Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

मायसेम सीमेंट पार्किंग पर परिवहन आयुक्त की छापामार कार्रवाई से हड़कंप.. 20 लाख से अधिक की टेक्स वसूली हेतु अनेक वाहनों को लिया कब्जे में..

 परिवहन विभाग की छापामार कार्रवाई से हड़कंप-दमोह। लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगते ही  अधिकारी किस तरह से बेफिक्र होकर बिना दबाव में कार्रवाई को अंजाम देने लगते हैं, इसके उदाहरण  पिछले 24 घंटे में अनेक बार देखने को मिल चुके हैं।  बात चाहे अवैध होर्डिंग्स पर की गई करवाई की हो। या फिर अधिकारियों की रात्रि विजिट के बाद आज आरटीओ विभाग द्वारा सालों पुराने टैक्स की वसूली करने के लिए की गई छापामार कार्यवाही हो।

सोमवार दोपहर सागर संभाग के परिवहन विभाग से जुड़े विभिन्न जिलों के अधिकारियों ने नरसिंहगढ़ तथा इमलाई स्थित माईसेम सीमेंट फैक्ट्री के वाहनों की पार्किंग स्थल पर पहुंचकर जैसे ही दस्तावेजों की जांच कार्यवाही शुरू की तो हड़कंप के हालात बनते देर नहीं लगी।
 संभागीय परिवहन आयुक्त अरुण सिंह, जिला परिवहन अधिकारी स्वाती पाठक के साथ छतरपुर, टीकमगढ़ तथा पन्ना आरटीओ की टीम ने स्थानीय पुलिस की मौजूदगी में पहले माईसेम सीमेंट नरसिंहगढ़ की पार्किंग में खड़े ट्रक हाईवे आदि वाहनों के दस्तावेजों की जांच में सामने आई कमियां और बकाया पाए जाने पर इनके खिलाफ जुर्माना वसूली की कार्यवाही की गई।
 इधर इमलाई स्थित मायसेम सीमेंट प्लांट की पार्किंग में खड़े वाहनों की जांच के दौरान अनेक बड़े वाहनों पर त्रिमासिक टैक्स की पुरानी बकाया राशि के अलावा दस्तावेजों की कमी के हालात सामने आए है। खासकर झांसी साइड से आने जाने वाले हाईवा, डंपर व अन्य वाहन के रजिस्ट्रेशन बीमा, रोड टैक्स संबंधी बकाया पाए जाने पर कार्यवाही की गई। 
परिवहन विभाग की इस कार्रवाई में करीब 20 लाख की टैक्स बकाया की कार्यवाही किए करते हुए डेढ़ दर्जन गाड़ियों को कब्जे में लिए जाने की जानकारी सामने आई है। परिवहन विभाग की इस जांच कार्यवाही से माईसेम सीमेंट फैक्ट्री प्रबंधन में भी हड़कंप के हालात बनते नजर आए है।
 दरअसल इस कार्रवाई के चलते फैक्ट्री के अंदर पहुंचने वाले वाहनों की लोडिंग अनलोडिंग जहां प्रभावित हुई वहीं ट्रक डंपर आदि के चालक ओवर लोडिंग तथा कागजों के अभाव जैसी स्थिति के चलते अधिकारियों के जाने का इंतजार करते रहे। 
 देर तक चली इस कार्रवाई की अधिकृत जानकारी देर रात तक परिवहन विभाग द्वारा मीडिया को उपलब्ध नहीं कराई गई थी जिससे इस कार्रवाई की पारदर्शिता को लेकर भी चर्चाओं का बाजार सरगर्म रहा। RTO की कार्रवाई पर शकील मोहम्मद की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments