Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

दबंग विधायक के क्षेत्र में सड़क पुलिया बहने के बाद नेता अधिकारी ठेकेदार नहीं दे रहे थे ध्यान.. गुस्साए ग्रामीणों ने किया गजब काम.. बंदूक की गोली पैर के आर पार निकलने से युवक जबलपुर रैफर.. इधर फ्रिज में रखे जूस व सूप के शौकीन अजगर के बच्चे को रेस्क्यू कर जंगल में छुड़वाया..

 जहां चाह वहां राह.. ग्रामीणों ने किया गजब काम..

दमोह जिले के पथरिया विधानसभा अंतर्गत बटियागढ़ क्षेत्र में सुनार नदी में आई बाढ़ से ग्रामीण सड़कों को काफी नुकसान पहुंचा है। यहां तक की कुछ सड़कों पर तो वाहनों की आवाजाही भी महीने भर से ठप पड़ी हुई है। ऐसी ही एक सड़क को आवागमन लायक बनाने जब नेताओं अधिकारियों और ठेकेदार ने ध्यान नहीं दिया तो ग्रामीणों ने स्वयं हिम्मते मर्दे मददे खुदा की कहावत को चरितार्थ कर दिखाया..

यह तस्वीरे जिला मुख्यालय से करीब 25 किमी दूर
बटियागढ़ तहसील के चैनपुरा से निबोरा मार्ग पर मढ़िया गांव के पास की है। पिछले महिने यहा पर सुनार नदी में बाढ़ आने से सड़क सहित रिपटा बह गया था लेकिन जब शासन-प्रशासन, जनप्रतिनिधि एवं निर्माण करने वाले ठेकेदार के द्वारा जब सुधार हेतु कोई कदम नहीं उठाया गया तो मजबूरी बस ग्रामीणों ने मोर्चा संभालते हुए आगे आकर आने जाने के लिए रास्ता बनाने साथी हाथ बढ़ाना की तर्ज पर मुहिम प्रारंभ की।

सड़क बह जाने के साथ पुलिया पर ही गए बहुत बड़े गहरे गड्ढे को सब ने मिलकर कुछ ही घंटों में भर दिया। गांव के संपन्न लोगों ने जहां अपनी ट्रैक्टर ट्राली उपलब्ध कराई वही वर्ग के गरीब लोगों ने श्रमदान करके सड़क को आवागमन लाइक करके शासन के लाखों के मेंटेनेंस की बचत करा दी। यहां की सड़क की हालत देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि ठेकेदार में किस तरह के घटिया निर्माण कार्य किया था की पुलिया की स्लिप में सरिया तक नहीं डाले गए थे शायद यही वजह रही कि जरा से बाढ़ के पानी में पुलिया बह गई.. आकाश सेन की रिपोर्ट

बंदूक साफ करते समय चली गोली पैर के आरपार निकली 
 दमोह। नोहटा थाना क्षेत्र में बंदूक की गोली चलने के साथ युवक की जांघ के आर-पार निकल जाने तो सनसनीखेज घटनाक्रम सामने आ रहा जिला अस्पताल में भर्ती कराए गए घायल को प्राथमिक उपचार के बाद जबलपुर रेफर कर दिया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार घायल भीकम सिंह लोधी घुटकुआ निवासी ने बताया की वह 12 बोर की लायसेंसी बंदूक घर में साफ कर रहा था इस दौरान उसे पता नहीं था कि बन्दूक की नाल में पहले से कारतूस फसा हुआ है। जिससे नाल साफ करने के दौरान धोखे में गोली चलने से पैर में लगाने की बात कही जा रही है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है वहीं घायल को जबलपुर रेफर कर दिया गया है। 
सूप का शौकीन अजगर को फ्रिज से निकलने रेस्क्यू
दमोह जिले के मडियादो थाना अंतर्गत बफर जोन में जंगली जीव जंतुओं के साथ अजगर सांपों की कमी नहीं है। शिकार निगलने के बाद इन सांपों के जहां तहां पड़े रहने की वजह से इनको अजगर कहा जाता है वही अब अजगर के बच्चे के फ्रिज में पड़े रहने का मामला सामने आया है।

 फ्रिज में अजगर के बच्चे के होने की जानकारी लगने पर जहा हड़कंप के हालात बनते देर नही लगी वही रेस्क्यू करके अजगर को बोरी में बंद कर के जंगल में छुड़वा देने के बाद भी लोगों ने राहत की सांस ली। बताया जा रहा है कि ठंडक की वजह से अजगर के बच्चे को फ्रिज का माहौल रास आ रहा था वहीं यह अजगर दूध की बजाए जूस तथा सुप का भी शौकीन बताया जा रहा है।

Post a Comment

0 Comments