Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

रेलवे में नौकरी का झांसा देकर लाखों की ठगी करने वाली महिला गिरफ्तार.. दमोह, भोपाल, ग्वालियर के दर्जनों लोगों को फंसा चुकी है जाल में.. रेलवे के अधिकारियो तक पहुच रखने वाली विनीता राव का नाम भी आया सामने..

रेलवे के फर्जी नियुक्ति पत्र देकर लाखो का चूना लगाया -
दमोह/भोपाल/ ग्वालियर। बेरोजगार युवाओं से नौकरी के नाम पर झांसा देकर लाखो रुपये ठगने वाली एक शातिर महिला को दमोह पुलिस ने भोपाल से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। ठगी के शिकार युवको का कहना है कि नौकरी का झांसा देने के बाद उनसे लाखो की रकम लेकर फर्जी नियुक्ति पत्र देकर धोखाधड़ी की गई है।  जबकि पुलिस गिरफ्त में आने के बाद ग्वालियर निवासी ममता रैकवार नाम की यह महिला भोपाल की विनीता राव को गिरोह का सरगना बताने के साथ उसके रेलवे में अधिकारी होने और बड़े अधिकारियो से संबन्ध होने की बात भी कर रही है। यदि पुलिस इस महिला के बयानों के आधार पर गहराई से छानबीन करती है तो रेलवे में नोकरी के नाम पर लंबे समय से फर्जीवाड़े करने वाले गिरोह का खुलासा होने में देर नही लगेगी। फिलहाल पहली नजर में जालसाजी के तार रेलवे के कतिपय लोगो से जुड़ते नजर आ रहे है।
 दमोह के बजरिया बार्ड निवासी राजेश चौरसिया ने कुछ दिनों पूर्व एक लिखित आवेदन दमोह एसपी को सौंप कर बताया था कि भोपाल में निवासरत ममता रैकवार ने उसे व उसके करीब दर्जन भर साथियों को रेलवे में नौकरी देने का झांसा देकर 38 लाख 20 हजार रुपये हड़प लिए। बाद में सभी को जो फर्जी नियुक्ति पत्र दिए गए। जिसके बाद महिला से शिकायत करने पर उसके द्वारा गाली गलौज करते हुए फर्जी मामले में फंसा देने की धमकी दी जाने लगी। जिस पर पीड़ित लोगों ने दमोह एसपी को शिकायत पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई थी।
दमोह एसपी विवेक सिंह ने एएसपी विवेक लाल एवं सीएसपी मुकेश अबिद्रा के निर्देशन में एक टीम गठित की जिसने भोपाल पहुंचकर आरोपी महिला ममता रैकवार का सुराग लगाते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया और बुधवार को दमोह ले आए। कोतवाली टीआई एचआर पांडे ने बताया कि जब इस महिला के बारे में जानकारी खंगाली गई तो पता चला यह शातिर महिला ग्वालियर, भोपाल सहित अन्य जिलों में भी इस तरह की ठगी कर चुकी है। फिलहाल इसे दमोह लाने के बाद उसे न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लेने की कोशिश की जा रही है। 
इस जालसाज महिला के  गिरोह से जुड़े और साथियों के बारे में फिलहाल पता नहीं लग सका है। उम्मीद जताई जा रही है कि रेलवे में नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी करने वाला एक बड़ा गिरोह है लंबे समय से कार्य कर रहा है।  फिलहाल पुलिस के जाल में फंसी यह महिला भी भोपाल की विनीता राव का नाम ले रही है। जिसके रेलवे के अफसरों से खास ताल्लुकात बताए जा रहे है। यदि पुलिस गहराई से छानबीन करें तो इस गिरोह के अन्य सदस्यों तक पहुंचने तथा रेलवे में नौकरी लगवाने के नाम पर संचालित नेटवर्क का पूरी तरह से भंडाफोड़ होने में देर नही लगेगी।

Post a comment

0 Comments