Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

बाइक की डिमांड ने दूल्हे को हवालात पहुचाया इधर कार नहीं मिलने पर बहू को जिंदा जलाया.. दहेज लोभियों के खिलाफ कारवाई की मांग को लेकर दो पीड़ित परिवारों ने एसपी का दरवाजा खटखटाया..

दहेज में कार नहीं मिलने पर बहू को जिंदा जलाया .. !
दमोह शादी के बाद दहेज की डिमांड को लेकर लड़कियों को किस तरह ससुराल वालों के ताने सुनने पड़ते हैं प्रताड़ना सहनी पड़ती है इसका एक और मामला सामने आया है। दहेज में कार नहीं मिलने पर ससुराल में बहू को जिंदा जला दिए जाने के मामले में पीड़ित परिजनों ने एसपी आफिस पहुंचकर न्याय की गुहार लगाते हुए लोभियों के खिलाफ दहेज प्रताड़ना और हत्या का मामला दर्ज करकेगिरफ्तारी की मांग की है ।
दमोह के बजरिया वार्ड निवासी अहकाम अली की बहिन का विवाह साल भर पहले 11 अप्रैल 2018 को  रैपुरा निवासी फिरोज खान से हुआ था। पहली विदा के बाद से ही लड़के वाले फोर व्हीलर की डिमांड करने लगे थे। जिससे पति पत्नी के बीच संबंध बिगड़ने के बाद लड़की अपने मायके में आकर रहने लगी थी। वही विवाद महिला परामर्श केंद्र में पहुंचने फिर सुलह होने तथा फिर बात बिगड़ने पर लड़की पक्ष के द्वारा दमोह कोर्ट में भी आवेदन दिया गया था। 8 दिन पहले आपसी सुलह करके लड़का फिरोज दमोह आकर लड़की को अपने साथ रैपुरा ले गया। इसके बाद आज लड़की के परिजनों को खबर लगी कि आज उसकी आग से जलकर मौत हो गई है।
लड़की के परिजनों ने एसपी ऑफिस जाकर लगाई गुहार
  दमोह एसपी ऑफिस पहुंचे अहकाम अली ने रैपुरा निवासी  फिरोज खान उसकी बहन जुबेदा, माँ  नूरजहां,  पिता सुलेमान खान सहित  अन्य ससुराल वालों पर दहेज प्रताड़ना के चलते आग लगाकर बहु को जला कर मार डालने की शिकायत आते हुए करते हुए मामला दर्ज करके कार्रवाई की मांग की है। सीएसपी मुकेश अविद्रा को सौंपी गई लिखित शिकायत में रैपुरा निवासी फिरोज खान व परिजनों पर कार्यवाही कर दहेज प्रताड़ना और हत्या का मामला दर्ज करके ससुराल वालों की गिरफ्तारी की मांग की गई है ।

बाइक की डिमांड ने दूल्हे को हवालात पहुचाया-
दमोह। कन्याओं की कमी के चलते युवकों के लिए दुल्हन की तलाश कर रिश्ता पक्का करना परिजनों के लिए एवरेस्ट फतेह से कम नहीं है वही दूल्हे के रिश्तेदारों द्वारा की जाने वाली दहेज की डिमांड अक्सर रिश्तों में खटास के साथ बारात को बेरंग वापस कराने में अहम भूमिका का निर्वहन करते हैं ऐसे ही कुछ घटनाक्रम के बीच एक दूल्हे के हवालात पहुंच जाने और बरात को बैरंग वापस लौट जाने के बाद दुल्हन में एसपी का दरवाजा खटखटा कर दूल्हे को जेल भेजने की फरियाद लगाई है। 
दमोह में बीती रात आई एक बारात के रंग में भंग डालते हुए दूल्हे के चचेरे भाई ने महंगी बाइक तथा सोनें की चैन  की डिमांड रख दी। जिस पर दुल्हन ने ऐसे लालची लोगों के साथ जाने से मना कर दिया तथा पुलिस को शिकायत करते हुए बारात को बैरंग वापस करा दिया। सागर नाका चौकी पुलिस अपने साथ दूल्हे राजा को ले जाकर जांच करने लगी। रात भर पुलिस हवालात की हवा खाने वाले दूल्हा जोरतला निवासी हीरालाल पटेल का कहना था कि उसके द्वारा न बाइक मांगी गई और न किसी प्रकार की दहेज की डिमांड की गई। बाइक की मांग करने वाला उसका चचेरा भाई था जो बारात में आया था। उससे उनका किसी प्रकार का कोई लेना देना नहीं है। तथा इतने सबके बाद भी हुआ है सब कुछ भूल कर शादी करने को तैयार है। 
 प्रकरण की नजाकत को समझते हुए सागर नाका पुलिस ने दोनों पक्षों में सुलह की संभावना के चलते प्रकरण में जांच जारी रखी। इधर दुल्हन तथा उसके भाई केशु पटेल को जब है पता लगा कि दूल्हे को अभी जेल नहीं भेजा गया है, तथा हवालात में है तो उसने अपने परिजनों के साथ सागर नाका चौकी पहुंचकर आरोपी दूल्हे के खिलाफ दहेज एक्ट का मामला दर्ज किए जाने की मांग शुरू कर दी। दूल्हन के भाई का कहना था कि दूल्हें की सहमति से ही उसके चाचा तथा चचेरे भाई ने डेढ़ लाख की बाइक तथा सोनें की चैन की मांग दहेज में की थी।

पहले सागर नाका चौकी, फिर देहात थाना पहुंचकर और तथा इसके बाद एसपी ऑफिस पहुंचकर दूल्हे के खिलाफ दहेज एक्ट पर जाने की मांग शुक्रवार दोपहर की गई। जिस पर एसपी विवेक कुमार सिंह ने पुलिस को प्रकरण दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए है।

यह सब खबर आप तक पहुंचाने का आशय यही है कि दो परिवारों के बीच होने वाले विवाह संबंध के दौरान किसी भी तीसरे पक्ष या तीसरे शख्स को हस्तक्षेप करने का अवसर प्रदान नहीं करें। अन्यथा रिश्तो में आने वाली खटास तो दोनों पक्षों को ही आपस में भोगना पड़ती है और प्रकरण पुलिस से कोर्ट कचहरी तक जीवन भर चलते रहते हैं। तथा जिस घर से बेटी को ले रहे हो उस घर के लोगों से ज्यादा दहेज की डिमांड नहीं रखो क्यों कि दुल्हन ही सबसे बड़ा दहेज है। सनद रहे वक्त पर काम आवे। अटल राजेन्द्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments