगले हिस्से में आग लगा दी थी जिसकी जानकारी मिलने पर दमोह से फायर बिग्रेड ने पहुंच पर आग पर काबू पाया।
 इधर मासूम का शव जिला अस्पताल पहुंचते ही विधायक राहुल सिंह के साथ अनेक कांग्रेसी नेता जिला अस्पताल पहुंच गए जिन्होंने परिजनों से घटना की जानकारी लेते हुए उन्हें सांत्वना दी वही इस पूरे हादसे के लिए अर्जुन निर्माण कंपनी के हाईवा चालक के नशे में होने के आरोप भी लगाए इधर मृतक के परिजनों ने भी सड़क बनाने वाली कंपनी के वाहन चालकों पर लापरवाही पूर्वक गाड़ी चलाने और धमकाने जैसी बातें कहीं।
 पूरे घटनाक्रम को लेकर एसपी विवेक सिंह का कहना था कि पूरे मामले की जांच कर रही है और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।
मौके पर पहुंची पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई करते हुए शव को जिला अस्पताल भिजवा कर लोगों के बयान लेकर जांच कार्यवाही शुरू की इस दौरान कुछ लोगों ने हाईवा चालक द्वारा घटना के साक्ष्य मिटाने के लिए हाईवा में आगजनी किए जाने के आरोप भी लगाए। कुल मिलाकर इस दुखद घटनाक्रम के बाद कांग्रेस विधायक राहुल सिंह को दमोह बालाकोट तथा अभाना तेंदूखेड़ा सड़क निर्माण कार्य कछुआ गति से  घर आने वाली कंपनी के पेटी कांट्रेक्टर अर्जुन निर्माण कंपनी और उसके संचालक पूर्व मंत्री पुत्र सिद्धार्थ मलैया पर निशाना साधने का एक और मौका मिल गया है। अभिषेेक जैन के साथ अजीतसिंह राजपूत की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments