Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

ओजस्विनी हॉस्टल में फांसी लगाने वाली छात्रा का शव जिला अस्पताल पहुंचते ही राजनीतिक सरगर्मी बढ़ी.. पिता ने जताई आशंकाएं, TI ने कहा PM रिपोर्ट का इंतजार..

छात्रा का शव जिला अस्पताल पहुचते ही सरगर्मी बढ़ी-
दमोह। ओजस्विनी नर्सिंग कॉलेज की छात्रा जमुना अहिरवार के कॉलेज हॉस्टल में फांसी लगा लेने की घटना की सूचना के करीब 5 घंटे बाद गुरुवार रात करीब 10 बजे मृतिका का शव जिला अस्पताल पहुंचते ही राजनैतिक सरगर्मियां भी तेज होती दिखी।
अपनी बेटी की मौत की सूचना लगने पर दमोह पहुंचे दुखी पिता रविदास अहिरवार ने पूरे हालात को लेकर सवालिया निशान लगाते हुए तरह तरह से आशंकाएं जताई है। बेटी के मोबाइल फोन के गायब होने तथा वार्डन व प्रबन्धन की भूमिका को भी कटघरे में लाने का प्रयास किया है। वही इस घटना के बाद छोटी बेटी को मामले से अवगत नहीं कराए जाने तथा पुलिस की भूमिका पर भी  सवाल उठाए हैं।

इधर इस पूरे घटनाक्रम को लेकर पहली बार कोतवाली टीआई अनिल सिंह का बयान सामने आया है। जिसमें उन्होंने मामले की सूचना मिलने से लेकर पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही की जानकारी से अवगत कराया। तथा पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत के कारणों के स्पष्ट होने की बात कही है। उन्होंने छात्रा के मोबाइल का भी जल्द पता लगा लेने का भरोसा दिलाया है।

मामला भाजपा नेता और प्रदेश के पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया की धर्मपत्नी सुधा मलैया के कॉलेज से जुड़ा होने की वजह से घटना को राजनीतिक रंग देने के प्रयास भी शुरू हो गए हैं। मंत्री पुत्र और भाजपा नेता सिद्धार्थ मलैया तथा कांग्रेस के ग्रामीण मंडलअध्यक्ष नितिन मिश्रा सहित कई नेता घटना के बाद जानकारी लेते पहुचे।


इधर सरपंच संघ के प्रदेश अध्यक्ष और बसपा विधायक राम बाई के प्रतिनिधि सोमेश गुप्ता खुलकर इस मामले को तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते नजर आए। मामला भाजपा नेत्री के कॉलेज और अनुसूचित जाति वर्ग की छात्रा की खुदकुशी से जुड़ा हुआ है। 
ऐसे में इसकी आड़ में शहर की शांत फिजा को भंग करने का प्रयास करने वालो पर पुलिस प्रशासन को अभी से नजर रखना आवश्यक हो गया है। जल्द से जल्द इस अति संवेदनशील मामले में पुलिस अपनी कार्यवाही को पूरी करके "दूध का दूध और पानी का पानी" जैसी स्थिति को सामने लाएगी। ऐसी भी जन अपेक्षा देखी जा रही है। अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments