Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

ढाबा संचालक को पुलिस वालों से खाने के पैसे मांगना पड़ा भारी.. मार-मार कर उधेड़ दी चमड़ी, सागर IG तक पहुची शिकायत..

पुलिस की पिटाई से बेदम हुआ ढाबा संचालक-
सागर। एक ढाबा संचालक को खाना खाने के लिए आए तीन पुलिसकर्मियों से खाने के बाद पैसा बताना भारी पड़ गया। इन पुलिस वालो ने ढाबा संचालक की बेरहमी से पिटाई करके चमड़ी उधेड़ डाली। पीड़ित युवक ने मंगलवार को आईजी और एसपी ऑफिस पहुंचकर लिखित आवेदन देते हुए अधिकारियों को अपना दुखड़ा सुनाया और पुलिस की पिटाई से सुजा हुआ बदन दिखाया जिसके बाद उसे मेडिकल के लिए भेजा गया।   

 मामला मालथौन के खिमलासा रोड स्थित एक ढाबे का जहां बीती रात अंशुल सिसोदिया नाम के युवक के साथ मालथौन थाने में पदस्थ तीन पुलिसकर्मियों द्वारा बेरहमी के साथ मारपीट की गई। पुलिस की पिटाई से बेदम हो गए अंशुल की पीठ, कमर, कूल्हे पर सूजन के साथ पिटाई के निशान साफ नजर आ रहे है।
पीड़ित युवक ने मंगलवार दोपहर अपने परिजनों के साथ सागर आईजी और पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुचकर अधिकारियों को पूरे मामले की जानकारी दी और न्याय की गुहार लगाते हुए दोषीयो पर कठोर करवाई किये जाने की मांग की। पीड़ित का कहना था कि वह खिमलासा रोड पर ढाबा चलाता है सोमवार रात 9 बजे के करीब ढाबा पर तीन पुलिस कर्मी खाना खाने आये थे।
बताया गया कि ढाबे पर पहले तीनो पुलिस वालो ने खाना के साथ शराब पी फिर खाने के  बाद काउंटर पर आकर अंशुल के ऊपर टूट पड़े। बाद में उसे थाने ले गये। और वहा पर भी उसकी जमकर पिटाई करके चमड़ी उधेड़ दी। बाद में जानकारी लगने पर परिजनों ने थाने पहुचकर पुलिस वालो के हाथ पैर जोड़ कर अंशुल को छुड़वाया। इस दौरान भी पुलिसकर्मी शिकायत करने पर अंजाम बुरा होने की धमकी देने से नही चुके।
उक्त घटना क्रम की आईजी एवं SPआफिस में लिखित शिकायत कर पीड़ित ने आप बीती सुनाई और शरीर में आई चोटे दिखाई। मामले में एएसपी रामेश्वर यादव का कहना है चोटों का मेडिकल परीक्षण कराकर राजपत्रित अधिकारी को जांच सौपी गयी हैं। जो 24 घंटे में जांच प्रस्तुत करेंगे। मेडिकल और राजपत्रित अधिकारी द्वारा जांच प्रतिवेदन पर आरोपों की पुष्टि होती है दोषी पुलिस कर्मियों के निलंबन की कार्यवाही की जाएगी। 
मालथौन से सुरेंद्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments