Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

आचार्य श्री के दर्शन करने पहुंचे रावतपुरा सरकार.. चोपरा में ज्ञान कल्याणक परशांतिनाथ जी की पाषाण प्रतिमा का महा मस्तकाभिषेक..आज गजरथ फेरी से संपंन होगा चोपरा पंचकल्याणक

 आज गजरथ फेरी से संपंन होगा चोपरा पंचकल्याणक 

सागर जिले के रहली में श्री श्री रावतपुरा सरकार का आगमन हुआ। रावतपुरा सरकार रहली में स्थित सिद्ध क्षेत्र टिकीटोरिया पहुंचे जहां पर अंबे मां के दर्शन किए एवं पूजन किया। इसके बाद पटनागंज पहुंचे। जहां पर विराजमान आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज के दर्शन किए उनको श्रीफल भेंट किया..

 संत रावत पुरा सरकार ने आचार्यश्री के साथ धार्मिक चर्चा की और आशीर्वाद लिया। इसके बाद रावतपुरा सरकार खाकी बाबा में चल रहे शिव भगवान के अभिषेक में पहुंचे। वहां पर उन्होंने पूजन अर्चन किया और इसके बाद वह वापस रावतपुरा धाम की ओर निकल गए। उन्होंने क्षेत्र की खुशहाली के लिए प्रार्थना की ।
भगवान शांतिनाथ पाषाण प्रतिमा का महा मस्तकाभिषेक
दमोह। जबेरा तहसील के ग्राम चौपरा चौबीसा में आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के परम धर्म प्रभावक शिष्य पूज्य मुनि श्री प्रबुध्दसागर जी महाराज के पावन सानिध्य में श्री जिनबिम्ब पंचकल्याणक एवं विश्व शांति महायज्ञ 21 से  चल रहा है। 26 फरवरी को गजरथ फेरी से उत्सव का समापन होगा। इसके पूर्व पंचकल्याणक के पांचवे दिन ज्ञान कल्याणक के दिन विविध मांगलिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। जिसमें अति प्राचीन  खड़गासन तीर्थंकर  भगवान शांतिनाथ मस्तकाभिषेक कार्यक्रम पूज्य मुनि श्री प्रबुद्ध सागर जी महाराज के सानिध्य में संपन्न हुआ। पूज्य मुनि श्री द्वारा बी अक्षरो मंत्रों के द्वारा शांति धारा का वाचन किया गया।

shantinath

जिसमें चोपरा, जबेरा,नोहटा, दमोह सहित आसपास के ग्रामों के सैकड़ों लोग साक्षी बने। श्रद्धालुओं ने चोपरा पहुंचकर ज्ञान कल्याणक के दिन भगवान शांतिनाथ के महा मस्तकाभिषेक  कर धर्म लाभ अर्जित किया। पंचकल्याणक एवं गजरथ महोत्सव समिति के अध्यक्ष कमल सिंघई ने बताया कि पूज्य मुनि श्री के सानिध्य में आयोजित इस पंचकल्याणक एवं गजरथ महोत्सव में विविध कार्यक्रमों का आयोजन लगातार किया जा रहा है आज कई वर्षों बाद अति प्राचीन जिनालय में विराजमान भगवान शांतिनाथ की 16 फुट सर्गासन पाषाण की प्रतिमा का महा मस्तकाभिषेक भी पूज्य मुनि श्री के सानिध्य में संपन्न हुआ।
चोपरा पंच कल्याणक में भव्य समवयरण की रचना..
दमोह। जबेरा जनपद के चोपरा चौबीसा में चल रहे 1008श्री मज्जिनेंद्र मानस्तम्भ जिनबिंब पंचकल्याणक एवम प्राण प्रतिष्ठा महामहोत्सव के पांचवे दिन ज्ञान कल्याणक की क्रियाएं संपन्न हुई। आचार्य श्री विद्यासागर जी के आशीर्वाद एवं मुनि श्री प्रबुद्ध सागर जी के सानिध्य में प्रतिष्ठाचार्य  ब्रम्ह.सुमत भैया भोपाल एवं प्रतिष्ठा वाचस्पति डॉ. अभिषेक जैन शिक्षाचार्य सगरा के निर्देशन में सोमवार को वर्तमान चौबीसी के चौबीसों तीर्थंकर एवं जैन धर्म के संस्थापक श्री आदिनाथ भगवान का ज्ञान कल्याणक बड़े हर्षोल्लास के साथ संपादित हुआ।

smosaran

प्रातः काल जिनेन्द्र प्रभु का अभिषेक, शांतिधारा तदुपरांत नित्य मह पूजन के बाद तप कल्याणक की पूजा संपन्न हुई। पूज्य मुनि श्री की दिव्य देशना के बाद शांति विसर्जन हुआ। दोपहर में 12 बजे से मूलनायक शांति नाथ का 1008 कलशो से अभिषेक संपन्न हुआ। महामुनि वृषभ नाथ की आहार चर्या हस्तिनापुर राजा श्रेयांस  राजीव जैन श्रीमती दिव्या जैन युवराज राकेश मनीषा जैन के राजमहल में प्रथम इक्षु रस से पारणा हुई ।

parna

दोपहर में ज्ञानकल्याणक की क्रियाएं संपन्न हुई और केवलज्ञानी भगवन का 12 योजन का समवरण सौधर्म इंद्र की आज्ञा से कुबेर ने निर्माण किया। जिस पर गणधर के रूप में पूज्य मुनि श्री की दिव्य देशना हुई। श्रावक श्रेष्ठियो ने प्रश्न कर  समाधान प्राप्त किए। मंच का उद्घाटन प्रशांत जैन जबलपुर परिवार ने किया। इसके पूर्व रात्रिकाल में भरत बाहुबली का अहिंसा युद्ध संपन्न हुआ। निस्वार्थ सामाजिक संगठन प्रमुख सचिन मोदी ने बताया कि मंगलवार को मोक्ष कल्याणक संपन्न होगा। दोपहर 3.30 से गजरथ फेरी होगी । आज के कार्यक्रम में तेंदूखेड़ा गौशाला अध्यक्ष संजय जैन राकेश जैन मंडला जयकुमार जैन गुड्डा भैया घटेरा मिट्ठू सिंघई जबेरा सेलू जैन करणपुरा प्रशांत जैन साहिल जैन बघवार एवं जबलपुर नरसिंहपुर खुरई सागर रेपुरा मंडला से भी सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments