Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

कांग्रेस के राहुल ने वित्त मंत्री जयंत मलैया की नींद उड़ाई, पथरिया से बसपा की रामबाई जीती, हटा जबेरा से प्रत्याशी बदलकर फायदे में रही भाजपा..

 दमोह जिले के चारों क्षेत्रों में चौंकाने वाले नतीजे-
दमोह से मंत्री जयंत मलैया चुनाव हारे, पथरिया में बसपा जीती..
जबेरा तथा हटा से प्रत्याशी बदलकर भाजपा ने बाजी मारी-
दमोह जिले के चारों विधानसभा क्षेत्रों में चौंकाने वाले नतीजे सामने आए हैं। दमोह से कांग्रेस प्रत्याशी राहुल सिंह ने भाजपा के जयंत मलैया को कांटे के मुकाबले में हरा दिया है। वहीं पथरिया से भाजपा के लखन पटेल को कांटे के मुकाबले में बसपा की रामबाई से हारना पड़ा है।
जिले के हटा तथा जबेरा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा ने बाजी मारी है। दोनों ही जगह पर भाजपा ने अपने प्रत्याशियों को खड़ा किया था। यह दाव एकदम सटीक उतरा है। जबकि दमोह व पथरिया में भाजपा से बगावत करने वाले बाबा रामकृष्ण कुसमरिया तो कोई खास प्रदर्शन नहीं कर सके, लेकिन दोनों ही जगह भाजपा की हार का कारण बनते नजर आए है।
दमोह में अंतिम राउंड तक कांटे के मुकाबले में जीते राहुल-

दमोह विधानसभा क्षेत्र से लगातार नौवा चुनाव लड़ रहे मध्य प्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया को अपनी सीट बचाने के लिए आखिरी राउंड तक कड़े संघर्ष का सामना करना पड़ा। कांग्रेस ने यहां से नए प्रत्याशी राहुल सिंह को टिकट देकर सभी को हैरान कर दिया था। वहीं राहुल सिंह ने कम समय में जोरदार प्रदर्शन करते हुए अपनी प्रभावी उपस्थिति दर्ज कराई है। पहले राउंड से बढ़त बनाने वाले राहुल सिंह को लगातार बढ़त मिलती रही वहीं बीच बीच में श्री मलैया को भी बढ़त मिलने की वजह से अंतिम मुकाबला 20 वे राउंड तक खिंचता चला गया। और मंत्री श्री मलैया को पर 879 वोट से हार झेलना पड़ी।
पथरिया में त्रिकोणीय मुकाबले में बसपा की रामबाई जीती-

पथरिया विधानसभा क्षेत्र में भाजपा बसपा और कांग्रेस के बागी प्रत्याशी के बीच जबरदस्त त्रिकोणीय मुकाबले के हालात ने कांग्रेस प्रत्याशी को चौथे स्थान पर छोड़ दिया है। यहां से भाजपा द्वारा पुराने प्रत्याशी विधायक लखन पटेल पर दांव लगाया गया था। जिस वजह से पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया दमोह तथा पथरिया से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर खड़े हो गए थे। दोनों ही जगह पर श्री कुसमरिया कोई खास असर नहीं छोड़ सके। लेकिन उन्होंने दोनों जगह से भाजपा को भी नहीं जीत ने दिया। इधर जिला पंचायत की उपाध्यक्ष रामबाई ने बसपा प्रत्याशी के तौर पर तथा जिला पंचायत सदस्य राव बृजेंद्र सिंह ने कांग्रेस के बागी प्रत्याशी के तौर पर भाजपा प्रत्याशी लखन पटेल को अंतिम राउंड तक कड़ी चुनौती देने में सफल रहे। और अंततः नजदीकी मुकाबले में बसपा प्रत्याशी रामबाई ने 2200 वोट से जीत दर्ज करने में सफल रही।
भाजपा ने कांग्रेस से जबेरा सीट छीनी धर्मेन्द्र की धमाकेदार जीत- 

जिले के जबेरा विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेसी विधायक प्रताप सिंह को भाजपा के नए प्रत्याशी धर्मेंद्र सिंह लोधी ने शुरूआती राउंड में पिछड़ने के बाद अंतिम राउंड में जोरदार बढ़त लेते हुए 3200 से अधिक वोटों से पछाड़ दिया है। जबेरा क्षेत्र से भाजपा तथा कांग्रेस दोनों को बागी प्रत्याशियों का सामना करना पड़ा था उसके बावजूद भाजपा के धर्मेंद्र सिंह ने कांग्रेस के प्रताप सिंह को  हराकर जीत हासिल की है। भाजपा के बागी प्रत्याशी राघवेंद्र ऋषि लोधी ने 20,000 से अधिक वोट हासिल किए हैं वहीं कांग्रेस के बागी प्रत्याशी आदित्य सालोमन ने भी 12,000 से अधिक वोट प्राप्त किए हैं। यहां पर सांसद प्रहलाद पटेल की प्रतिष्ठा दांव पर लगी थी। क्योंकि उन्होंने ही भाजपा के प्रदेश मंत्री राघवेंद्र सिंह की टिकट कटवा कर भाजपा के जिला महामंत्री धर्मेंद्र सिंह को प्रत्याशी घोषित कराया था धर्मेंद्र की जीत के साथ सांसद प्रहलाद पटेल का कद एक बार फिर बढ़ गया है।
हटा से भाजपा के पीएल तंतुवाय की रिकॉर्ड जीत-

 हटा क्षेत्र से करीब भाजपा ने अपनी दो बार की प्रत्याशी उमादेवी खटीक को बदल कर 2 माह पूर्व रिटायर हुए बैंक कर्मचारी पीएल तंतुवाय पर दाव लगाया था। जो उनकी साफ-सुथरी छवि के कारण सही निशाने पर बैठा। श्री तंतुवाय ने कांग्रेस के हरिशंकर चौधरी को 19 हजार से अधिक वोटों से पराजित करके धमाकेदार जीत दर्ज की है। यहां से कांग्रेस के बागी प्रत्याशी प्रदीप खटीक तीसरे नंबर पर रहे। अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments