Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

कांग्रेस ने झुन्नीलाल पटेल को ग्रामीण ब्लॉक अध्यक्ष बनाया.. हटाए गए अध्यक्ष नितिन मिश्रा ने विधायक, जिलाध्यक्ष, संगठक पर निशाना लगाया.. निष्कासन को कार्यकर्ताओं की आवाज का दमन बताया..

झुन्नीलाल पटेल ग्रामीण ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त
दमोह। कांग्रेस के ग्रामीण मण्डल अध्यक्ष पद से नितिन मिश्रा के निष्कासन के दूसरे ही दिन झुन्नीलाल पटेल को ग्रामीण अध्यक्ष नियुक्त किए जाने की घोषणा कर दी गई है इधर निष्कासित पूर्व अध्यक्ष नितिन मिश्रा की तरफ से भी प्रतिक्रिया सामने आई है जिसमें उन्होंने अपने निष्कासन के लिए विधायक राहुल सिंह से लेकर जिलाध्यक्ष अजय टंडन और संगठन प्रभारी सतीश जैन कल्लन पर निशाना साधा है।
जिला कांग्रेस कार्यालय से जारी विज्ञप्ति के अनुसार प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय टण्डन और विधायक राहुल सिंह की अनुशंसा पर ग्रामीण परिवेश के समर्पित कांग्रेस कार्यकर्ता दिग्सर के झुन्नीलाल पटेल को ब्लॉक ग्रामीण कांग्रेस का अध्यक्ष नियुक्त किया है। इनकी नियुक्ति के बाद जिला कांग्रेस कार्यालय में आयोजित पार्टी नेताओ, पदाधिकारियों और विभिन्न मोर्चा संगठनों की बैठक में नवनियुक्त ब्लॉक अध्यक्ष का फूल माला पहनाकर स्वागत किया गया।
इस मौके पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय टंडन, जिला संगठन प्रभारी सतीश जैन कल्लन, कार्यकारी अध्यक्ष संजय चौरसिया, राजेश तिवारी, शाहिद नूर, शहर अध्यक्ष यशपाल ठाकुर, लालचंद राय, महिला कांग्रेस अध्यक्ष निधि श्रीवास्तव,  सेवादल अध्यक्ष वीरेंद्र ठाकुर, विधायक प्रतिनिधि पवन गुप्ता, प्रवक्ता आशुतोष शर्मा, युवक कांग्रेस अध्यक्ष मंजीत यादव, राजेंद्र विदोलिया, दीपक मिश्रा, नौशाद खान, मीडिया प्रभारी प्रफुल्ल श्रीवास्तव, डिंपल सेन आदि की खास मौजूदगी रही।
निष्कासन कार्यकर्ताओं की आवाज का दमन- नितिन 
 इधर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष पद से निष्कासन के बाद नितिन मिश्रा ने प्रतिक्रिया देते हुए जारी प्रेस विज्ञप्ति में  इस कारवाई को कार्यकर्ताओ की आवाज का दमन करना बताया है। निष्कासन को गलत बताते हुए उन्होंने कहा कि पूर्व नियोजित षड्यंत्र के तहत विधायक राहुल सिंह, जिला अध्यक्ष अजय टंडन, संगठन मंत्री कल्लन जैन ने दुर्भावना से कार्रवाई की है। यह विवाद  भाजपा नेता हाकम सिंह को बांदकपुर के कार्यक्रम में अध्यक्षता कराने और स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ताओं की उपेक्षा से प्रारंभ हुआ था वही ब्लॉक अध्यक्ष द्वारा अस्पताल, टोल रोड, नगर पालिका जैसे मुद्दे उठाने और मुख्यमंत्री कमलनाथ की मंशा अनुसार रोजगार की मांग उठाने पर इसने बड़ा रूप ले लिया नितिन मिश्रा का कहना है कि विधायक के कुछ लोगों में घिरे रहने से आम कार्यकर्ता निराश हैं

 नितिन के अनुसार कांग्रेस में जनहित के मुद्दों को उठाने वालों को शांत करने का प्रयास किया जा रहा है। ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष पद से निष्कासन का आदेश अभी उनको नहीं मिला है और नए अध्यक्ष की नियुक्ति भी कर दी गई चुनाव के समय जनता से किए वायदों की याद दिलाना, जनहित के आंदोलन करना और कार्यकर्ताओं के स्वाभिमान की बात करना यदि अनुशासनहीनता है तो वे उसे स्वीकार करते हैं और उनके यह कार्य जारी रहेंगे। नितिन ने प्रदेश स्तर पर विधायक, जिला अध्यक्ष तथा संगठन मंत्री की कार्यशैली को लेकर भी अपना पक्ष रखने की बात कही है
कुल मिलाकर कांग्रेस में निष्कासन की राजनीति की यदि बात की जाए तो महिला कांग्रेस की अध्यक्ष निधि श्रीवास्तव को भी पूर्व में पद से हटाए जाने जैसे हालात सामने आने के बाद वापिसी का उदाहरण सबके सामने है। वहीं पार्टी के अधीकृति प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव लड़ने वालों को जब कांग्रेस वापिस लेती रही है तो ब्लाक अध्यक्ष पद से हटाकर 6 साल के लिए निष्काषित किए गए नितिन मिश्रा की भी कब कांग्रेस में फिर वापसी हो जाए इससे इंकार नहीं किया जा सकता। वैसे भी राजनीति में इनके गाड फादर की पकड़ भोपाल दिल्ली दरबार तक होने की बात किसी से छिपी नहीं है। फिलहाल कांग्रेस के इस अंदरूनी घमासान का मजा भाजपा के लोग जहां खुलकर ले रहे है वहीं नितिन की सक्रियता से जलन रखने वाले कांग्रेस के ही कुछ नेता उनके निष्कासन के बाद राहत का अनुभव लेते भी नजर आ रहे है। अटल राजेंद्र जैन

Post a comment

0 Comments