Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

दमोह कटनी रोड पर नींद के झोंके में रफ्तार का कहर.. सागर से मैहर जा रही चौरसिया परिवार की बोलेरो खाई में गिरकर पलटी.. एक की मौत, अनेक घायल.. इधर पंचम नगर डैम के गेट खुलने के बाद.. नदी में डूबे ट्रेक्टर थ्रेसर को निकालने ग्रामीणों ने दूसरे ट्रेक्टर से किया रेस्क्यू..

 बोलेरो गाड़ी खाई में गिरी एक की मौत, अनेक घायल

दमोह। कटनी रोड पर एक बार फिर रफ्तार का कहर देखने को मिला है। सागर से मैहर जा रही एक बोलेरो गाड़ी अनियंत्रित होने के बाद खाई में गिर कर पलट गई जिसस एक व्यक्ति की मौत हो गई वह अनेक लोग घायल हो गए जिन को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सागर से चौरसिया परिवार के लोग नवरात्रि की पूर्व बेला में बोलेरो गाड़ी से मां शारदा के दर्शन करने मैहर जा रहे थे। दमोह कटनी रोड पर हिंडोरिया थाना क्षेत्र अंतर्गत बंडी की टेक पर  बोलेरो अनियंत्रित होकर खाई में जाकर पलट गई। हादसे के बाद अफरा-तफरी भरे हालात में करीब आधा दर्जन घायलों को जिला अस्पताल लाया गया जहां सागर निवासी राजेंद्र चौरसिया को मृत घोषित कर दिया गया। जबकि घायलो में चालक लक्ष्मण सेन, तारा चौरसिया, विशाखा चौरसिया, कुसमरानी चौरसिया, दीपेश चौरसिया, कृष्णा चौरसिया, क्रांति चौरसिया आदि का इलाज जारी है। पुलिस घटना की जांच कर रही है वही हादसे की वजह चालक की लापरवाही बताई जा रही है।

नदी में डूबे ट्रेक्टर को निकालने दूसरे ट्रेक्टर से रेस्क्यू

 दमोह। बुंदेलखंड में कहावत है कि भाई ही आखिर में भाई के काम आता है। इस कहावत को अक्सर बिगड़ जाने वाले वाहन को टोचन करके या खिंच कर दूसरे वाहन चरितार्थ करते नजर आते है। नदी में अचानक बाढ़ आ जाने पर डूब गए एक ट्रैक्टर को निकालने के मामले में भी अब यह कहावत सही साबित होती नजर आई है।
दरअसल पथरिया क्षेत्र के लड़ाई बम्होरी निवासी अरविंद सिंह लोधी कल शाम पीपर खिरिया में खेत पर थ्रेसिंग करके ट्रेक्टर थ्रेसर लेकर वापिस अपने घर लौट रहे थे। रात करीब 8 बजे जब वह ट्रेक्टर के साथ नदी को पार कर रहे थे तभी उनका ट्रैक्टर नदी के बीच मे बन्द होकर फस गया। जिसे निकालने वह काफी देर प्रयास करते रहे। 


इसी दौरान पंचम नगर बांध के गेट खुल जाने की वजह से अचानक नदी जलस्तर बढ़ गया। जिससे किसान अरविंदर सिंह का ट्रैक्टर थ्रेसर सहित डूब गया। किसान ने तो जैसे तैसे अपनी जान बचा ली लेकिन ट्रेक्टर नदी में डूब गया। आज शुक्रवार को नदी का पानी कम होने के बाद ट्रेक्टर को निकालने प्रयास शुरु किये गए। लेकिन वह टस से मस नही हुआ। बाद में ग्रामीणों ने दूसरे ट्रेक्टर की मदद से रेस्क्यू करते हुए दोपहर में पानी मे डूबे ट्रेक्टर के साथ थ्रेसर को भी नदी से बाहर निकालने में सफलता हासिल कर ही ली। इस दौरान बड़ी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ तमाशाई बनी रही। वही नदी से ट्रेक्टर बाहर निकल आने पर लोग ट्रेक्टर ही ट्रेक्टर के काम आता है की बात करते नजर आए।

Post a Comment

0 Comments