Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

बेहद शर्मनाक.. प्रेम प्रसंग का पता चलने पर सगे भाइयों और चाचा ने रेप के बाद की थी नाबालिक की हत्या.. छात्रा के सिर कटी लाश मामले का सागर एसपी ने किया खुलासा..

 सागर SP ने किया सिर कटी लाश मामले का खुलासा-
सागर। पिछले दिनों सागर जिले के बंडा थाना अंतर्गत एक लापता छात्रा की सिर कटी लाश मिलने की गुत्थी को आखिरकार पुलिस ने सुलझाने में सफलता हासिल कर ली है। इस मामले में वारदात को अंजाम देने वाले और कोई नहीं बल्कि मृतका के 3 सगे भाई और चाचा बताये जा रहे है। जिन्होंने  छात्रा के प्रेम प्रसंग से नाराज होकर उसे सबक सिखाने के लिए पहले रैप किया तथा बाद में उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
बंडा थाना अंतर्गत पिछले दिनों कक्षा छठवीं की परीक्षा देने गई छात्रा के घर वापस नहीं लौटने पर परिजनों द्वारा इसकी गुमशुदगी की शिकायत पुलिस थाने में दर्ज कराई गई थी। बाद में एक खेत में छात्रा का सिर कटा शव मिलने से सनसनी के हालात निर्मित हो गए थे। पुलिस द्वारा घटना की जांच करते हुए सागर एसपी द्वारा आरोपियों की पतासजी पर 10 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था। वहीं घटना के संदेही व्यक्ति से भी पूछताछ की गई थी। परंतु घटना का खुला था नहीं होने पर सागर IG ने इनाम की राशि बढ़ाकर 25 हजार रुपये कर दी गई थी।
सागर एसपी अमित सांघी ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि वारदात के बाद से मृतिका का का एक भाई राम प्रसाद लापता था। परिजनों द्वारा उसके बारे में जानकारी नहीं दी जा रही थी जिस पर संदेह होने पर अन्य भाइयों तथा चाचा बंसीलाल से पूछताछ किए जाने पर उन्होंने छात्रा की हत्या कार्य करना स्वीकार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों के रक्त रंजित कपड़े, हत्या में प्रयुक्त हसिया सहित अन्य सामग्री बरामद कर ली है। रिश्तो को कलंकित करने वाली इस शर्मनाक घटना की शिकायत पुलिस को करने वाले चाचा बंसीलाल द्वारा गांव के पटेल परिवार से जमीन विवाद बता कर गुमराह करने का प्रयास किया गया था। अब पुलिस शिकंजे में इनके साथ मृतका के मंझले भाई  बृजेश और छोटे नाबालिक भाई को पुलिस ने हत्या, बलात्कार सहित अन्य धाराओं में गिरफ्तार कर लिया है जबकि फरार बड़े भाई राम प्रसाद की तलाश जारी है।
बताया जा रहा है कि उक्त नाबालिक के साथ पहले बलात्कार की घटना को कारित किया गया। इसके बाद गला दबाकर हत्या कर दी गई और बाद में शरीर से सिर कलम कर दिया गया। घटना के पीछे नाबालिक छात्रा का किसी युवक से प्रेम प्रसंग चल ना उसके साथ में मोबाइल पर बात करना तथा बाइक से स्कूल आना जाना आदि से चलकर छात्रा को सबक सिखाने के लिए यह कृत्य किया जाना बताया जा रहा है।
पुलिस की इस कामयाबी पर सागर SP अमित सांघी एडिशनल एसपी राजेश व्यास एवं विक्रम सिंह का निर्देशन, एसडीओपी बंडा उमराव सिंह का मार्गदर्शन टी आई सतीश सिंह साई गौरव तिवारी और पुलिस टीम का विशेष योगदान बताया गया है पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है। बंडा से दिनेश लोधी की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments