Ticker

6/recent/ticker-posts
1 / 1

बुंदेली बोली में करनी भरनी और बघेली लोकनाटय छाहुर की प्रस्तुति ने गुदगुदाया, लोक नाटयं समारोह का मंत्री मलैया ने किया शुभारंभ

मंत्री श्रीमलैया ने लोक नाटय समारोह का शुभारंभ किया


दमोह। जिनके कारण यह मंच चल रहा है, और लगातार गतिविधियां यहां पर चलती रहती हैं, आज से तीन दिवस के लिये लोक नाट पर एकाग्र समारोह पहचान से शुभारंभ हो रहा है। इस आशय के उद्गार प्रदेश के वित्त, वाणिज्यिक कर मंत्री जयंत कुमार मलैया ने आज शाम स्थानीय मानस भवन में जिला प्रशासन एवं युवा नाटय मंच दमोह के सहयोग से आयोजित आदिवासी लोक कला एवं बोली विकास अकादमी भोपाल द्वारा आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटैल, कोआपरेटिव्ह बैंक अध्यक्ष राजेन्द्र गुरू खासतौर पर मौजूद थे।

 उन्होंने कहा आज करनी भरनी बुंदेली भाषा में और दूसरा कार्यक्रम छाहुर बघेली भाषा में कार्यक्रम होगा और इसी तरह अलग-अलग भाषाओं में मंचन होगा, हमारे विभाग के अतिथि कलाकार आये हैं, निश्चित तौर से आपका भरपूर मनोरंजन करेंगे। उन्होंने आये हुये कलाकारों का स्वागत किया। इस मौके पर सागर से आये कलाकरों बुंदेली शैली में नाटक प्रस्तुत किया और दूसरी प्रस्तुति सीधी के कलाकारों ने बघेली बोली में नाटक छाहुर प्रस्तुत किया, कार्यक्रमों की भरपूर सराहना की गई।

 कार्यक्रम का शुभारंभ मॉ सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर किया गया। कार्यक्रम का संचालन राजीव अयाची ने किया।इस मौके पर विवेक शेण्डेय, गोपाल पटैल, डॉ. संजय त्रिवेदी, सांसद प्रतिनिधि राजकुमार सिंह, डॉ आलोक सोनवलकर, अनिल खरे, संजय खरे, प्रेमलता नीलम, अमृता जैन, प्रियंका असाटी, वरिष्ठ पत्रकार ठाकुर नारायण सिह, शीलचंद जैन, लक्ष्मी अग्रवाल, बृजेन्द्र राठौर, जे.पी. असाटी सहित  नगर के जनप्रतिनिधिगण, गणमान्य नागरिक  तथा कलाप्रेमी जन मौजूद थे।

आज होगे ये कार्यक्रम जिला प्रशासन एवं युवा नाटय मंच दमोह के सहयोग से आयोजित आदिवासी लोक कला एवं बोली विकास अकादमी भोपाल द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आज 28 सितम्बर को नैना नचैया बुंदेली बोली में तथा कुन्ती के परिताप छत्तीसगढ़ी नाचा लोकशैली में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। इसी प्रकार अंतिम 29 सितम्बर को चिरकुमारी बघेली बोली में तथा बतनों पक्को चोर निमाड़ी गम्मत शैली में सांस्कृति कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा।

Post a comment

0 Comments