Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

सागर में विद्युत मंडल के रिश्वतखोर कार्य पालन यंत्री पर लोकायुक्त का शिकंजा.. 50 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा.. नही मिली जमानत, भेजा जेल, घर पर भी छापा,विभाग ने किया निलंबित....

विद्युत मंडल में 50 हजार की रिश्वत के साथ में पकड़ा-
सागर।  लोकायुक्त टीम ने अबकी बार विद्युत मण्डल के रिश्वतखोर कार्यपालन यंत्री को रंगो पकड़ने में सफलता हासिल की है अपने ही दफ्तर में अपने ही विभाग की बिलिंग राशि में कमीशन की चाह रखने वाले इस भ्रष्ट अफसर को 50 हजार की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया है।
सागर के मकरोनिया स्थित विद्युत मंडल के कार्यालय में गुरुवार दोपहर पहुंची लोकायुक्त की टीम ने एसपी रामेश्वर यादव के निर्देशन में टीआई बीएम द्विवेदी के नेतृत्व में कार्यवाही की। रजाखेड़ी निवासी ठेकेदार  शिवहरि पांडे की शिकायत पर एमपीईबी के ईई विनय कुमार गुप्ता को 50,000 की रिश्वत की रकम के साथ रंगे हाथों दबोचा गया। श्री पांडे से रिश्वत की यह रकम 10 लाख रुपए के भुगतान बिल के बदले में 5% कमीशन के तौर पर ली जा रही थी। लोकायुक्त की कार्यवाही जारी है तथा विस्तृत वितरण की प्रतीक्षा की जा रही है। 
बिजली विभाग के दफ्तर में दिन दहाड़े लोकायुक्त कार्रवाई की खबर से विभाग के अधिकारी कर्मचारियों में हड़कंप के हालात बनते देर नही लगी। वहीं बिजली विभाग के रवैया से परेशान नागरिक राहत की सांस लेते नजर आए। वहीं रिश्वतखोरी की जानकारी विद्युत मंडल जबलपुर के उच्च अधिकारियों को लगने के बाद प्रभाव से रिश्व्त खोर कार्यपालन यंत्री विनय गुप्ता को सस्पेंड करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं।  उधर जमानत नहीं मिलने पर गुप्ता को जेल भेज दिया गया। वहीं उनके ठिकानों पर आय से अधिक संपत्ति मामले को लेकर डीएसपी  राजेश खेड़े की टीम द्वारा छापामार जांच करवाई जारी है। अटल राजेन्द्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments