Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

बाबाजी के गांव में कांग्रेस के निष्कासित नेता CM की शरण मे.. मुख्यमंत्री कमलनाथ पहुचे पवनसुत की शरण में.. दिया नातिन को आशीर्वाद..

 कांग्रेस के निष्कासित नेता मुख्यमंत्री की शरण मे-
दमोह। मुख्यमंत्री कमलनाथ मंगलवार दोपहर पूर्व कृषि मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया के गांव सकोर पहुंचे। जहां उन्होंने अतिप्राचीन पातालपदीय हनुमंत देव की प्रतिमा के दर्शन करते हुए लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत का आशीर्वाद मांगा। CM जब पवनसुत की शरण में जा रहे थे उस दौरान कांग्रेस से निष्कासित हटा पथरिया के अनेक नेता मुख्यमंत्री की शरण में आने को आकुल व्याकुल नजर आ रहे थे।
पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया बाबा जी के गृह ग्राम सकोर स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर मैं पहुंच कर मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने पूर्व मंत्री श्री कुसमरिया के साथ पवन पुत्र की प्राचीन प्रतिमा के दर्शन की मंदिर के इतिहास के संदर्भ में जानकारी ली। इस दौरान कांग्रेस से निष्कासित नेता पथरिया विधानसभा से बगावत करके जोरदार प्रदर्शन करने वाले राव बृजेंद्र प्रताप सिंह तथा हटा विधानसभा से बगावत करके संतोषजनक प्रदर्शन करने वाले प्रदीप खटीक उनके सारथी रहे नीलू पाठक तथा बड़बोले नेता देवेंद्र राय की खास मौजूदगी कांग्रेस में शामिल होने की आतुरता को जताती नजर आई।
 हालांकि पथरिया से अपने बेटे को समाजवादी पार्टी की टिकिट पर विधानसभा चुनाव  लड़ा कर  कांग्रेश से निष्कासित हुए स्वाभिमानी नेता पुष्पेंद्र हजारी नजर नहीं आए। इधर बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए ठेकेदार देवेंद्र चौरसिया की भी सक्रियता देखने को मिली। 
 पूर्व मंत्री रामकृष्‍ण कुसमरिया के निवास पर पहुंचे  मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ का स्वागत कुसमरिया जी ने  तिलक लगाकर जनेऊ पहनाकर और शंख तथा  देव प्रतिमा भेंट करके किया। उन्‍होने बाबा जी की नातिन को शुभाशीष देते हुए प्रदेश व देश के लिए युवाओ को आगे आने का आव्‍हान किया। 
इसके बाद मुख्यमंत्री हेलीकॉप्टर से रीवा के लिए रवाना हो गए। आपको बता दें कि बाबाजी की भाजपा के पक्ष में लगातार सक्रियता के चलते तीन दशक से लोकसभा क्षेत्र में इस क्षेत्र से कांग्रेस चुनाव हारती आ रही है। इस बार डा कुसमरिया के कांग्रेस में शामिल हो जाने के बाद उनके निमंत्रण पर सकौर पहुंचे मुख्‍यमंत्री कमलनाथ को कांग्रेस के नेता यह आश्वस्त करते नजर आए कि आगामी लोकसभा चुनाव में इस क्षेत्र एवं पूरे बुंदेलखंड से कांग्रेस की ही जीत होगी। लेकिन हटा से पूर्व विधायक रहे पूर्व मंत्री और ब्राह्मण समाज के पिछड़ा वर्ग में कद्दावर नेता राजा पटेरिया की अनुपस्थिति चर्चा का विषय रही।

Post a comment

0 Comments