Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

बुंदेलखंड की बालाओ ने हनीट्रैप मामले में सबको पीछे छोड़ा.. इंदौर पुलिस के शिकंजे में फंसी 5 ब्लैक मेलर.. सागर, छतरपुर, कटनी से गहरा रिश्ता.. दमोह, पन्ना से भी जुड़े है तार..14 लाख नगद, कार, लेपटॉप, मोबाईल जब्त..

 अभी तक 5 महिला व एक पुरुष सहित कुल 06 आरेापी गिरफ्तार-
इंदौर। मध्य प्रदेश के राजनैतिक गलियारों से लेकर प्रशासनिक व व्यापारिक गलियारों तक हनी ट्रैप के जरिए अपनी गहरी जड़ें मजबूत कर चुकी इन बालाओं ने कभी सपने में सोचा भी नहीं होगा कि किसी अधिकारी को इस तरह ब्लैकमेल करने के बाद अधिकारी पुलिस तक पहुंच कर सारे खुलासे करने का साहस दिखा देगा और उनकी सालो से चली आ रही ब्लैक मेलिंग की कारगुजारीयों की परतें खुल जाएंगी।
 इंदौर के अधिकारी को ब्लैकमेल करने के मामले में एटीएस की मदद से पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही में अभी तक पांच बालाएं और एक कार ड्राइवर के ऊपर पुलिस का शिकंजा कसा जा चुका। मूल रूप से सागर छतरपुर और कटनी की निवासी यह युवती महिलाए भोपाल इंदौर में शिफ्ट होने के बाद मालदार लोगों को अपनी  रूप काया की अपने जाल में फंसा कर आपत्तिजनक फोटो वीडियो बना लेती और फिट वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करती थी। इंदौर पुलिस ने इन के कब्जे से लैप्टाप, मोाबईल व नगदी कुल 14 लाख 17 हजार रुपये सहित क्रेटा कार बरामद कर कब्जे में ली है। वही आगे करवाई जारी है।
इंदौर के थाना पलासिया में 17 सितंबर को निगम के एक इंजीनियर ने हनीट्रैप के जरिए ब्लैक मेलिंग करते हुए तीन करोड़ की डिमांड पूरी नही करने पर आरती दयाल के द्वारा आपत्तिजनक वीडियो क्लिप को वायरल कर देने की धमकी दिए जाने की लिखित शिकायत की गई थी।
जिसकी जांच के बाद थाना पलासिया में महिला आरती दयाल एवं अन्य के विरुध्द अपराध क्रमाँक  405/19 धारा 419, 420, 384, 506, 120-बी एवं 34 भादवि के तहत अपराध पंजीबध्द कर विवेचना मे लिया गया था। प्रकरण में आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम ने जाल बिछाया तथा आरोपिया आरती दयाल तीन करोड़ रूपये की पहली किस्त 50 लाख रूपये लेने के लिये होंडा क्रेटा कार क्रमांक MP 16 / 4441 से इंदौर आई। जिसे कार सहित पुलिस टीम ने गिरफ्त में लेने में कोई गलती नही की।
पुलिस ने आरती दयाल पति पंकज दयाल उम्र 29 साल निवासी सागर लेंडमार्क मिनाल रेसीडेन्सी भोपाल, मोनिका यादव पिता लाल यादव उम्र 18 साल निवासी ग्राम सवस्या तहसील नरसिंहगढ जिला राजगढ़, ओमप्रकाश कोरी पिता रामहर्ष कोरी उम्र 45 साल निवासी आदमपुर छावनी थाना बिलखिरिया भोपाल को पुलिस अभिरक्षा मे लेकर की गई प्रारंभिक पूछताछ में आरोपिया आरती दयाल ने बताया कि वह विगत एक साल से मिनाल रेसीडेनसी भोपाल मे रहती है तथा एनजीओ का काम करती है। वह बीएससी तक पढी है उस ने खुलासा किया कि उस की साथी श्वेता जैन निवासी मिनाल रेसीडेन्सी ने उसे करीब 8 माह पहले नगर निगम इंदौर के अधिकारी से मिलवाया था।
 जिनकी मुलाकात के बाद उन दोनों में परस्पर फोन पर बातचीत शुरु हो गई तथा आरती दयाल ने अधिकारी को मुलाकात के लिये जोर दिया। मुलाकात के लिये जब आरेापिया आरती अपनी संगिनी मोनिका के साथ नगर निगम अधिकारी से मिलने के लिये इंदौर पहुंची तो मुलाकात के दौरान ही उन्होंनें छुपके एक वीडियों क्लिप बना ली तथा वापस भोपाल  पहुंचने के बाद फरियादी से 03 करोड़ रूपयों की मांग की अन्यथा वीडियो वायरल करने की धमकी देकर छवि धूमिल करने की बात कही। आरोपिया की सहेली मोनिका यादव ने पूछताछ में बताया कि वह बीएससी की पढ़ाई भोपाल से कर रही है तथा विगत 01 साल से आरती को जानती है। इस प्रकरण में आरेापिया मोनिका, आरती दयाल के साथ उस समय भी इंदौर आई थी। जब उन्होंनें छुपकर नगर निगम अधिकारी का वीडियों बना लिया था। 
आरोपी आरती दयाल के बताये अनुसार, उसकी महिला साथी (4) श्वेता जैन पति विजय जैन उम्र 39 साल निवासी जे 394 मिनाल रेसीडेंसी भोपाल की भी इसमें संलिपत्ता पाई गई । जिसके चलते महिला आरोपी श्वेता जैन पति विजय जैन को पुलिस अभिरक्षा मे लेकर पूछताछ की गई। आरेापिया महिला श्वेता जैन के कब्जे से कुल 14,17000/- (चौदह लाख  सत्तरह हजार रू) रुपये नगद व मोबाईल फोन बरामद हुयेे हैं। इसी तरह के काम मे लिप्त आरोपियाओं की अन्य साथीदारान युवतियां (5) श्वेता जैन पति स्वपनिल जैन उम्र 48 साल निवासी रेवेरा टाउनि भोपाल एवं (6) बरखा सोनी पति अमित सोनी उम्र 34 साल निवासी कोटरा सुल्तानाबाद को गिफ्तार किया गया है। आरोपीगणों ने पूर्व में अन्य किन लोगाें के साथ इस प्रकार की वारदातें कर ब्लैकमेल किया है इस संबंध में पुलिस रिमाण्ड लिया जाकर, विस्तृत पूछताछ की जा रही है। आरोपी ओमप्रकाश कोरी पिता रामहर्ष कोरी उम्र 45 साल निवासी आदमपुर छावनी थाना बिलखिरिय ने पूछताछ में बताया कि वह आरती को विगत 1 साल से जानता है तथा उसकी क्रेटा कार चलाता है। 

 पकड़ी गई आरोपी बुंदेलखंड के छतरपुर सागर कटनी की मूल निवासी रही है। इन में एक के पूर्व में किशोर न्याय बोर्ड सागर का मेंबर रहने, कई एनजीओ चलाने सागर के एक बड़े अधिकारी से क्लोज रिश्ते व दमोह आना जाना भी पूर्व में चर्चाओं में रहा है। वहीं इनके संपर्क में दमोह की भी कुछ युवतियों के रहने तथा उनके इंदौर आने-जाने रहने और उनके द्वारा भी कई लोगों को हनीट्रैप का शिकार बनाए जाने के मामले पूर्व में चर्चाओं में आते रहे है। लेकिन बदनामी के डर से लोक शिकायत करने से बचते रहे। इधर पन्ना विधायक पूर्व मंत्री के बंगले को ब्रोकर के जरिए किराए पर लिए जाने की वजह से मामले का संबंध पन्ना से भी जुड़ता नजर आ रहा है। इंदौर पुलिस यदि बिना किसी राजनितिक दबाव  के मामले में गहराई से पड़ताल करें तो अनेक नेता अधिकारी ठेकेदार जैसे सफेदपोश लोग बेनकाब होते चले जाएंगे। वही माया के जाल में फंसा कर ब्लैक मेलिंग के जरिए लाखों की कमाई करने वाली लिंक की कड़ियाँ भी खुलती चली जायेगी। जल्द एक और ताजे अपडेट के साथ मिलते है..

Post a comment

0 Comments