Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

नर्सिंग छात्रा मौत मामले में होगी मजिस्ट्रेट जांच.. परिजनों ने हत्या की आशंका जताई, ADM ने निष्पक्ष जांच का भरोसा दिलाया..

परिजनों ने बेटी की हत्या की आशंका जताई-
दमोह। ओजस्विनी नर्सिंग कॉलेज की छात्रा जमुना अहिरवार की मौत के कारणों का पता लगाने के लिए मजिस्ट्रेट जांच कराई जाएगी। छात्रा के गायब मोबाइल का पता लगाने के साथ ऐसे क्या हालात निर्मित हुए जो उक्त छात्रा मौत के आगोश में समा गई। इन सब  घटना क्रमों का भी पुलिस बारीकी से जांच करेगी। दोषियों को  बख्शा नहीं जाएगा। उक्त आश्वासन मिलने के बाद ही जमुना के शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए परिजन तैयार हुए।
 ओजस्विनी नर्सिंग कॉलेज की छात्रा कुमारी जमुना अहिरवार का शव फांसी के फंदे पर लटकता मिलने के बाद गुरुवार शाम से देर रात तक पुलिस अधिकारी मामले की जांच में जुटे रहे थे। वही रात में शव के जिला अस्पताल पहुंचने और परिजनों द्वारा हत्या की आशंका जताए जाने के बाद बसपा नेताओं द्वारा मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की जाने लगी थी।
पूरा घटनाक्रम भाजपा नेत्री पूर्व मंत्री जयंत मलैया की धर्मपत्नी सुधा मलैया के कॉलेज से जुड़ा होने से इस घटना को राजनैतिक रंग देने का भी प्रयास किया जाने लगा था। वही मृत छात्रा के अनुसूचित जाति वर्ग से होने की वजह से भी मामला अत्यंत संवेदनशील हो गया था। जिसे ध्यान में रखकर पुलिस प्रशासन ने घटना को गंभीरता से लेते हुए शुक्रवार सुबह से ही अधिकारियों को जिला अस्पताल भेज दिया था।

इस दौरान बसपा नेता और विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी रहे कोमल अहिरवार ने छात्रा जमुना की मौत की घटना को काफी संवेदनशील बताते हुए मजिस्ट्रेट जांच की मांग की। पुलिस अधिकारियों से उनकी कुछ गरमा-गरम बहस भी होती नजर आई।

इधर मृतका के पिता रवि अहिरवार द्वारा घटनास्थल के हालात को लेकर उसकी हत्या करके फांसी का रूप दिए जाने की आशंका जताई गई। तथा जमना के अलावा अन्य छात्राओं के भी मोबाइल आदि नहीं मिलने पर सवाल उठाते हुए उच्च स्तरीय जांच कराए जाने की मांग की गई। 
जिसके बाद एडीएम रविंद्र चोकसे ने लिखित में सारे आरोप वह मांग पत्र दिए जाने कहा गया। पीड़ित पिता द्वारा इस बाबत लिखित में मांग पत्र सौंपे जाने पर एडीएम श्री चौकसे ने घटना की मजिस्ट्रेट जांच कराने पीड़ित परिजनों उपस्थित समाज जनों और बसपा प्रतिनिधियों को आश्वस्त किया।

इस दौरान देहात थाना टी आई अनिल सिंह ने भी पीड़ित परिजनों और बसपा नेताओं को आश्वस्त किया कि जैसे ही हुआ पोस्टमार्टम की कार्यवाही से फ्री होंगे वैसे ही ओजस्विनी नर्सिंग कॉलेज हॉस्टल पहुंच कर अपनी जांच प्रारंभ कर देंगे।
 इसके बाद ही परिजन शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए तैयार हुए। तथा शव को पीएम हाउस भिजवाया गया। जहां पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव को लेकर पटेरा रवाना हो गए। जहाँ पटेरिया गांव में अंतिम संस्कार हेतु तैयारी की गई है तथा पूरे गांव में गमगीन माहौल बना हुआ है। परम पिता परमेश्वर जमुना की अंतरात्मा को अपने चरणों में स्थान दें और परिजनों को यह गहन दुख सहने की शक्ति प्रदान करें ओम शांति शांति
अटल राजेन्द्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

1 Comments