Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

जन्मदिन के जश्न में डांस का तड़का.. बसपा सुप्रीमो मायावती के जन्मदिन पर राई नृत्य से लेकर बार बालाओं जैसे ठुमको की धूम..

 पथरिया कॉलेज में बसपा सुप्रीमो के जन्मदिन का जश्न-
 मप्र विधानसभा चुनाव में 2 सीटें जीतकर किंग मेकर बन कर उभरी बहुजन समाज पार्टी के विधायक मायावती जी के निर्देश पर कांग्रेस की कमलनाथ सरकार का समर्थन कर रहे है। लेकिन मंत्रिमंडल गठन में बसपा विधायकों का ध्यान नहीं रखे जाने से उनकी जश्न की हसरत दिल मे रह गई थी। अब बसपा सुप्रीमो मायावती के जन्म दिन के बहाने बसपा समर्थक जीत का जश्न मनाते नजर आए है। 

 दमोह जिला मुख्यालय से 30 किमी दूर पथरिया के शासकीय कालेज का यह वही परिसर है जहां करीब 2 माह पहले बसपा सुप्रीमो मायावती ने संभाग के बसपा प्रत्याशीयों के समर्थन में विशाल जनसभा को संबोधित किया था। इसी ग्राउंड पर राई नृत्य की धूम के साथ जश्न की यह तस्वीरें मायावती जी के जन्मदिन के मौके की है। पथरिया विधायक बसपा नेत्री श्रीमति राम बाई को अभी तक जन समस्याओं को लेकर अधिकारियों से वाद विवाद करते देखा था। लेकिन इस आयोजन से साफ हो जाता है कि वह वैसी पत्थर दिल नहीं है जैसा अधिकारी समझते हैं और मीडिया उनकी छवि बनाए हुए हैं।

पथरिया कॉलेज परिषर में हजारों लोगों की मौजूदगी में बसपा सुप्रीमो मायावती के जन्मदिन समारोह को देखने जमकर भीड़ उमड़ी। मंच पर विधायक राम बाई ने पार्टी पदाधिकारियों के साथ केक काटा और सभी को मायावती जी के जन्मदिन की शुभकामनाएं दी। उसके बाद संगीत की स्वर लहरियों के बीच बुंदेली राई नृत्य से लेकर फिल्मी गीतों पर ठुमके लगाने वाली बालाओ के अलग अलग समूहो ने ऐसा समा बांधा कि घंटों का वक्त कब गुजर गया लोगों को पता ही नहीं चला।

नई उम्र की बालाओ के फिल्म स्टाइल में फिल्मी गीतों पर ठुमके लगाने की अदाओं को एक टक निहारने वालो में युवाओं से लेकर  अधेड़ उम्र के  बुजुर्ग तक पीछे नहीं रहे  वहीं कार्यक्रम में महिलाओं तथा बच्चों की मौजूदगी भी रही। बुधवार को सोशल मीडिया पर नृत्य की तस्वीर और वीडियो वायरल होने के बाद लोग एक दूसरे को वीडियो शेयर करते नजर आए। जबकि कुछ आलोचक और विरोधी इसे अश्लील बताते तथा बार बालाओं के नृत्य की संज्ञा देने से भी नहीं चूके।

 जबकि बसपा विधायक रामबाई सिंह को इसमें कुछ भी आपत्तिजनक नजर नहीं लगता। उन्होंने साफ़ शब्दों में कहा की यह कार्यक्रम बहिन मायावती के जन्मदिन मनाने और जनता का आभार जताने किया गया था। जश्न के पलों की इन वीडियो को देख कर अब फैसला जनता को करना है कि आयोजन कैसा था। जिन्होंने यह कार्यक्रम नहीं देखा वह भी इन वीडियो को देखकर यह बताने का जतन कर रहे है कि डांस कैसा थ और बार बालाए कहा से आई थी। कार्यक्रम मनोरंजक था या अश्लील ? खबर के कमेंट बॉक्स में अपनी राय देने से नहीं चूके। इससे आयोजकों को भी एहसास हो जनता को क्या पसंद है और क्या नहीं। अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

1 Comments

  1. इसमे अश्लील जैसा तो कुछ नही है फ़िल्मी दुनिया में इससे ज्यादा अश्लीलता दिखाई जा रही है फैमिली के साथ मूवी देखने में शर्म आती है यह प्रोग्राम सही है

    ReplyDelete