Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

राहुल के नामांकन को लेकर सस्पेंस समाप्त.. चुनाव मैदान में भाजपा प्रत्याशी जयंत मलैया से करेंगे मुकाबला..

16 बिंदुओं पर लगाई थी नामांकन पर आपत्ति-
दमोह से कांग्रेस प्रत्याशी राहुल सिंह के खिलाफ भाजपा प्रत्याशी जयंत मलैया द्वारा नामांकन पत्र में त्रुटियों को लेकर लगाई गई 16 बिंदुओं की आपत्ति को भारी जद्दोजहद के बाद आखिरकार निरस्त कर दिया गया है। 
दमोह विधानसभा से  भाजपा के प्रत्याशी  जयंत मलैया के अधिवक्ता द्वारा  कल नामांकन पत्रों की जांच के दौरान  कांग्रेस प्रत्याशी  राहुल सिंह के  नामांकन पत्र में  16 बिंदुओं पर त्रुटियों को लेकर आपत्ति दर्ज कराई गई थी। जिसके बाद राहुल सिंह को रिटर्निंग ऑफीसर ने मंगलवार 11 बजे तक अपना जवाब प्रस्तुत करने को कहा था।

मंगलवार को नियत समय पर राहुल सिंह कांग्रेस समर्थक अधिवक्ताओं के साथ तहसील कार्यालय मैं  रिटर्निंग ऑफीसर के समक्ष अपना जवाब पेश किया जिस पर 2 बजे सुनवाई होने की जानकारी रिटर्निंग ऑफीसर द्वारा दी गई। यहाँ राहुल सिंह ने मीडिया से चर्चा के दौरान भाजपा प्रत्याशी जयंत मलैया पर पिछले दो चुनाव टेबल से जीतने के आरोप लगाए। तथा मैदान में मुकाबला करने की चुनौती दी।
दमोह को हिंडोरिया बनाना है हिंडोरिया को दमोह ?

इधर कांग्रेस प्रत्याशी द्वारा भाजपा उम्मीदवार पर लगातार आक्रमक तरीके से लगाए जा रहे आरोपों का जवाब मंत्री पुत्र भाजपा के युवा तुर्क सिद्धार्थ मलैया ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान दिया। उन्होंने भाजपा द्वारा कराए गए विकास कार्यों को लेकर कांग्रेस प्रत्याशी को चुनाव मुकाबले की चुनौती देते हुए उनका नामांकन स्वीकृत होने की शुभकामना भी दी। तथा हिंडोरिया के हालात पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जनता हिंडोरिया को दमोह बनाना चाहेगी ना कि दमोह को हिंडोरिया।
तहसील परिसर में शाम 5 बजे तक गहमागहमी-
कांग्रेस प्रत्याशी द्वारा भाजपा की आपत्तियों पर दिए गए जवाब पर दोपहर 2 बजे से सुनवाई शुरू हुई बताया जा रहा है कि जबलपुर के वरिष्ठ अधिवक्ता और कांग्रेस नेता राज्यसभा सदस्य विवेक तंखा के माध्यम से तैयार विस्तृत जवाब रिटर्निंग ऑफीसर को सोपा गया था। जिस पर भाजपा प्रत्याशी के अधिवक्ता केे तर्क सुने गए।फिर कांग्रेश प्रत्याशी के अधिवक्ता के तर्कों को भी सुना गया।

इस इस दौरान गहमागहमी भरे माहौल में कांग्रेस समर्थक वकीलो के अलावा भाजपा नेत्री मंत्री मलैया की धर्मपत्नी सुधा मलैया भी भाजपा के साथ सक्रिय बनी रही। गहमा गहमी भरे माहौल में शाम के 5 बजने को थे। तहसील कार्यालय परिसर में बड़ी संख्या में अधिवक्ताओं पत्रकारों सहित दोनों दलों के नेताओं कार्यकर्ताओं की भी निर्णय जानने के लिए लगी हुई थी।

और अंत में हुआ वहीं जिसका कांग्रेसी खेमे में बेकरारी के साथ इंतजार था। और भाजपा के लिए या निराशा का समाचार था। रिटर्निंग ऑफीसर रविंद्र चोकसे द्वारा पूरे मामले की समीक्षा के बाद कांग्रेस प्रत्याशी राहुल सिंह के नामांकन को मान्य घोषित कर दिया गया। और इसी के साथ कांग्रेस खेमे में जश्न का माहौल बनता नजर आया।
कांग्रेसियों का उत्साह टेस्ट परीक्षा पास कर लेने जैसा था। क्यों की असली परीक्षा तो 28 नवंबर को मतदाताओं के समक्ष होना है। अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट

Post a comment

0 Comments