Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

आंखों के जटिल आपरेशन करने वाले दमोह के डॉ राकेश राय के शोध की सिंगापुर तक गूंज.. दुर्लभ बीमारी "लिमपल पेपिलोमा" पर शोध पत्र प्रस्तुत किया..

 सिंगापुर में डॉ राकेश राय ने शोध पत्र पढ़ा- 
दमोह के प्रसिद्ध नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ राकेश राय ने पिछले दिनों सिंगापुर में आयोजित अंतरराष्ट्रीय नेत्र रोग कान्फ्रेंस में सम्मिलित होकर शोध पत्र का वाचन किया। इस मौके पर देश विदेश के ख्याति प्राप्त नेत्र विशेषज्ञों ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए श्री राय की शोध पत्र की सराहना की।
 सिंगापुर की ली मेरिडियन होटल में आयोजित कान्फ्रेंस में देश विदेश से आए अनेक नेत्र चिकित्सकों ने आंखों से संबंधित अनेक बीमारियों के कारण और बचाव पर अपने अपने व्याख्यान प्रस्तुत किए। इसी तारतम्य में डॉ राकेश राय ने एक दुर्लभ बीमारी "लिमपल पेपिलोमा" के संबंध में अपना शोध पत्र प्रस्तुत किया।
 श्री राय ने बताया कि यह एक ऐसी दुर्लभ बीमारी है जो लाखों में से किसी एक को होती है। सामान्यतया सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणों के दुष्प्रभाव के कारण तथा वायरल संक्रमण के कारण यह बीमारी होती है। जिसका श्री राय ने दमोह में सफल इलाज कर चुके है।
 इसके बाद इसे शोध पत्र में प्रस्तुत कर चिकित्सा जगत के समक्ष इस बीमारी को लाए हैं। इस दुर्लभ बीमारी के बारे में जानकर विदेशों के डॉक्टर भी श्री राकेश राय के  शोध से प्रभावित होते देर तक तालियां बजाते रहे। तथा शोध के पश्चात उनसे इस संदर्भ में परामर्श किया । इस शोध को तैयार करने में इनकी धर्मपत्नी डॉ सुधा राय जो कि दमोह जिला चिकित्सालय में नेत्र रोग विशेषज्ञ है का भी विशेष सहयोग रहा।
सिंगापुर में शोध पत्र  वाचन के लिए डॉ श्री राकेश राय को विशेष प्रमाण पत्र प्रदान किया गया है। अनेक विदेशी नेत्र सर्जनो ने श्री राय के अनुभव का लाभ लेने के लिए अपनी सेवाएं विदेशो में देने का आग्रह किया है। डॉ राकेश राय की इस उपलब्धि पर चिकित्सा जगत के साथ अनेक गणमान्य जनो ने बधाई प्रेषित की है।

Post a comment

0 Comments