Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

जांच के नाम पर किसानों से हरामखोरी.. ! हटा-दमोह मार्ग पर मंडी के दरोगा और किसानों के बीच तीखी बहस का वीडियो वायरल.. प्रशासन से जांच करवाई की अपेक्षा..

मंडी के दरोगा करते है किसानों से अवैध वसूली-
दमोह। जिले की विभिन्न कृषि उपज मंडी में पहुंचने वाले अनेक किसानों को आर्थिक शोषण रूपी हरामखोरी का सामना करने को भी मजबूर होना पड़ता है। परन्तु तात्कालिक जरूरतों को पूरा करने   जल्द भुगतान जैसी मजबूरी के चलते अधिकांश किसान चुपचाप सब कुछ बर्दास्त करते रहते है। 
 एक ऐसे ही मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। जिसमें कार क्रमांक MP16 C-8570 के साथ सड़क पर खड़े होकर किसानों की ट्रैक्टर ट्राली मैं भरी उपज की जांच करते हुए मंडी का प्रभारी सचिव जो ASI ड्रेस में नजर आ रहा है। कुछ किसान इसके साथ तीखी बहस करते नजर आ रहे। कार के पीछे डिक्की के ऊपर रशीद बुक रखी हुई भी नजर आ रही है। 
मंडी में व्यापारियों से कर्मचारियों की मिलीभगत के चलते किसानों को उपज के सही दाम नहीं मिल पाने की बात चीत के बीच किसान दूसरी जगह अपने माल को ले जाने की बात करते नजर आ रहे हैं। इस दौरान मोबाइल कैमरे में रिकार्डिंग होते देख कर यह जांच दरोगा यानि प्रभारी सचिव  किसानों के आरोपों का दबी जबान से खंडन करने की  कोशिश करता हुआ भी नजर आ रहा है। दरअसल कृषि उपज मंडी में किसानों को अपनी उपज के सही दाम नहीं मिलने पर वह दूसरी कृषि मंडियों में माल ले जाते है। परंतु इसके एवज में हर ट्राली पर दो हजार रुपए की अवैध वसूली प्रति गाड़ी की दर से की जाती है। 
 इसी हरामखोरी से त्रस्त होकर कुछ किसानों ने यह वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। यह वीडियो हटा दमोह मार्ग का बताया जा रहा है। इसे कब बनाया गया  इसका पता नहीं लग सका है। लेकिन इसे सोमवार रात 11:30 बजे के करीब सोशल मीडिया पर वायरल किया गया। जिससे हड़कंप के हालात बने हुए है। 
जिला प्रशासन को इस मामले को संज्ञान में लेकर जांच करना चाहिए। तथा इसमें जरा भी सच्चाई निकलती है तो किसानों के साथ हरामखोरी करने वालों पर सख्त कार्रवाई करना चाहिए। अटल राजेन्द्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments