Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

दमोह सागर रोड पर तीसरे दिन दर्दनाक हादसा.. बोलेरो की टक्कर से बाइक सवार शिक्षक की सिर फटने से मौत.. भाई घायल, बोलेरो पलटी..

 हेलमेट पहने होते तो बच जाती शिक्षक की जान-
दमोह सागर मार्ग पर गढाकोटा के पास लगातार तीसरे दिन भी दर्दनाक सड़क हादसे में बाइक सवार व्यक्ति की सिर फट जाने की वजह से दिल दहला देने वाली मौत का घटनाक्रम सामने आया है। मौत के आगोश में जाने वाले शख्स एक शिक्षक थे। जो हेलमेट पहने होते तो सर नहीं फटता और जान भी बच सकती थी।
गढ़ाकोटा से चंद किलोमीटर की दूरी पर दमोह सागर मार्ग स्थित राजस्थानी ढाबा के समीप मंगलवार को दमोह से आ रही सफेद बुलेरो क्रमांक MP- 15 BA- 0339 ने गढाकोटा से आ रहे बाइक सवार शिक्षक देवी सिंह अहिरवार को सीधी टक्कर मार दी। बोलेरो की रफ्तार इतनी तेज थी टक्कर मारने के बाद वह  सड़क से उतरकर पलट गई।

इधर बजाज सीडी बाइक क्रमांक MP-15 MC-3906 पर सवार शिक्षक देवीसिंह जो कि शासकीय प्राथमिक शाला वीरपटी बमनौदा जा रहे थे, बोलेरो की सामने से टक्कर लगते ही इनकी बाइक से सड़क किनारे दूर उछल गई। और देवीसिंह की सिर फटने से मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद मौके पर लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई तथा कुछ ही देर में पुलिस और हंड्रेड डायल भी मौके पर पहुंच गई।

इधर मोटरसाइकिल पर साथ में सवार देवीसिंह के भाई रामसींग पिता आनंदी अहिरवार गंभीर रूप से घायल हो गये। जिनको गढाकोटा शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र इलाज के लिए भेजा गया। जहा उनका उपचार जारी है। गढाकोटा थाना में पदस्थ सव स्पेक्टर शेषमणि मिश्रा ने बताया कि शब का पीएम कराकर परिजनों को सौप दिया है। मर्ग कायम कर बुलेरो चालक के खिलाफ धारा 279, 304 A तहत मामला दर्ज कर करके ड्राइवर की तलाश पुलिस ने शुरू कर दी है। 
 दमोह सागर रोड पर 3 दिन में लगातार तीसरा दर्दनाक सड़क हादसा हुआ है। जिसमें दुर्घटना का शिकार होने के बाद सर फट जाने से बाइक सवार की मौके पर ही मौत हो गई। 30 दिसंबर को आपचंद निवासी बाइक सवार को ट्रक ने टक्कर मारकर जान ले ली थी। 31 दिसंबर की शाम अमोदा तिगड्डा पर सागर जबलपुर बस ने बाइक सवार छात्र को कुचल दिया था। वही 1 जनवरी को शिक्षक देवी सिंह को तेज रफ्तार बोलेरो ने टक्कर मारकर जान ले ली। 
तीनों ही मामलों में टक्कर मारने वाले वाहनों की रफ्तार तेज होने की जानकारी सामने आई है वहीं ग्रामीण सड़कों से मुख्य मार्ग के जुड़ाव वाले स्थल पर गतिरोध नही होना भी बजह रही है। गढ़ाकोटा से रवि सोनी की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments