Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

गर्मी में नलकूप खनन कराना पड़ा महंगा.. कलेक्टर विजिट के दौरान 2 बोरबेल मशीन जब्त करके पुलिस को सौंपी..तेजगढ़-झालोन क्षेत्र में ड्रोन कैमरे से पेट्रोलिंग शुरू

2 बोरबेल खनन मशीनों को जब्त कर पुलिस को सौंपा-
दमोह। गर्मी के दिनों में जलसंकट के हालात किसी से छिपे नहीं है। वहीं जिले में बोरबेल यानि नलकूप खनन कराने पर प्रतिबंध लगा हुआ है। हालांकि रोक के बावजूद जगह जगह कतिपय ठेकेदारों द्वारा अपने प्रभाव के दम पर बोरबेल कार्य धड़ल्ले से कराए जा रहे है। परंतु आज कलेक्टर की विजिट के दौरान सामने आई दो बोरबेल मशीनों को जब्त करते हुए कार्रवाई की गई। जिससे अवैध नलकूप खनन कराने वालों में हड़कंप के हालात बने हुए है।     
  प्राप्त जानकारी के अनुसार कलेक्टर नीरज कुमार सिंह आज प्रातः अपने सुबह के भ्रमण के दौरान नोहटा की ओर जा रहे थे, इस दौरान उन्होनें रास्ते में ग्राम चैपरा खुर्द के पास देखा कामधेनू कॉलोनी के एक प्लाट में बोर मशीन द्वारा खनन किया जा रहा था, तत्काल उन्होने तहसीलदार दमोह को पहुॅंचकर कार्यवाही के निर्देंश दियें। इसी प्रकार से ग्राम मारूताल में जबलुपर रोड पर भी एक अन्य स्थान पर पेयजल हेतु बोरबेल खनन किया जा रहा था। उन्होंने दोनो स्थानों पर कार्यवाही के निर्देश दियें। ज्ञात हो कि कलेक्टर द्वारा जिलें में बोर उत्खनन पर पूर्व में आदेश जारी कर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

  कलेक्टर नीरज कुमार सिंह के निर्देश मिलते ही तहसीलदार डॉ बबीता राठौर और नायब तहसीलदार विजय साहू मौके पर पहुॅंचकर पंचनामा एवं आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की। ग्राम मारूताल में छोटेलाल पिता बारेलाल यादव के यहॉं ग्राम चैपरा खुर्द में प्लाट क्रमांक 63 के मालिक भरत मिश्रा पिता स्व. चर्तुभुज मिश्रा के यहॉ अवैध रूप से बोरबेल खनन चल रहा था। मौके पर जाकर इन राजस्व अधिकारियों द्वारा मशीन और वाहन जब्त कर जबलपुर नाका चैकी को सौपा गया।
तेजगढ़ से झालोन तक ड्रोन कैमरे से पेट्रोलिंग शुरू-

दमोह। आज प्री मानसून मेन्टेनेंस के अंतर्गत तेजगढ़ से झालोन तक ड्रोन कैमरा के माध्यम से लाइन की टॉप पेट्रोलिंग की गई एवं जांच की गई कि कौन से लोकेशन में बारिश के दौरान लाइन में फाल्ट बनने की संभावना है। इस सबंध में कार्यपालन यंत्री विद्युत वितरण कंपनी खुशियाल शिववंशी ने बताया पेट्रोलिंग के दौरान पोल पर लगे इंसुलेटर, अ-बतवे ंतउ की स्तिथि, लाइन में ट्री की स्तिथि एवं झूलते हुए तारो की वास्तविक स्तिथि को चिन्हित किया गया है जिसे मानसून के पहले सुधार कार्य आवश्यक है। उन्होने बताया जैसे ही वरिष्ठ कार्यालय से लाइन शट डाउन एवं कार्य करने की अनुमति प्राप्त होगी कार्य कर लिया जाएगा।

Post a comment

1 Comments

  1. Drone ke dwara विद्युत लाइनों की टॉप पेट्रोलिंग करवाने से क्या विद्युत व्यवधान का स्थाई हल निकल पाएगा यह तो एक अतिरिक्त भार है जो विद्युत विभाग पर डाला गया है विभागके पास प्रशिक्षित लाइन कर्मचारी उपलब्ध नहीं है आउटसोर्स कर्मचारियों को कोई प्रशिक्षण नहीं दिया गया इस कारण से विद्युत लाइनों के रख रखाव संभव नहीं हो पा रहा

    ReplyDelete