Ticker

6/recent/ticker-posts
2 / 3

कुंडलपुर पंच कल्याणक प्रतिष्ठा महा महोत्सव.. तीर्थंकर बालक का 1008 कलशों से जन्माभिषेक..पूर्व CM कमलनाथ कुंडलपुर पहुचे.. लोकसभा अध्यक्ष एवं दो केंद्रीय मंत्री आज कुंडलपुर में..

 कुंडलपुर में बड़े बाबा मंदिर निर्माण अवसर पर आयोजित 11 दिवसीय महा आयोजन में देश विदेश के भक्तों की सहभागिता के साथ देश प्रदेश के अनेक राजनेताओं का आवागमन जारी है। 18 फरवरी को मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ कुंडलपुर पहुचे थे वहीं रात्रि में केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल यहां पहुचे। 19 फरवरी को लोकसभा अध्यक्ष श्री ओम बिड़ला तथा केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल कुंडलपुर पहुच रहे है।

 विश्व के प्रसिद्ध जैन तीर्थ क्षेत्र कुंडलपुर में बड़ेबाबा मंदिर निर्माण अवसर पर छोटे बाबा आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के विशाल संघ के सानिध्य में ग्यारह दिवसीस पंच कल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव का आयोजन 16 से 23 फरवरी तक मनाया जा रहा है।

पंच कल्याणक महोत्सव के तीसरे दिन प्रातः बेला में तीर्थकर बालक के जन्म की खुशियां मनाई गई। इस अवसर पर आचार्यश्री के शिष्य मुनिश्री प्रशस्त सागर जी महाराज ने प्रवचन में कहा कि तीर्थंकर भगवान के जन्म ने मानवता को आत्म कल्याण का मार्ग मिला है। उन्होंने कहा कि कल आचार्यश्री को लेकर कुछ लोगों ने भ्रम फैलाने का प्रयास किया। आचार्यश्री के लिये यह क्षण अत्यंत प्रसन्नता का है। बड़े बाबा के जैसे बडे मंदिर की कल्पना की गई थी, उससे भी विशाल व भव्य जिनालय बनकर तैयार हो गया है। 

 वहीं दोपहर में जन्माभिषेक कलश यात्रा धूमधाम के साथ निकाली गई। इस अवसर पर तीर्थंकर बालक को सौधर्म इंद्र ऐरावत हाथी पर लेकर सुमेरू पर्वत पहुचे जहां 1008 कलशों से जन्माभिषेक किया गया।  इस अवसर पर जन्माभिषेक शोभायात्रा में हजारों भक्त शामिल हुए वहीं पांडुक शिला पर अभिषेक का क्रम शाम तक चलता रहा। जलाभिषेक अवसर पर आचार्य श्री के शिष्य मुनि श्री अक्षत सागर जी महाराज ने पुण्य देशना में कहा कि तीर्थंकर को जन्म देनी वाली मां बहुत ही पुण्यशाली होती है। पंच कल्याणक के माध्यम से हमे जीव का ज्ञान होता है और आत्मा के कल्याण के लिए कार्य करना है, प्रत्येक जीव के प्रति आत्मीयता हो जाए तो कर्त्तव्यनिष्ठ भी हो सकता है।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को मिला छोटे बाबा का आर्शीवाद

शुक्रवार को कुंडलपुर पहुचे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बड़े बाबा के दर्शन करके छोटे बाबा आचार्यश्रभ् विद्यासागर जी महाराज का आर्शीवाद प्राप्त किया। इस दौरान कांग्रेस के अनेक नेताओं की उपथ्ज्ञिति रही। इधर कमलनाथ के आगमन पर कुंडलपुर में उनका आत्मीय स्वागत किया गया।

इस दौरान पूर्व मंत्री वरिष्ठ भाजपा नेता जयंत मैलया के बेटे सिद्धार्थ भी कमलनाथ की स्वागत व्यवस्था में सक्रिय नजर आए। जिसकों लेकर राजनैतिक चर्चाओं का बाजार भी सरगर्म रहा। उल्लेखनीय है कि दमोह उपचुनाव के बाद से सिद्धार्थ अपने कुछ साथियों के साथ भाजपा से निष्काषित चल रहे है।

Post a Comment

0 Comments