Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

तेंदूखेड़ा में किसानों के साथ धरने पर बैठे.. भाजपा नेताओं को मनाने में अधिकारियों को पसीना आया, अभिषेक भार्गव भी पहुंचे..

एक सप्ताह के आश्वासन पर सड़क से उठे किसान-
दमोह। जिले के विभिन्न क्षेत्रों के अनेक किसानो की उड़द तथा धान की खरीदी निर्धारित तिथि तक नहीं हो पाने से किसानों के धरना, प्रदर्शन के हालात जगह जगह सामने आ रहे है। 
गुरुवार को तेंदूखेड़ा कृषि उपज मंडी के सामने हुए किसानों के धरना प्रदर्शन में स्थानीय विधायक धर्मेंद्र सिंह लोधी के साथ पूर्व विधायक और पूर्व मंत्री दशरथ सिंह, भाजपा के मंडल अध्यक्ष मूरतसिंह सहित अनेक नेतागण सम्मिलित हुए। दमोह जबलपुर रोड पर धरना प्रदर्शन के साथ चका जाम की वजह से दोनों तरफ वाहनों की कतारें लग गई वहीं जानकारी लगने पर एसडीएम नारायण सिंह भी मौके पर पहुंचे।

धरना दे रहे भाजपा नेताओं को मनाने तथा चक्का जाम खत्म करने के लिए एसडीएम को ठंड में पसीना बहाकर जमकर मशक्कत करना पड़ी। वहीं किसान नेता उनकी कोई भी बात सुनने को तैयार नजर नहीं आए। बाद में एसडीएम द्वारा उच्चाधिकारियों से  चर्चा करने के बाद एक सप्ताह में समस्या के समाधान का भरोसा दिलाया। जिसके बाद ही किसानों ने धरना खत्म किया और दमोह जबलपुर मार्ग पर आवागमन बहाल हो सका।
किसानों के चक्का जाम आंदोलन की जानकारी लगने पर नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के पुत्र अभिषेक भार्गव भी तेंदूखेड़ा पहुंचे। उन्होंने भी जिन किसानों की धान तथा उड़द की खरीद नहीं हुई है उसे खरीदे जाने की मांग का समर्थन किया। इसके पूर्व कांग्रेस नेता और जबेरा के पूर्व विधायक प्रताप सिंह ने भी मुख्यमंत्री कमलनाथ से मुलाकात करके स्थानीय किसानों की समस्याओं से अवगत करा चुके थे।
देखना होगा मुख्यमंत्री की जानकारी और प्रशासन के आश्वासन के बाद किसानों की बाकी बची धान की  खरीदी अब कब से शुरू की जाती है। अभिजीत जैन की रिपोर्ट

Post a comment

1 Comments

  1. जब सरकार थी तब किसान याद नही आये अब किसान याद आने लगे। वह रही राजनीती मैया


    ReplyDelete