Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

दुष्कर्मियों के द्वारा किये गये अमानवीय कृत्य के विरोध में.. छात्र क्रांति दल के नेतृत्व में सर्वसमाज ने फूँका दुष्कर्मियों का पुतला.. मुख्यमंत्री के नाम सौंपा अतिरिक्त कलेक्टर को ज्ञापन.. बलात्कार घटनाओं के विरोध में कुर्मी समाज ने भी ज्ञापन सौंपा..

 सर्वसमाज संगठनों ने फूँका दुष्कर्मियों का पुतला..
दमोह देश प्रदेश में में निरंतर दुष्कर्म की घटनायें चरम पर है। इसका मुख्य कारण है कि अपराधियों को तत्काल कठोर एवं फाँसी की सजा न देना। आज छात्र क्रांति दल एवं छात्र सर्व कल्याण समिति जिला दमोह के संयोजक कृष्णा पटेल के नेतृत्व में सर्व हिंदू समाज एवं विभिन्न सामाजिक एवं राजनीतिक संगठनों के पदाधिकारियों की उपस्थिति में बलात्कारी अरुण मिश्रा, मंगल लोधी एवं शाहरुख खान का पुतला दहन किया गया। सैकड़ों की संख्या में उपस्थित युवाओं द्वारा अंबेडकर चौक से हृदय स्थल घंटाघर तक रैली निकालकर विरोध प्रदर्शन करते हुये पुतला दहन किया गया। 

 कार्यक्रम संयोजक कृष्णा पटैल ने बताया कि बीते दिनों दमोह लोकसभा क्षेत्र के बंडा में 13 वर्षीय मासूम बच्ची के साथ अरुण मिश्रा नामक अपराधी द्वारा दुष्कर्म किया है हम सभी दमोह जिले वासी इसकी घोर निंदा करते हैं साथ ही मुख्यमंत्री से मांग करते हैं कि ऐसे बलात्कारियों को
सीधे फांसी के फंदे पर लटकाया जाए साथ ही प्रदेश में बढ़ रहे धार्मिक उन्माद को रोकना अतिआवश्यक है हमें हमारे प्रदेश को अपराध मुक्त प्रदेश बनाना है तो इस प्रकार के अपराधियों पर नकेल कसना शीघ्र अति आवश्यक है हमारे हिंदू समाज में संत महात्मा हमें सही राह दिखाने का कार्य करते हैं परंतु कुछ दिनों से कुछ राजनीतिक व्यक्तियों द्वारा हमारे संत समाज पर अभद्र टिप्पणी कर प्रदेश का धार्मिक माहौल खराब करने का कार्य किया जा रहा है जो अत्यंत निंदनीय है इसकी रोकथाम करना अति आवश्यक है। आशा करते हैं कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शीघ्र इस ओर गंभीरतापूर्वक ध्यान देगें।

हिंदू युवा वाहिनी के जिला संयोजक एवं पार्षद विक्रांत गुप्ता ने अपना विरोध व्यक्त करते हुए कहा कि अपराधी की कोई जाति नहीं होती है अपराधी केवल और केवल अपराधी होता है चाहे वह किसी भी जाति या धर्म का हो। आज हम सभी किसी जाति का नहीं बल्कि उन बलात्कारियों का पुतला दहन करने आये हैं जिन्होंने हमारी बहन, बेटियों के साथ दुष्कर्म करने का कार्य किया है। साथ ही सरकार से आग्रह करना चाहते हैं कि ऐसे कठोर कानून बनाए जाएं ताकि अपराधी इस प्रकार के कृत्य करना सपने में भी ना सोच सके दुष्कर्म करने वाले आरोपियों पर अपराध सिद्ध होने पर बीच चौराहे पर फांसी के फंदे पर लटका देना चाहिए। परंतु दुर्भाग्य की बात है कि हमारे जिले और प्रदेश में बलात्कार जैसी अत्यंत दुखद घटना पर भी कुछ लोग अपनी राजनैतिक रोटियां सेकने का काम कर रहे हैं। हमारी सरकार से मांग है कि अपराधियों को केवल और केवल फांसी की सजा सुनाई जाए। 

 सर्व ब्राह्मण समाज के प्रतिनिधि मनोज देवलिया ने कहा कि हम सभी लोगों ने मिलकर आज बलात्कारियों का पुतला दहन कर प्रदेश सरकार तक यह बात पहुंचाने का प्रयास किया है कि बलात्कारियों को छरू महीने के भीतर फांसी के फंदे पर लटका दिया जाए साथ ही उन लोगों को चेतावनी देना चाहता हूं जो धर्म और जाति के नाम पर आतंक फैलाने का काम कर रहे हैं यदि आप अपनी समाज के इतने ही सच्चे सेवक हैं तो अपनी जाति वर्ग के गरीब और असहाय लोगों की मदद करने का साहस दिखाएं और जिले और प्रदेश का माहौल खराब करने का प्रयास ना करें।

 
 विरोध प्रदर्षन के दौरान पवन रजक, कृष्णा तिवारी, अम्बर मिश्रा, नित्या प्यासी, श्रवण पाठक, राम मिश्रा, उमेष महाराज, राजेष पटैल, रजत जैन, आषीष शर्मा, रामेष्वर पटैल, तुलसीराम तिवारी, हरि रजक, मयंक तोमर, अखिलेष ठाकुर, नीलेष चौरसिया, निक्की सेन, द्वारका पटैल, सोनू पटैल, महेन्द्र राठौर, दयाराम पटैल, छात्र क्रांति दल की ओर से केषव कुर्मी, रोहित जैन, नरेन्द्र पटैल, अभिषेक चौहान, समीर जैन, बृजकिषोर पटैल, उदित कुर्मी, संदीप कुर्मी, रामकृष्ण पटैल, अरविंद पटैल, रामकृष्ण यादव, चंद्रपाल परिहार, संदीप विष्वकर्मा, अमित पटैल, आषीष पटैल, अर्पित साहू, प्रकाष पटैल, अमित कटारया, प्रषांत विष्वकर्मा, सौरभ सोनी, लोकेष रोहितास सहित सैकड़ों की संख्या में विभिन्न धार्मिक, सामाजिक एवं राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि एवं कार्यकताओं की उपस्थिति रही।

पुतला दहन के उपरांत सभी युवाओं द्वारा कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुँचकर अतिरिक्त कलेक्टर नाथूराम गौड़ को प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम 2 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा गया जिसमें उल्लेखित किया गया है कि बलात्कारियों को सीधे फांसी की सजा दी जाए एवं बीते दिनों बंडा में हुई दुष्कर्म की घटना के बाद प्रदेश में निरंतर बढ़ रहे धार्मिक उन्माद एवं हिंदू धर्म के साधु-संतों पर हो रही अभद्र टिप्पणियों को तत्काल रोका जाए, ताकि प्रदेश में धार्मिक माहौल खराब ना हो।

  बलात्कार घटनाओं के विरोध में कुर्मी समाज ने ज्ञापन सौंपा

दमोह। विषयांतर्गत निवेदन है, कि बीते कुछ दिन पहले प्रदेश के अलग-अलग जिलों में महिलाओं के साथ दुष्कर्म के अपराध घटित हुए हैं। संबंधित अपराधियों पर कोई कार्यवाही नहीं हुई या हुई तो नाम मात्र की हुई, जिसको लेकर समस्त कुर्मी समाज निम्नलिखित तीन मांगों पर अतिशीध कार्यवाही करने की मांग करता है।  ग्राम खजराभेड़ा, तहसील बण्डा, जिला सागर में अरुण मिश्रा के द्वारा नाबालिग 13 वर्ष के बालिका के साथ बलात्कार किया गया। उस अबोध बालिका के साथ अरूण मिश्रा ने जो घटना घटित की है उसके एवज में आरोपी के मकान पर बुलडोजर चलाया जाए और जल्द से जल्द से उसे फांसी की सजा हो। 

 छतरपुर जिले में दुष्कर्म के आरोपी लवलेश तिवारी की जमानत रद्द की जाए क्योंकि लवलेश तिवारी को जमानत पर छोड़ा गया है और उसके बाद उसका फूल मालाओं से स्वागत किया गया जिसका संपूर्ण कुर्मी समाज विरोध करती है और घोर निंदा करती है। संबंधित जमानतकर्ता पर कठोर कार्यवाही की जाए अन्यथा वह घटनाक्रम को प्रभावित कर सकता है। झारखण्ड की बेटी अंकिता सिंह को जिंदा जलाने वाले शाहरूख को फांसी की सजा हो और मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में लाकर संबंधित अपराधियों पर कठोर कार्यवाही की जाए।  टीकमगढ़ जिले के जतारा में रोहित शुक्ला कथावाचक द्वारा एक कुशवाहा समाज की महिला के साथ बलात्कार किया गया जो कि अति निंदनीय है। जिसको संज्ञान में लेते हुए उचित कार्यवाही की जाए जिससे भविष्य में ऐसी घटनायें पुनः दुहराया न जाए।  

ज्ञापन के दौरान प्रमुख रुप से कुर्मी क्षत्रिय समाज प्रदेश उपाध्यक्ष डीपी पटेल, जिला अध्यक्ष राजेंद्र पटेल पूर्व जिला अध्यक्ष शिवचरण पटेल, युवा राजेंद्र कृष्ण कुसमरिया बाला पटेल युवा टीम से रामेश्वर पटेल दयाराम पटेल विक्की पटेल जितेंद्र पटेल नरेंद्र पटेल करण पटेल केशव प्रसाद कुर्मी अमित पटेल आशीष पटेल बृज मोहन पटेल महेंद्र पटेल विनोद पटेल श्याम पटेल सहित बड़ी संख्या में कुर्मी क्षत्रिय समाज के सजातीय बंधुओं की उपस्थिति रही। 

Post a Comment

0 Comments