Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

स्वास्थ्य विभाग में क्या बिना पैसे के दूसरे मंत्री के कहने पर भी तबादले नही होते.. ? महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने कार्यकर्ताओं से कहा.. ट्रांसफर में पैसे लगने लगे हैं अतः सस्पेंड करा देती हूं..

 मंत्री इमरती देवी का चौंकाने वाला बयान चर्चाओं में-
भोपाल/ग्वालियर। मप्र में दूसरे विभाग के ट्रांसफर कराने के लिए क्या मंत्री को भी रुपए लगने लगे है ? इस बात का अंदाजा प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी के उस बयान से लगाया जा सकता है जिसमें उन्होंने यह कहकर चौंका दिया कि ट्रांसफर में पैसे लगने लगे हैं इसलिए सस्पेंड ही करा देती हूं।
डबरा के सिविल हॉस्पिटल से 24 सितंबर को एक बैठक के बाद बाहर निकल रही महिला एवं बाल विकास विभाग की मंत्री इमरती देवी से वहां के कांग्रेस कार्यकर्ताओ ने अस्पताल के डॉक्टर और स्टाफ के द्वारा बिना लेनदेन के इलाज नहीं करने की शिकायत करते हुए निवेदन करते हैं कि ऐसे भ्रष्ट डॉक्टर का तबादला करा दो। जिस पर मंत्री जी दार्शनिकों जैसे अंदाज में कहती हैं कि ट्रांसफर में पैसे लगने लगे है। अतः इनको सस्पेंड करा देती हूं। 
मंत्री जी की बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कमल नाथ सरकार में एक विभाग के मंत्री दूसरे भाग के मंत्रियों की भी सिफारिश नहीं सुनते। तथा एक विभाग के मंत्री को दूसरे विभाग के मंत्री के पास तबादले जैसे काम कराने के लिए क्या पैसे देने पड़ते हैं ? हालांकि इस मामले में मंत्र इमरती देवी द्वारा स्वास्थ्य विभाग के सीएमएचओ जांच के आदेश देते हुए डॉक्टर और स्टॉप पर दोषी पाए जाने पर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।
सोशल मीडिया पर लगातार वायरल हो रहे इस वीडियो के बाद मंत्री इमरती देवी की तरफ से ना तो कोई सफाई सामने आई है और ना ही इस वीडियो का खंडन। ऐसे में इस बात की भी पुष्टि होती नजर आ रही है जिसमें पूर्व में कांग्रेस के ही दो विधायक प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री पर रुपए लेकर ट्रांसफर करने के आरोप लगाते रहे हैं। अभिशेक पाठक की रिपोर्ट

Post a comment

1 Comments

  1. सही बोला मंत्री महोदया ने काम कोई भी हो दाम लगेंगे

    ReplyDelete