Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

कुंडलपुर में आचार्यश्री के सानिध्य में घट यात्रा, ध्वजारोहण.. मुख्यमंत्री एवं केंद्रीय मंत्री ने VC के माध्यम से आयोजन की समीक्षा की..पंच कल्याणक की बेला में 1008 कलशों से घटयात्रा..

 विश्व प्रसिद्ध जैन तीर्थ स्थल कुंडलपुर में बड़े बाबा मंदिर निर्माण अवसर पर आचार्य भगवन विद्यासागर जी महाराज के विशाल संघ के सानिध्य में 16 फरवरी से पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव का आयोजन होने जा रहा है जिसकी पूर्व बेला में 14 फरवरी को धूमधाम के साथ विशाल कलश यात्रा निकाली गई। जिसमें 1008 कलशों के साथ महिलाएं शामिल हुई। धूमधाम के साथ कलश यात्रा कार्यक्रम स्थल पर पहुंची जहां पर राजस्थान के पाटनी परिवार ने प्रथम ध्वजारोहण करने का सौभाग्य प्राप्त किया। इस अवसर पर आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज का संघ सहित सानिध्य में प्राप्त हुआ। 15 फरवरी को शक्ली करण की क्रिया है कार्यक्रम स्थल पर संपन्न होंगी उसके बाद 16 फरवरी से पंचकल्याणक प्रारंभ हो जाएंगा..


कुण्डलपुर महामहोत्सव के शुभांरभ के अवसर पर सुबह आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज ने दिव्य देशना में कहा कि ध्वजा रोहण के माध्यम से प्रारंभ होने जा रहा है इस सदी का सबसे बड़ा आयोजन जो अपने आप में एक महत्वपूर्ण वस्तु है, दूर दूर से व्यक्ति भी समोशरण की ओर आकृष्ट हो रहा है। ध्वाजारोहण देखने में तब आनंद आता है जब वह लहराता है, पर जिस माध्यम से यह लहराता है वह हमे दिखाई नही देती, उसके लिए पवन की अवश्यकता होती हैं उसी तरह हम बाहरी स्वरूप देख लेते हैं, वेशभूषा देख लेते हैं किंतु भीतर से रत्नात्रय हैं ,तो हम हवा का काम कर जाते है और यदि बाहर से दिगम्बरत्व हैं तो जीवन में चार चांद लग जाते है। ध्याजारोहण के साथ कार्यक्रम का मंगलाचरण होगा। आज आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज को नवधा भक्ति भाव से पड़गाहन करके आहार देने का सौभाग्य दमोह निवासी संतोष ईलेक्टिकल के परिजनों को प्राप्त हुआ।

पंच कल्याणक की पूर्व बेला में 1008 कलशों से दोपहर में प्रारंभ हुई घटयात्रा में महिला मंडल, आदिनाथ बालिका मंडल हजारों महिलाओं और बालिकाओं के समूह शामिल हुए। इस दौरान कार्यक्रम स्थल की ओर विहार कर रहे आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के विशाल संघ का सानिध्य भी सभी को प्राप्त हुआ। रथों पर महोत्सव के महापात्र परिवार के साथ बैठे हुए सभी को अभिनंदन कर रहे थे। धूमधाम के साथ अलग छटा विखरते नजर आई घट यात्रा में अश्व सवार एवं पगड़ी धारी श्रावकों के अलावा पटेरा, हटा, दमोह, गौरझामर, गंजबासौदा के दिव्य घोष आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के जन्म स्थल के निकट जिले कोल्हापुर, जयसिंगपुर से आए 400 सेवक अपनी उपस्थिति दर्ज कराते आकर्षण का केंद्र रहे।

राजस्थान के पाटनी परिवार ने किया प्रथम ध्वजारोहण..

 कलश यात्रा के कार्यक्रम स्थल पर पहुचने पर विधि पूर्वक ध्वजारोहण की क्रियाए आचार्यश्री के ससंघ सानिध्य में संपंन की गई। इस अवसर पर प्रथम ध्वजारोहण का सौभाग्य राजस्थान के रतन लाल जी, अशोक जी पटनी परिवार को प्राप्त हुआ।  ध्वाजारोहण के बाद आर्शीवाद वचन देते हुए गुरुदेव ने कहा कि कोई कार्य करना होता है तो कार्यकर्ताओ का संयोजन होना चाहिए, क्योंकि जब कभी विपरीत परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है तो कहा जाता हैं कि युद्ध स्तर पर काम किया जाता है, ध्वाजारोहण संपन्न होने से पवित्र वस्तुओं की संयोजना होती हैं उसे मंगलाचरण कहते है, आप लोगों को जितने गुणा आनंद आया उससे कई गुणा मुझे भी आनंद आया। अब पुण्य इतना इकठ्ठा कर लो कि कोई दूसरी वस्तु नहीं आ पाए, ध्यान रखें संस्कृति जब बड़े बाबा की है तो प्रकृति भी अपने आप अनुकूल वातावरण निर्मित कर रही हैं और जब प्रकृति साथ देगी तो संस्कृति दिन दूनी रात चौगुनी बढ़ती जाती है। पांच पापो का नाश करके पुण्य का अर्जन करके ही पंच परमेष्ठी की आराधना करते रहना चाहिए।

मुख्यमंत्री एवं केंद्रीय मंत्री ने वीसी से की समीक्षा..

shiv

कुंडलपुर महा महोत्सव में आ रहे श्रद्धालुओं के साथ पुलिस अधिकारी.कर्मचारी विनम्रए आदार के साथ व्यवहार करें। आयोजन सुव्यवस्थित हो, समिति भी इस दायित्व को संभाले, सुरक्षा एवं अनुशासन से ही कार्यक्रम की गरिमा रहेगी। इस आशय के निर्देश मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने ऑनलाइन व्हीसी के माध्यम से समीक्षा के दौरान दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कुण्डलपुर पंचकल्याण महोत्सव बिना किसी परेशानी के सम्पन्न हो प्रशासन पूरा सहयोग कर रहा हैं मंत्रीगण सहित जनप्रतिनिधि भी रूचि लेकर अपनी सहभागिता निभा रहे हैंए सब मिलजुलकर आयोजन को सपंन्न करेंगे।

prhlad

विदिशा से व्हीसी के माध्यम से केंद्रीय केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग एवं जलशक्ति राज्यमंत्री श्री प्रहलाद सिंह पटेल शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने कहा कल समिति एवं प्रशासन के साथ बैठक ली थी। उन्होंने अनिवार्य आवश्यक व्यवस्थाओं में चलित मोबाइल टॉयलेट की अधिक से अधिक उपलब्‍धता स्‍वच्‍छता की दृष्टि से परिसर में कचरा की प्रबंधन यातायात व्यवस्था जैसे ब्‍लैक डार्क स्पाट आदि व्यवस्‍थाओं पर अपनी बात रखी और सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। इस व्हीसी के माध्यम से सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम विभाग एवं विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा तथा दमोह एनआईसी में पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया, कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य, पुलिस अधीक्षक डी आर तेनीवार, अपर कलेक्टर नाथूराम गौड़, सांसद प्रतिनिधि नरेन्द्र बजाज, समिति सदस्य अजीत मोदी मौजूद रहे।


Post a Comment

0 Comments